महादलितों के द्वार पहुंची चिकित्सक टीम, सैकड़ों ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण

दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी संवाददाता। सिदुवार पंचायत के गुली बिगहा स्थित प्राथमिक विद्यालय में स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें पंचायत के महादलित टोले सहित विभिन्न गांवों के सैकड़ों ग्रामीणों ने पहुंचकर अपने स्वास्थ्य का आरंभिक परीक्षण कराया और रोग व सेहत की जरूरत से संबंधित उपलब्ध दवाएं प्राप्त की। स्वास्थ्य शिविर में ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर तीन दर्जन तरह की दवाओं का निशुल्क वितरण किया गया। जो आवश्यक दवा स्वास्थ्य शिविर में उपलब्ध नहींथी, उसे डाक्टर की पर्ची के आधार पर दाउदनगर स्वास्थ्य केेंद्र में जाकर प्राप्त कर लेने को कहा गया।
चिकित्सकों और गैर चिकित्साकर्मियों की भूमिका
औरंगबाद सदर अस्पताल के डा. विनय कुमार सिंह, दाउदनगर अनुमंडल अस्पताल के डा. राजेश कुमार सिंह, दाउदनगर प्रखंड प्राथमिक स्वास्थ्य केेंद्र के डा. वसीम राजा, डा. मोहम्मद नसीमुद्दीन, डा. ज्योति किशोर, डा. नेहा यादव, डा. सुलेखा कुमारी, डा. राजीव कुमार ने उपस्थित ग्रामीणों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। शिविर में स्वास्थ्य विभाग के गैर चिकित्सकीय टीम (एएनएम नीजू कुमारी, जांच तकनीक सहायक आदि) ने स्वास्थ्य परीक्षण में अपनी भूमिका का निर्वाह किया और दवाओं वितरण का कार्य किया।
जारी रहनी चाहिए स्वास्थ्य जांच शिविर की यह पहल
इस मौके पर गुली बिगहा प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक गोपेन्द्र कुमार सिन्हा गौतम, सिंदुवार पंचायत के उप मुखिया देवेंद्र ठाकुर ने कहा कि सरकार की यह पहल बेहद उपयोगी है, जिसमें राज्य के वंचित परिवारों के दरवाजे तक पहुंचकर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई गई। दाउद नगर भाजपा मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र यादव ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि ऐसा पहली बार उनके पंचायत में हुआ कि दो सौ से अधिक ग्रामीणों के स्वास्थ्य की स्थल जांच की गई और दवा का भी वितरण किया गया। यहां तक कि महादलित टोले के लोगों को इस स्वास्थ्य जांच शिविर से तत्काल लाभ पहुंचा। इस तरह की पहल एक अवधि अंतराल पर नियिमित होनी चाहिए।

 

शांति समिति का फैसला : मोहर्रम में डीजे व बाइक जुलूस पर निषेध, दो दिन शहर में नो-इंट्री

दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी संवाददाता। मोहर्रम के मद्देनजर दाउदनगर थाना परिसर में शांति समिति की बैठक में यह तय किया गया कि डीजे के साथ कोई जुलूस नहींनिकाली जाएगी। बाइक जुलूस भी प्रतिबंधित होगा। मोहर्रम की जुलूस अपने पारंपरिक स्वरूप में ही निकलेगी और जुलूस को अखाड़ा के सदस्य ही नियंत्रित करेंगे। मुहर्रम की सभी कमेटियों को अपने-अपने खलीफा और मेम्बर के नाम, उनके पहचानपत्र और मोबाइल नंबर थाना में सूचीबद्ध कराना जरूरी है। मोहर्रम के अवसर पर सभी चिह्निïत स्थलों पर दंडाधिकारियों के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात रहेंगे। सादा ड्रेस में भी पुलिस की तैनाती रहेगी। दो दिन 21 और 22 सितम्बर को दाउदनगर शहर में नो इंट्री लागू रहेगी। यह तय किया गया कि दाउदनगर शहर में तीन जगहों पर मुहर्रम के जुलूस ड्राप किया जाएगा। ये तीन जगह मौलाबाग मोड़, दाउदनगर-बारून रोड में चर्च के निकट और नगरपरिषद मोड़ के निकट निर्धारित किए गए हैं।
थाना परिसर में हुई शांति समिति की बैठक की अध्यक्षता अनुमंडलाधिकारी अनीस अख्तर और अनुमंडल पुलिस अधिकारी राजकुमार तिवारी ने की। बैठक का संचालन दाउदनगर थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने किया। पुलिस निरीक्षक केके सहनी, नगर परिषद अध्यक्ष यमुना प्रसाद स्वर्णकार, उप प्रमुख नंद शर्मा, अनेक वार्ड पार्षद, मुखिया, सभी मुहर्रम कमेटियों के खलीफा आदि ने भाग लिया और अपनी-अपनी राय रखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *