फैसला : रिन्कू सोनी ने एक माह बाद छोड़ा रालोसपा

डेहरी-आन-सोन (बिहार)-विशेष प्रतिनिधि। बिहार की हाट-सीट डिहरी विधानसभा क्षेत्र के पिछले चुनाव में जीत के बेहद करीब रहे उम्मीदवार जितेन्द्र कुमार उर्फ रिन्कू सोनी ने रालोजपा (राष्ट्रीय लोक समता पार्टी) से प्रदेश सचिव के साथ प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा देने की सार्वजनिक घोषणा प्रेस-कान्फ्रेन्स में की है। इस्तीफा के कारण के बारे में रिन्कू सोनी ने बताया कि रालोजपा प्रमुख एवं काराकाट लोकसभा क्षेत्र के सांसद उपेन्द्र कुशवाहा ने जिस महागठबंधन के साथ गठजोड़ किया है, उसमें अलकतरा घोटाला के सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मंत्री इलियास हुसैन हैं। उन्होंने कहा कि इलियास हुसैन ने दशकों तक अपनी जीत के किसी भी तरह निश्चित करने के लिए डिहरी विधानसभा की जनता को तरह-तरह से भ्रम में रखा। भ्रष्टाचारी एवं सजायाफ्ता नेता वाली पार्टी के साथ मेरा रहना मुनासिब नहींहै। कहा कि डिहरी विधानसभा की जनता ने मुझे प्यार दिया और जनता के लगाव को मैं शुक्रगुजार रहा हूं।
आखिर पार्टी छोडऩे में इतना विलम्ब क्यों, सांसद प्रतिनिधि ने तो तुरंत दिया था इस्तीफा

हालांकि रिन्कू सोनी ने इस सवाल का उत्तर नहींदिया कि वह विधानसभा उपचुनाव लड़ेंगे या नहींऔर लड़ेंगे तो किस पार्टी से या फिर निर्दलीय ही चुनाव के मैदान में उतरेंगे? कहा कि जल्द ही इसका जवाब यथासमय दूंगा। उपेन्द्र कुशवाहा के करीब एक महीना पहले दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक में महागंठबंधन के साथ शामिल होने की स्थिति स्पष्ट हो चुकी थी, तब अब इस्तीफा क्यों? इस सवाल पर रिन्कू सोनी का कहना था कि अपने लोगों और जनता को मन को अपने स्तर पर टटोलने में इतना समय लग गया।

जबकि भाजपा के नेता और काराकाट लोकसभा क्षेत्र के सांसद उपेन्द्र कुशवाहा के सांसद प्रतिनिधि अजय सिंह ने श्री कुशवाहा के एनडीए से अलग होते ही इस्तीफा दे दिया था और श्री कुशवाहा के बेहद करीबी रहे रालोसपा के प्रदेश महासचिव फतेहबहादुर सिंह भी पहले ही रोलोसपा छोड़कर राजद में चले गए थे।

(तस्वीर : बिरेन्द्र पासवान, मिथिलेश कुमार)

 

अभियान : स्कूलों में डेढ़ माह चलेगा खसरा-रूबेला टीकाकरण

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग दोनों के संयुक्त तत्वावधान में खसरा-रूबेला जैसी जानलेवा बीमारी पर सेमिनार का आयोजन शांति प्रसाद जैन कॉलेज के समीप एक सभागार में हुआ, जिसमें निजी विद्यालयों और सरकारी विद्यालयों के शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भाग लिया।
जिलाधिकारी पंकज दीक्षित ने कहा कि सरकार का लक्ष्य जानलेवा खसरा और रूबेला के संक्रमण से बच्चों को बचाने का है, जिसके टीकाकरण अभियान 15 जनवरी से फरवरी के अंतिम माह तक विद्यालय स्तर पर चलेगा। एक भी बच्चा टीकाकरण से छूट गया तो युद्ध स्तर पर किया गया टीकाकरण अभियान विफल हो जायेगा, क्योंकि एक से संक्रमण का खतरा बना रहेगा। जिला शिक्षा पदाधिकारी महेंद्र पोद्दार ने कहा कि जानलेवा बीमारी से टीकाकरण अभियान को सफल बनाकर मुक्ति पाई जा सकती है। यह खतरनाक वायरस 9 माह से लेकर 15 वर्ष तक के बच्चों पर जल्दी असर करता है। यह वायरल बीमारी छींकने और खांसने से दूसरे में संक्रमित होता है। वल्र्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के सासाराम यूनिट के एसएमओ डा. अभिषेक पाल ने कहा कि टीकाकरण अभियान जानलेवा मिजिल्स (खसरा और रूबेला) से लड़ाई है। 28 राज्यों में 12 करोड़ बच्चों को खसरा-रूबेला निरोधी टीका दिया जा चुका है। टीकाकरण से बच्चों के स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।
एक अन्य समाचार के अनुसार, इंडियन रेडक्रास सोसाइटी की ओर से बस स्टैण्ड, रेल स्टेशन, महावीर स्थान आदि जगहों पर कम्बल वितरण किया गया, जिसमें सोसाइटी की स्थानीय इकाई के सचिव राहुल वर्मा, नागेन्द्र कुमार, श्याम सुन्दर, डा. मेराज, अशोक कुमार आदि शामिल थे।
(रिपोर्ट व तस्वीर : अर्जुन कुमार)

 

डीएलएड का प्रशिक्षण सांस्कृतिक समारोह के साथ समाप्त

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता। राउमावि, डिलिया में डीएलएड प्रशिक्षण के समापन के मौके पर विदाई समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता साकीब रजा ने की और मंच संचालन इमरान अहमद, मृत्युंजय कुमार, सन्नी कुमार ने किया। समारोह को अध्ययन केन्द्र के समन्वयक सह प्रधानाचार्य उमेश सिंह और प्रशिक्षकों ने संबोधित किया।। प्रशिक्षु शिक्षकों की ओर से प्रशिक्षकों को पेन, शाल, डायरी देकर सम्मानित किया गया।
एक अन्य खबर के मुताबिक, भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष एवं डिहरी विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी संजय गुप्ता ने जनसंपर्क अभियान चलाया और एनडीए सरकार द्वारा जारी जनकल्याणकारी कार्यक्रमों की जानकारी दी।
(तस्वीर : वारिस अली)

 

डेहरी चेस क्लब ने सोन नहर की उद्गम बेसिन में मनाई पिकनिक

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। डेहरी चेस क्लब की ओर से सोन नहर उद्गम स्थल एनिकट की बेसिन में पिकनिक का आयोजन किया गया, जिसमें शामिल होकर इसके सदस्यों और अन्य अतिथियों ने सोन नद अंचल के पारंपरिक ग्रामीण भोजन लिट्टी-चोखा का आनंद उठाया। पिकनिक में इसके आयोजकों डेहरी चेस क्लब के संस्थापक संयोजक दयानिधि श्रीवास्तव उर्फ भरत लाल, सह संस्थापक संयोजक स्वयंप्रकाश मिश्र उर्फ सुमंत मिश्र, उपाध्यक्ष प्रो. रणधीर सिन्हा, अधिवक्ता गोपालस्वरूप तिवारी, उप सचिव सत्यनारायण प्रसाद सोनी, सुरेंद्र कुमार यादव, कोषाध्यक्ष शंकर कुमार, सत्यनारायण के साथ भोजपुरी सिनेमा कलाकार ठाकुर कुंजबिहारी सिन्हा, वरिष्ठ संस्कृतिकर्मी आरके शर्मा, माडल स्कूल प्रबंध समिति के सदस्य सुनील शरद, सोनमाटी मीडिया समूह के प्रबंध संपादक और शहर के शतरंज खिलाड़ी शामिल हुए।
(तस्वीर : रामनारायण प्रसाद)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.