साठ साल बाद भारतीय खेल का नया सनसनता सितारा, दस दिनों में भारत को मिले 9 गोल्ड सहित 49 मेडल

–सोनमाटीडाटकाम न्यूज डेस्क —
एशियन गेम्स-2018 इंडोनेशिया में हो रहा है। इस खेल प्रतियोगिता में भारत को पहला मेडल शूटिंग में मिला, जबकि पहला गोल्ड मेडल रेसलर बजरंग पूनिया ने जीता। एशियन गेम्स-2018 के 10वें दिन  (28 अगस्त) तक भारत ने  9 गोल्ड के साथ कुल 49 मेडल अपने नाम किया है। पीवी सिंधु एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय शटलर बन गईं हैं। भारतीय महिला टीम ने पिछले एशियाई खेलों के मुकाबले अपने प्रदर्शन में सुधार कर फाइनल में जगह बनाई। भाला फेंक (जैवलिन थ्रो) स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा भारत के नए सनसनाते खेल सितारे के रूप में उभरकर सामने आए हैं। भारतीय धावक मनजीत सिंह ने पुरुषों की 800 मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल और जिनसन जॉनसन ने सिल्वर मेडल जीते।

एशियन गेम्स-2018 के 10वें दिन (28 अगस्त) को पहला मेडल भारत को आर्चरी में मिला। कम्पाउंड टीम इवेंट में महिला और पुरुष टीम के अलावा बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने सिल्वर जीता। भारतीय शटलर पीवी सिंधु को बैडमिंटन के महिला सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में वल्र्ड नंबर वन ताइ जू यिंग से हार का सामना करना पड़ा। ताइ जू यिंग से ही हारकर साइना नेहवाल को ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा था। सेमीफाइनल में साइना नेहवाल को हराने वाली ताइ जू यिंग ने पहले गेम में सिंधु पर जीत दर्ज की थी। हालांकि सिंधु एशियन गेम्स में सिल्वर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय शटलर बन गईं हैं।

भारत का 15वां सिल्वर मेडल

तीरंदाजी की कम्पाउंड स्पर्धा में भारतीय महिला टीम को कोरिया से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा है। मुस्कान किरार, मधुमिता कुमारी और ज्योति सुरेखा वेनम की तिकड़ी ने इस स्पर्धा में शानदार शुरुआत की लेकिन प्रदर्शन बरकरार नहीं रख सकी।

तीरंदाजी की कम्पाउंड स्पर्धा में भारतीय पुरुष टीम के रजत चौहान, अमन सैनी और अभिषेक वर्मा की तिकड़ी को भी कोरिया गणराज्य से पेनल्टी शूटआउट में हारकर रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। यह एशियन गेम्स में भारत का 15वां सिल्वर मेडल है।

भारतीय धावक मनजीत सिंह ने पुरुषों की 800 मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल और जिनसन जॉनसन ने सिल्वर मेडल जीते।

28 वर्षीय मनजीत ने 1 मिनट 46.15 सेकंड का समय लेकर सोने का तमगा हासिल किया, जो भारत का नौवां गोल्ड मेडल है।

जॉनसन 1 मिनट 46.35 सेकंड के समय के साथ दूसरे स्थान पर रहे। भारत के खाते में अब 9 गोल्ड, 18 सिल्वर और 22 ब्रॉन्ज मेडल समेत कुल 49 पदक हो गए हैं।

 

हरियाणा के गांव के हैं भारत के लिए नया इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा

 इंडोनेशिया में जारी एशियाई खेलों में भाला फेंक (जैवलिन थ्रो) स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा भारत के नए सनसनाते खेल सितारे के रूप में उभरकर सामने आए हैं। एशियाड में गोल्ड जीतने पर भारतीय सेना ने इस नवयुवा खिलाड़ी को बधाई दी है। इनके जीवन और खेल अनुभव से जुड़ी बातों में सबसे खास यह है कि एक ही साल में कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल अपने नाम करने वाले साठ साल बाद नीरज देश के दूसरे खिलाड़ी बने हैं। इनसे पहले दिग्गज एथलीट मिल्खा सिंह ने 1958 में कारनामा अपने नाम किया था।
9वीं कक्षा में ही छुट गया स्कूल, अब ओपेन एजुकेशन के छात्र
हरियाणा के खंडरा गांव के किसान परिवार के नीरज चोपड़ा 11 साल के थे। उनके शरीर का वजन 70 किलो से अधिक हो गया था। वजन घटाने के लिए उन्होंने पानीपत (हरियाणा) के स्टेडियम में ट्रेनिंग शुरू की। उन्होंने पानीपत स्टेडियम में एथलीट जयवीर को भाला फेंक प्रैक्टिस करते देखा और जैवलिन थ्रो खेल में ही करियर बनाने की ठान ली। आज उनका संकल्प इतिहास बनकर देश-दुनिया के सामने है। वह 9वीं क्लास तक रेगुलर स्कूल स्टुडेन्ट थे। ओपेन एजुकेशन के माध्यम से वह कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से बीए (सेकंड इयर) की पढ़ाई कर रहे हैं।

फुटबाल पैरों की ताकत और भाला बाजू की ताकत का खेल
फुटबॉल के खेल में खिलाड़ी के पैरों की ताकत और लचीलेपन का महत्व होता है। भाला फेंक में खिलाड़ी की बाजू का महत्व है। कुछ साल पहले नीरज के दाएं हाथ में फ्रैक्चर हो गया, लेकिन मजबूत इरादों से इंजुरी से उबरे और बाजुओं में पहले जैसा ही दम बरकरार रखा। जब नीरज ने वर्ष 2016 में अंडर-20 वल्र्ड चैंपियनशिप में वल्र्ड रेकॉर्ड के साथ भाला फेंक में गोल्ड मेडल प्राप्त किया था, तब फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग और बॉलिवुड अभिनेत्री कटरीना कैफ ने बधाई दी थी। उन्हें भारतीय सेना में नायब सूबेदार के पद पर नियुक्ति मिली। तब से वह सेना में कार्यरत हैं।

 

एशियन गेम्स-2018 में भारतीय टीम के मेडल विनर

1. 18वें एशियन गेम्स के पहले दिन शूटर अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार ने 10 मीटर एयर राइफल मिक्स्ड टीम इवेंट में भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता। प्रतियोगित में यह भारत का पहला मेडल रहा।
2. कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट भारतीय स्टार रेसलर बजरंग पूनिया ने पुरुषों की 65 किग्रा स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में जापान के ताकातानी दाइचि को 11.8 से हराते हुए भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। प्रतियोगिता में यह भारत का पहला गोल्ड मेडल रहा।
3. दीपक कुमार ने निशानेबाजी स्पर्धा की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता। दीपक 18वें शॉट तक पदक की दौड़ में नहीं थेए लेकिन इसके बाद उन्होंने 10ण्9 का परफेक्ट स्कोर करके 247ण्7 अंक के साथ सिल्वर मेडल जीता। इस स्पर्धा का गोल्ड चीन के गत चैंपियन यांग हाओरान ने जीताए जबकि ब्रॉन्ज मेडल चीनी ताइपै के लू शाओचुआन को मिला
4. पुरुष ट्रैप इवेंट में लक्ष्य शेरॉन ने सिल्वर मेडल जीता। 19 साल के लक्ष्य ने 45 में से 39 निशाने सही लगाएए जिससे वह पोडियम में दूसरे स्थान पर रहे। ताईपे के कुनपी यांग ने स्वर्ण पदक अपने नाम कियाए साथ ही उन्होंने 48 अंक से खेलों के रेकॉर्ड की भी बराबरी की। वहीं कोरिया के डाएमयियोंग अहन ने जेएससी शूटिंग रेंज में 30 अंक से कांस्य पदक प्राप्त किया।
5. विनेश फोगाट ने एशियाई खेलों में इतिहास रचते हुए 50 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है। इस उपलब्धि के साथ वह पहली भारतीय महिला पहलवान बनी हैंए जिन्होंने एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया हो। विनेश ने जापान की इरी युकी को 6.2 से हराकर गोल्ड जीता।
6. 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में अभिषेक वर्मा ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। 219ण्3 अंकों के साथ इस इवेंट में वह तीसरे स्थान पर रहे। जापान के तोमोयुकी मतसुदाए जो लंबे समय तक आगे चल रहे थेए ने 239ण्7 अंकों के साथ सिल्वर मेडल जीता। वहीं भारत के सौरभ चौधरी ने इस इवेंट में गोल्ड जीता था।
7. 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में ही भारत के सौरभ चौधरी ; 240ण्7 अंकद्ध ने गोल्ड जीता। 16 साल की उम्र में उन्होंने जापान के तोमोयुकी मतसुदा को हरा दिया। चौधरी 10मीटर एयर पिस्टर इवेंट में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के पहले निशानेबाज भी हैं।
8. निशानेबाज संजीव राजपूत ने 50 मीटर राइफल.3 पोजिशन स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता। उन्होंने 452ण्7 अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। भारतीय निशानेबाज संजीव का यह एशियाई खेलों में इस स्पर्धा में जीता गया पहला पदक है।
9. महिला कुश्ती के 68 किलो भारवर्ग में दिव्या काकरान ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। दिव्या ने 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज और हाल में नई दिल्ली में हुए एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था।
10. निशानेबाज राही सरनोबत ने 25 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड जीता। उन्होंने थाइलैंड की यांगपाइबून नफसवण को हराकर यह गोल्ड जीता है।
11. स्पीक टेकरॉ रेगु में ब्रॉन्ज
12. नाओरेम रोशिबिना देवी ने सांडा 60ाह महिला वर्ग में ब्रॉन्ज अपने नाम किया।
13. नरेंद्र ग्रेवाल ने सैंडा में कांस्य पदक अपने नाम किया।
14. संतोष कुमार ने 56ाह भार वर्ग में यह पदक अपने नाम कियाय़
15. सैंडा में सूर्य भानू प्रताप सिंह ने दूसरा मेडल दिलाया।
16. अंकिता रैना ने महिला एकल टेनिस में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। चीन की शुआई जैंग से सेमीफाइनल में हार गई।
17. भारत पुरुष कबड्डी में अजेय रहा है। लेकिन इस बार ईरान की टीम ने उसे सेमीफाइनल में मात दी और भारत को ब्रॉन्ज से संतोष करना पड़ा।
18. 15 वर्षीय शार्दुल विहान ने पुरुष डबल ट्रैप शूटिंग में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। मेरठ के इस निशनेबाज ने दूसरा स्थान हासिल किया।
19. एशियन खेलों के छठे दिन गुरुवार को दुष्यंत चौहान ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।
20. नौकायन की डबल स्पर्धा में भी रोहित और भगवान की जोड़ी ने ब्रॉन्ज मेडल दिलाया।
21. टेनिस पुरुष युगल में रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी ने कजाकिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक डेनिस येवसेयेव को हराकर गोल्ड पर कब्जा जमाया।
22. 10 मीटर एयर पिस्टल में हीना सिद्धू ने स्कोर हासिल किया।
23. भारतीय महिला टीम ने कबड्डी में सिल्वर मेडल जीता। 2 बार की लगातार चैंपियन भारतीय टीम ईरान के हाथों हार गई। उसे रजत से संतोष करना पड़ा।

(इनपुट व तस्वीर संयोजन : निशान्त राज के साथ सोनमाटी टीम)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *