डेहरी-आन-सोन : सोन नद तट के रेलस्टेशन का विकास ए-श्रेणी के अनुरूप ही

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता।  पूर्व-मध्य रेल, हाजीपुर के महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी ने सोन नद पर बने एक साथ तीन लाइन वाले रेल अपर ब्रिज, इसके संपर्क रूट, संपन्न हो चुका रूटरिले इंटरलाकिंगकार्यका अवलोकन किया और नवनिर्मित सीटीआई आफिस, आरपीएफ पोस्ट, आगंतुक कक्ष का उद्घाटन किया। उन्होंने शहर के विभिन्न संगठन के प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि डेहरी-आन-सोन स्टेशन का विकास रेल जोन के ए-श्रेणी स्टेशन के अनुरूप ही किया जा रहा है। रेल प्रबंधन का प्रयास जारी है कि जल्द से जल्द यह स्टेशन अपने नए काया-कल्प में दिखे।
महाप्रबंधक ने जोन, मंडल और स्टेशन के रेल अधिकारियों के साथ बैठक कर विभिन्न कार्य-स्थितियों, समस्याओं के संबंध में वार्ता की और जरूरी निर्देश दिए। बैठक में हाजीपुर जोन के आईजी रवीन्द्र नाथ, मुगलसराय के रेल मंडल प्रबंधक पंकज सक्सेना, हाजीपुर जोन के प्रधान दूरसंचार अभियंता यशपाल सिंह, मुख्य कार्मिक अधिकारी शैलेन्द्र कुमार, मुगलसराय रेल मंडल के कमाडेंट आशीष मिश्रा, वरीय यातायात प्रबंधक राकेश कुमार रौशन, वरीय वाणिज्य प्रबंधक रूपेश कुमार, वरीय दूरसंचार अभियंता ब्रजेश कुमार, वरीय कार्मिक अधिकारी अजीत कुमार सिंह, स्टेशन प्रबंधक अशीम कुमार, वरीय सेक्शन इंजीनियर वीके यादव, सीटीआई आभास कुमार, प्रतीक्षालय पोर्टर ज्योति कुमारी, विभागीय सेवा सम्मान प्राप्त बीरेंद्र पासवान और अन्य रेल अधिकारियों-कर्मचारियों ने भाग लिया। इस अवसर पर शहर के विभिन्न संगठनों की ओर से ए-श्रेणी के इस रेलवे स्टेशन पर विभिन्न यात्री सुविधाएं मुहैया कराने के लिए ज्ञापन सौंपे गए।
(सूचना, तस्वीर : वारिस अली, वीरेंद्र पासवान)

विदाई : दसवींके परीक्षार्थी समाज के लिए सीमा पर जाने वाले फौजियों जैसे

दाउदनगर (औरंगाबाद)-कार्यालय प्रतिनिधि। विद्या निकेतन स्कूल से सीबीएसई की दसवींपरीक्षा के लिए उत्प्रेषित विद्यार्थियों के लिए संस्कार विद्या परिसर में विदाई समारोह का आयोजन किया गया। विदाई समारोह का आयोजन नौवी कक्षा के विद्यार्थियों की ओर से किया गया। विद्या निकेतन विद्यालय समूह के सीएमडी सुरेश कुमार गुप्ता, सीईओ आनन्द प्रकाश, डिप्टी सीईओ विद्या सागर, प्राचार्य एके मिश्रा, वरिष्ठ अध्यापक विनय प्रकाश ने समारोह को संबोधित किया और बताया कि विद्यार्थी जीवन-युद्ध के मैदान में जा रहे हैं।
अपने मुख्य संबोधन में सीएमडी सुरेश कुमार गुप्ता ने कहा कि विद्यालय में तैयार किए गए विद्यार्थियों के लिए सीबीएसई दसवीं की परीक्षा युद्ध के मैदान में जाने वाले सैनिक जैसी ही है, जिन्हें जीवन में आगे बढऩे की प्रथम परीक्षा-बाधा पार करनी है। दसवींपरीक्षा में उत्तीर्ण होने पर ही जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में जाने-चुनने की राह मिलती-खुलती है। इस परीक्षा में विद्यार्थियों की सफलता विद्यालय की भी सफलता है। विद्यार्थियों की सफलता से विद्यालय प्रबंधन की प्रतिष्ठा जुड़ी हुई है, जिसके लिए प्रबंधन और शिक्षक अपना श्रम, अपनी क्षमता का योगदान करते हैं।
विद्यालय की एकाउंटेंट श्रीमती नेहा के संयोजन में विदा ले रहे विद्यार्थियों की आरती उतारी गई। विद्यार्थियों को नोटपैड, परीक्षा देने के गुर और कलम के किट दिए गए। प्राची कुमारी और नीतीश कुमार को दसवीं कक्षा का सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थी बताया गया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज)

इतिहास के अध्यापक को संभागीय प्रोत्साहन पुरस्कार

देहरादून (उत्तराखंड) / डेहरी-आन-सोन (बिहार) -कार्यालय प्रतिनिधि। केेंद्रीय विद्यालय, देहराादून अपर कैैंप में इतिहास के वरिष्ठ अध्यापक अजंनी कुमार सिन्हा को केन्द्रीय विद्यालय संगठन की ओर से संभागीय प्रोत्साहन पुरस्कार (अवार्ड-2018) प्रदान किया गया।

अजंनी कुमार सिन्हा पिछले दस सालों से विद्यालय परीक्षा विभाग समिति और विद्यालय समय सारिणी के सदस्य के रूप में भी जुड़े हुए हैं। वर्ष 2014 और 2015 में विद्यालय के बेहतर परीक्षा परिणाम के लिए उन्हें मानव संसाधन विकास विभाग के मत्री की ओर से प्रशस्ति-पत्र दिया गया था।

बिहार के रोहतास जिलान्तर्गत नोखा प्रखंड के लिलारी गांव (डाकघर मेयारी बाजार) के निवासी अंजनी कुमार सिन्हा ने 15 साल पहले केेंद्रीय विद्यालय में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) के रूप में योगदान किया था और वह नौ साल तक समाज विज्ञान के अध्यापक के रूप में कार्य किया। विभागीय प्रतियोगिता में सफलता हासिल करने के बाद 2013 वह स्नातकोत्तर शिक्षक (पीजीटी) बन गए। वह पिछले ठह सालों से इतिहास के प्राध्यापक (पीजीटी) के रूप में कार्य कर रहे हैं। इनके छोटे भाई वरीय सैन्य अधिकारी हैं। श्री सिन्हा सोनमाटी मीडिया समूह परिवार के सदस्य हैं।
(रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.