कछुआ के बारे में बच्चों को बताया

दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी संवाददाता। पुराना शहर स्थित ज्ञान ज्योति शिक्षण केेंद्र में जूनियर क्लास के नन्हें विद्यार्थियों को कछुओ के बारे में जानकारी दी गई। निदेशक डा. चंचल कुमार का कहना है कि बढ़ते हुए बच्चों को उनकी उम्र के हिसाब से जिज्ञासाओं को शांत किया जाना चाहिए और उनके तरह-तरह के सवालों का सटीक, समझने लायक तरीकों से जवाब दिया जाना चाहिए। ज्ञान ज्योति शिक्षण केेंद्र में विभिन्न जीव-जंतुओं के बारे में बच्चों को जानकारी देने का कार्यक्रम चलाया जाता है। ताकि बच्चे धरती पर जीव-जंतुओं से परिचित हो सके और इस बात का अहसास कर सकेें कि प्रकृति में सभी जीव-जंतुओं जीवन-चक्र एक-दूसरे से जुड़ा हुआ है। सभी जीव-जंतु जिस खाद्यश्रृंखला से जुड़े-गुथे हुए होते हैं, उसे पर्यावरण कहा जाता है। इस श्रृंखला की कोई भी कड़ी बाधित-खंडित होती है तो समूची श्रृंखल गड़बड़ा जाती है, जिसे पर्यावरण प्रदूषण या पर्यावरण संकट के रूप में जाना जाता है। जीव-जंतुओं से परिचय के क्रम में छोटे बच्चों को कछुआ के बारे में बताया गया। यह जानकारी दी गई कि जिस तरह अलग-अलग देशों के लोग अलग-अलग तरह के दिखते और व्यवहार करते हैं, वैसे ही समुद्र, नदी, झील के कछुए भी अलग-अलग तरह के होते हैं। बताया गया कि कछुआ धरती पर सबसे अधिक सालों तक जीने वाले प्राणियों में से एक है। ह भी बताया गया कि कछुआ जंगली जीवों में संरक्षित श्रेणी में रखा गया है। किसी भी संरक्षित जीव के जीवन में दखल देने का हक आदमी को नहीं है और यह अपराध भी है।

चंद्रवंशी राजनीतिक चेतना परिषद की बैठक

दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी संवाददाता। चंद्रवंशी राजनीतिक चेतना परिषद की ओर से पटना में आयोजित जरासंध जयन्ती के संपन्न होने पर चंद्रवंशी समाज के लोगों धन्यवाद दिया गया। चंद्रवंशी राजनीतिक चेतना परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमोद सिंह चंद्रवंशी, प्रदेश अध्यक्ष रामानंद चंद्रवंशी, प्रदेश प्रवक्ता अभय चंद्रवंशी, जिला संयोजक अनिल चंद्रवंशी, प्रखंड संयोजक सत्येन्द्र चंद्रवंशी, कमलेश चंद्रवंशी, ओबरा संयोजक अभय चंद्रवंशी, हसपुरा संयोजक सतीश चंद्रवंशी आदि ने इस आयोजन में लगे सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *