सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

एकजुटता का वैश्य चेतना समारोह/ सशस्त्र सीमा बल का स्थापना दिवस/ स्कूलों में कोविड सुरक्षा पर जोर/ महिला कालेज में विज्ञान की पढ़ाई

परिणामपूर्ण शक्तिसंचय के लिए कतारबद्ध हों वैश्य : मंजू अग्रवाल

औरंगाबाद (विशेष संवाददाता उपेन्द्र कश्यप)। स्थानीय महाजन क्लब में वैश्य चेतना समिति द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में शेरघाटी की विधायक मंजू अग्रवाल ने कहा कि हमें कतार में चलना सीखना होगा। जब कतार में चलेंगे, तभी शक्ति आएगी और लोग हमारी शक्ति को पहचानेंगे। आज वैश्य समाज की हर क्षेत्र में दखल हो चुकी है। उन्होंने कहा कि वैश्य समाज के अधिकार और मान-सम्मान की लड़ाई वह प्राण-प्रण से लड़ेंगी। वैश्य नेता बनाते हैं, लेकिन खुद नेता बनते नहीं। 2020 में राजनीति में आगे आने वाले वैश्यों की संख्या संतोषजनक मानी जा सकती है, मगर इस कारवां को आगे बढ़ाकर समय और अवसर का सदुपयोग करना है। ओबरा विधानसभा क्षेत्र से लोजपा के प्रत्याशी रहे समाजसेवी और दाउदनगर बीएड कालेज के सचिव डा. प्रकाश चंद्रा ने कहा कि व्यावसायिक गतिविधियों के कारण वैश्य अधिक व्यस्त रहता है। वैश्य समाज में जागरूकता आ गई है। इस बार के विधानसभा चुनाव में वैश्यों ने अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराई है मगर अभी और ताकत बटोरने की जरूरत है। सासाराम के विधायक राजेश गुप्ता ने कहा कि राज्य, समाज को बेहतर बनाने में वैश्यों की अहम भूमिका रही है। डिहरी विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लडऩे वाले राजू गुप्ता ने कहा कि लड़ाई अब ज्यादा-से-ज्यादा टिकट पाने के लिए होना चाहिए। वोट का जमाना है। सोन नद के इस पार और उस पार औरंगाबाद और रोहतास जिला के किसी विधानसभा क्षेत्र में 50 हजार से कम वैश्य जाति के मतदाता नहीं है, इसके बावजूद मगध-शाहाबाद प्रक्षेत्र में वैश्य समाज का कोई सांसद नहीं है। दिलीप नेता ने कहा कि वैश्यों की आबादी 30 प्रतिशत है। सामाजिक न्याय की बात तभी पूरी होगी, जब इस अनुपात में वैश्य समाज के जनप्रतिनिधि हों। वैश्य चेतना समिति के राज्य अध्यक्ष इंजीनियर सुंदर साहू और उपाध्यक्ष आनंद प्रसाद सोनी ने कहा कि अभी बिहार में 24 विधायक वैश्य जाति से हैं। अगले विधानसभा चुनाव में यह संख्या दो-तीन गुनी करने के लक्ष्य की ओर चलना होगा, तभी बिहार को पहला मुख्यमंत्री वैश्य समाज का हो सकता है। किसी भी परिस्थिति में अपराधियों को वैश्य समाज का वोट नहीं मिलना चाहिए। गया में विधानसभा चुनाव के प्रत्याशी रहे रणधीर कुमार और अन्य वक्ताओं ने वैश्य एकता पर जोर दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुंदर साहू ने की, संचालन वरिष्ठ पत्रकार उपेन्द्र कश्यप ने किया और धन्यवाद-ज्ञापन समिति के उपाध्यक्ष दीपक कुमार ने किया।

स्थापना दिवस पर सशस्त्र सीमा बल को श्रेष्ठता की ट्राफी

पटना (कार्यालय प्रतिनिधि)। सशस्त्र सीमा बल के 57वें स्थापना दिवस पर नई दिल्ली में आयोजित समारोह में सशस्त्र सीमा बल के महानिदेशक कुमार राजेश चन्द्रा ने विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर योगदान के सीमांत बलों को पांच अलग-अलग ट्राफी प्रदान की। पटना सीमान्त कार्यालय को नारकोटिक्स, राहत-बचाव और नागरिक कल्याण कार्यक्रम में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए तीन ट्राफी प्रदान की गईं, जिन्हें सशस्त्र सीमा बल के पटना सीमांत कार्यालय के महानिरीक्षक संजय कुमार ने ग्रहण किया। सर्वश्रेष्ठ नक्सल विरोधी अभियान ट्राफी पटना सीमान्त की 32वीं वाहिनी को मिला, जिसे इस वाहिनी के कमांडेन्ट दीपक सिंह ने ग्रहण किया। कोविड-19 से संबंधित दिशा-निर्देश का अनुपालन करते हुए स्थापना दिवस मनाया गया।

बच्चों की सुरक्षा स्कूलों की प्राथमिकता : डा.एसपी वर्मा

सासाराम/डेहरी-आन-सोन (रोहतास)/ दाउदनगर (औरंगाबाद)-कार्यालय प्रतिनिधि निशांत राज। प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की रोहतास जिला इकाई की कार्यकारिणी और रोहतास जिला के सभी 19 प्रखंडों की प्रखंड इकाई की कार्यकारिणी की संयुक्त बैठक संतपाल स्कूल परिसर में एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री डा. एसपी वर्मा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में 04 जनवरी से बिहार सरकार के आदेशानुसार विद्यालयों के संचालन के मुद्दों पर चर्चा की गई। डा. एसपी वर्मा ने सभी स्कूल प्रतिनिधियों से कहा कि स्कूलों के खुलने पर विद्यालय प्रबंधन का पहला दायित्व बच्चों की कोविड-19 के खतरे से हर संभव सुरक्षा प्रदान करना है। विद्यालय परिसर की सफाई-स्वच्छता का खास ध्यान रखना होगा और विद्यालय परिसर में सबके लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। विद्यार्थी का एक-दूसरे से शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए शिक्षकों की निगरानी जरूरी होगी।

28 दिसम्बर को कोविड प्रशिक्षण : रोहित वर्मा

(रोहित वर्मा)

प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष रोहित वर्मा ने जानकारी दी कि एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद शमायल अहमद 28 दिसम्बर 2020 को सासाराम में संतपाल स्कूल में आ रहे हैं, जिस दिन निजी विद्यालयों के मुद्दों को लेकर अग्रणी संघर्ष करने वाले राष्ट्रीय अध्यक्ष का सम्मान किए जाने के साथ कोविड-19 काल में विद्यालय संचालन के लिए बरते जाने वाले एहतियात पर प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। एसोसिएशन की बैठक में जिला इकाई के उपाध्यक्ष सुभाष कुमार कुशवाहा, सचिव समरेंद्र कुमार, संयुक्त सचिव संग्राम कांत, संयोजक धीरेंद्र कुमार, कोषाध्यक्ष कुमार विकास प्रकाश, महामंत्री अनिल कुमार, सुनील कुमार, जनसम्पर्क पदाधिकारी दुर्गेश पटेल के साथ प्रखंडों के अध्यक्षों-सचिवों और अन्य प्रतिनिधियों ने भी अपने सुझाव दिए।

कोविड से सुरक्षा और पढ़ाई दोनों चुनौती : राजीव रंजन

(राजीवरंजन)

डेहरी-आन-सोन (रोहतास) स्थित शहर के अग्रणी सीबीएसई विद्यालय सनबीम आवासीय पब्लिक स्कूल के प्रबंध निदेशक राजीवरंजन सिन्हा और प्राचार्य अनुभा सिन्हा ने कोविड-19 काल में 13 मार्च से बंद स्कूलों को कोई 10 माह बाद खोले जाने के राज्य सरकार के आदेश का स्वागत किया है। राजीव रंजन ने कहा है कि बीते साल में निजी विद्यालयों की स्कूल फीस के अभाव में कमर टूट गई। अब सरकार के इस फैसले से स्कूलों के सूखे होठों पर मुस्कान की लकीर आई है, मगर स्कूल प्रबंधन के कंधे पर पढ़ाई के साथ बच्चों को कोविड से सुरक्षित रखने की दोहरी जिम्मेदारी भी है। उन्होंने कहा कि हम स्कूल के अध्यापकों, अभिभावकों के साथ भी संभव बैठक कर विद्यार्थियों को सुरक्षित रखने का प्रशिक्षण देंगे और कोरोना सुरक्षा का हर संभव इंतजाम करेंगे।

निर्णय का स्वागत, कोविड सुरक्षा का होगा प्रबंध : आनंद प्रकाश

(आनंद प्रकाश)

दाउदनगर (औरंगाबाद) स्थित प्रतिष्ठित विद्या निकेतन विद्यालय समूह के अध्यक्ष सुरेश प्रसाद गुप्ता, मुख्य कार्याधिकारी आनंद प्रकाश और उपमुख्य कार्याधिकारी विद्या सागर ने राज्य सरकार द्वारा 04 जनवरी से निजी विद्यालयों की सभी कक्षाओं में पढ़ाई आरंभ किए जाने के दिए गए आदेश का स्वागत किया है। आनंद प्रकाश ने कहा है कि कोराना महामारी के प्रसार के मद्देनजर विद्या निकेतन समूह के सभी स्कूलों और कक्षाओं में कोविड-19 से बचाव के सभी एहतियात अपनाकर पढ़ाई की जिम्मेदारी पूरी की जाएगी।

महिला कालेज में भी होगी विज्ञान, वाणिज्य की पढ़ाई

(दयानिधि श्रीवास्तव)

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। शहर के एनिकट स्थित वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के अंतर्गत महिला कालेज डालमियानगर में विज्ञान और वाणिज्य संकाय में भी पढ़ाई आगामी सत्र के आरंभ हो जाएगी। इस आशय का फैसला विश्वविद्यालय के आरा स्थित मुख्यालय में एकाडिमक परिषद की बैठक लिया जा चुका है और फैसले से संबंधित अधिसूचना अगले हफ्ते तक जारी होने की संभावना है। विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय में प्राचीन इतिहास और फारेंसिक साइंस की पढ़ाई भी आरंभ करने का फैसला लिया है। महिला कालेज डालमियानगर में विज्ञान, वाणिज्य की पढ़ाई आगामी सत्र से शुरू होने की पूरी संभावना पर सोन कला केेंद्र के अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव ने हर्ष व्यक्त किया है। अभी तक शहर के इस एकमात्र महिला कालेज में सिर्फ कला विषय की ही पढ़ाई होती थी। पिछले दिनों विज्ञान और अन्य विषयों की पढ़ाई की मांग को शहर के अभिभावक और अन्य संस्थाओं सहित सोन कला केेंद्र ने भी विश्वविद्यालय प्रशासन तक पहुंचाने का कार्य किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!