निशानेबाज श्रेयसी सिंह का पटना मेें सम्मान

पटना/डेहरी-आन-सोन (विशेष संवाददाता)। डेहरी-आन-सोन की अग्रणी सामाजिक संस्था पहल की ओर से कामनवेल्थ गेम-2018 में डबल ट्रैप निशानेबाजी में स्वर्ण पदक हासिल करने वाली श्रेयसी सिंह को पटना में सम्मानित किया जाएगा। श्रेयसी सिंह बिहार की पहली खिलाड़ी हैं, जिन्हें कामनवेल्थ गेम में स्वर्ण पदक प्राप्त हुआ है। उनकी यह उपलब्धि बिहार और देश के लिए गौरव है। श्रेयसी ने डबल ट्रैप निशानेबाजी में कामनवेल्थ गेम में 2014 में रजत पदक प्राप्त किया था और इस बार उन्होंने अपना ही रिकार्ड तोड़ा है। बिहार के जमुई जिले की निवासी श्रेयसी सिंह भूतपूर्व केेंद्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व सांसद पुतुल कुमारी की बेटी हैं।
स्वर्ण पदक पाने के बाद श्रेयसी सिंह बिहार आई थीं। पटना स्थित रविंद्र भवन सभागार में आयोजित सम्मान में श्रेयसी सिंह को पहल की ओर से स्वर्ण मुकुट पहनाकर सम्मानित किया गया।
समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि बिहार की बेटियों ने अपनी राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय पहचान बनाई हैं। बिहार की बेटियां भी दूसरे राज्यों की बेटियों से कम नहींहैं। श्रेयसी सिंह ने कहा कि बिहार में लड़कियों को आगे बढऩे के लिए हर संभव मदद दी जानी चाहिए। कामनवेल्थ गेम में स्वर्णपदक पाने के बाद मेरी जिम्मेदारी बढ़ गई है और इसी भावना के अनुरूप में कार्य करूंगी।

आरंभ में पहल के अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने आगतों का स्वागत करते हुए राष्ट्रमंडल खेल में स्वर्ण पदक हासिल करने वाली श्रेयसी सिंह को बिहार का ब्रांड अंबेसडर बनाए जाने और खिलाड़ी कोटे से सम्मानजनक नौकरी देने की मांग की। राज्यपाल ने इस संबंध में राज्य सरकार को पत्र लिखने का आश्वासन दिया।
सम्मान समारोह में राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह, सुदर्शन महाराज, सुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार, वन एवं पर्यावरण विभाग के प्रधान सचिव त्रिपुरारी शरण, पूर्व सांसद पुतुल कुमारी सहित गणमान्य तथा बुद्धिजीवी उपस्थित थे।

(वेब रिपोर्ट : अखिलेश कुमार)

 

पड़ाव मैदान : कभी शहर की शान-बान था, अब नरक स्थल

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। विभिन्न खेलों के आयोजन के कारण शहर की आन-बान-शान रहे कैसर-ए-हिन्द,  भारतीय सेना की संपत्ति पड़ाव मैदान अतिक्रमण का शिकार है और गंदगी के ढेर में तब्दील हो चुका है। कभी नगर का हृदयस्थल रहा पड़ाव मैदान बारिश के मौसम की पहली ही बौछार में नारकीय बैतरणी में तब्दील हो जाता है। इसकी पुरानी उपयोगिता और मौजूदा दुर्दशा के मद्देनजर शहर के चिकित्सकों, समाजसेवियों, व्यवसायियों ने इसके उद्धार के लिए पहल की है। दर्जनों गणमान्य लोगों के हस्ताक्षर से डेहरी डालमियानगर सीनियर सिटीजन फोरम की ओर से जिलाधिकारी को पत्र भेजकर पड़ाव मैदान की पुरानी प्रतिष्ठा लौटाने और सुंदर परिसर वाले खेल मैदान के रूप में विकसित करने का अनुरोध किया गया है।

दो दशक पहले तक खेलकूद का केेंद्र
17.24 एकड़ में फैला पड़ाव मैदान दो दशक पहले तक शहर और आसपास के लिए खेलकूद, प्रदर्शनी, आमसभा आदि गतिविधियों का मुख्य केंद्र हुआ करता था। इस पड़ाव मैदान में अब्दुल कयूम अंसारी टुर्नामेंट, लालबहादुर शास्त्री टूर्नामेंट, अखिल भारतीय खेल परिषद प्रतियोगिता सहित अनेक राज्यस्तरीय और जिलास्तरीय खेलकूद के आयोजन हो चुके हैं। यह शहर का इकलौता मैदान है। शहर के मध्य में स्थित होने के कार ण शहर के लोग शारीरिक व्यायाम और मॉर्निंग वॉक के लिए भी इस मैदान का उपयोग करते थे। शहर में बनजारी सीमेंट फैक्ट्री, झूला वनस्पति, रेलवे और राज्य व केंद्रीय सरकारी सेवा में कार्यरत कर्मी रहते है, मगर उनके खेलकूद, मॉर्निंग वॉक आदि के लिए कोई स्थान नहीं है। आज इस मैदान की दुर्दशा देखकर शहर के पुराने बाशिंदों का मन भर आता है। यह मैदान चारों ओर से अतिक्रमण का शिकार हो चुका है। शहर का कचरा इसी मैदान में फेंका जा रहा है। यह मैदान आज भी खुले में शौच का स्थान बना हुआ है। मुख्य बाजार से सटे होने के कारण इस मैदान पर दशकों के अतिक्रमण जारी है। माना जा रहा है कि एक-तिहाई हिस्सा ही बचा रह गया है।
चिकित्सकों-समाजसेवियों ने की अपील
शहर के ख्यातिलब्ध चिकित्सकों-समाजसेवियों डा. सुनीलकुमार बोस, डा. अवधबिहारी सिंह, डा. आरडी सिंह, डा. अब्दुल हई अंसारी, डा. उदयकुमार सिन्हा, डा. उमेश कुमार सिंह, अनुमंडल विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष उमाशंकर पांडेय आदि के हस्ताक्षर से भेजे गए पत्र में जिलाधिकारी को भेजे अपने पत्र में पड़ाव मैदान को अतिक्रमण से मुक्त कराकर सुंदर खेल मैदान में तब्दील करने का आग्रह किया गया है। डेहरी-आन-सोन के वरिष्ठ चिकित्सक डा. आरडी सिंह ने बताया की इस मैदान की ओर प्रशासनिक ध्यान हो जाए तो निश्चित रूप से यह अनुमंडल की सबसे खूबसूरत जगह में बदल सकता है। इसके लिए प्रशासन के स्तर पर ही पहल की दरकार है। पड़ाव मैदान की सूरत को बदलने के लिए डेहरी-आन-सोन के नागरिकों का अग्रणी सहयोग मिलेगा।

(वेब रिपोर्ट : डा. अनिल कुमार सिंह)

 

विधिज्ञ संघ ने किया दावत-ए-इफ्तार का आयोजन

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी समचार। डेहीर अनुमंडल परिसर में अनुमंडल विधिज्ञ संघ द्वारा दावत-ए-इफ्तार का आयोजन किया गया, जिसमें एसपी सत्यवीर सिंह, एसडीजेएम हिमांशु पांडेय, एसडीएम गौतम कुमार, एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी, न्यायिक दंडाधिकारी चंदन कुमार, निर्वाची पदाधिकारी जमाल मुस्तफा सहित न्याय, पुलिस, प्रशासन विभाग के अधिकारियों, अधिवक्ताओं और प्रबुद्धजनों ने भाग लिया।

अनुमंडल विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष उमाशंकर पांडेय उर्फ मुटुर पांडेय और सचिव मिथलेश प्रसाद सिन्हा ने किया।

 

चैंबर्स आफ कामर्स की ओर से कौमी एकता के लिए दावत-ए-इफ्तार

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी समाचार। डेहरी विकास मोर्चा और चैंबर्स आफ कामर्स की ओर से मुख्य बाजार सूफी निकेतन परिसर में कौमी एकता के मद्देनजर दावत-ए-इफ्तार का आयोजन किया गया। इफ्तार पार्टी में आईजी मोहम्मद रहमान और रोहतास के एसपी सत्यवीर ने कहा कि इस तरह के आयोजनों से समाज में मिल्लत का वातावरण बनता है।

दावत-ए-इफ्तार में डेहरी अनुमंडल के एसडीएम गौतम कुमार, अनुमंडल पुलिस अधिकारी अनवर जावेद, मुख्यालय डीएसपी जितेन्द्र पांडेय, थानाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार, अन्य पदाधिकारी, नगर के जनप्रतिनिधि आदि शामिल हुए। डेहरी विकास मोर्चा के अध्यक्ष अमित कुमार उर्फ बबल कश्यप और महासचिव दानिश खान ने आगत अतिथियों का स्वागत और धन्यवाद-ज्ञापन किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *