सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

कोरोना-काल : तैयारी वेब-टीवी की, घर में रहकर बनाई फिल्म/ महिलाओं ने की राहत-सेवा/ खुले धर्मस्थल, होटल और माल/ कोविड-19 मरीज पांच हजार पार

ए-टु-जेड टीवी के लिए बन रही फिल्म ‘सुरभि : ए ब्रैव गर्ल

(फिल्म सुरभि : ए ब्रैव गर्ल की तैयारी में डा. धर्मवीर भारती और गायिका डिम्पल)

पटना/गया/डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी टीम। अदृश्य दानव कोरोना वायरस से लड़ते हुए जीने की सक्रियता अब सरकार और समाज दोनों स्तर पर अपने अगले चरण में प्रवेश कर चुकी है। घर से सार्वजनिक स्थान पर जाने के लिए मास्क पहनने और दो मीटर दूरी के अनुशासन का पालन करने की अनिवार्यता के साथ 08 जून से मंदिर-मस्जिद सहित सभी धर्मस्थल भी अन-लाक हो गए। बीते ढाई महीने के कोरोना-काल में बिहार के मानपुर (गया) मुख्यालय स्थित धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन वेब-चैनल (ए-टु-जेड टीवी) प्रोजेक्ट करने की तैयारी में है, जिसका टैगलाइन है- जो यहां वो कहां? बिहार के अग्रणी युवा फिल्मकार डा. धर्मवीर भारती की डिजिटल क्रिएशन की संकल्पना में इस वेब-टीवी चैनल को प्रस्तुत करने का होमवर्क अपने अंतिम चरण में है। डा. धर्मवीर भारती अपने वेब-टीवी चैनल के लिए औरंगाबाद जिला की प्रथम ब्लैक-बेल्ट धारक कराटागर्ल सुरभि के जीवन पर आधारित फिल्म पूरा करने के कार्य में लगे हुए हैं। फिल्म (सुरभि : ए ब्रैव गर्ल) के संगीत का धुन और थीम-गीत को गायिका डिम्पल द्वारा दी गई आवाज इस बात के लिए आश्वस्त करती है कि यह तथ्यात्मक विषय-वस्तु और कलात्मक लालित्य की चाशनी वाली बेहतर फिल्म होगी। लघु फिल्मों के निर्माता-लेखक-निर्देशक डा. धर्मवीर भारती की कई डाक्युमेंट्री फिल्म देश के राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में सम्मानित हो चुकी हैं। इनकी एक चर्चित डाक्युमेंट्री फिल्म गया मंडल के दाउदनगर की लोकसंस्कृति जिउतिया पर है। डा. धर्मवीर भारती ने अपनी इस डाक्युमेंट्री फिल्म में दाउदनगर के वरिष्ठ पत्रकार-लेखक और सोनघाटी पुरातत्व परिषद के सह-सचिव उपेंद्र कश्यप से भी सामग्री (कन्टेंट) का सहयोग लिया है। आदिवासी और गैर-जनजाति संस्कृतियों के सैकड़ों सालों के संघर्ष-सम्मिश्रण में अपने प्राचीन रूप से आधुनिक स्वरूप-आकार ग्रहण करने वाला जिउतिया दाउदनगर की सांस्कृतिक पहचान है। सैकड़ों सालों के जीवन के झंझावतों से गुजर कर यह लोक रंग-प्रयोग (जिऊतिया नकल) अब पर्व से उत्सव में परिवर्तित हो चुका है। जिऊतिया नकल को सोन अंचल के मध्यकालीन शहर दाउदनगर की ऐतिहासिक पहचान के साथ रेखांकित करने का उल्लेखनीय लेखकीय कार्य पहली बार उपेंद्र कश्यप ने ही किया है।

कोरोना-काल में घर में रहकर बनाई फिल्म

इस बीच, कोरोना-काल में घर में ही रहकर मोबाइल से लघु फिल्म (जान है तो जहान है) बनाई गई है, जिसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म यूट्यूब और फेसबुक पर पोस्ट किया गया है। इसका लेखन-निर्देशन दिलशेर खान ने किया है। फिल्म में दिलशेर खान, अंकिता आनंद, सिकंदर खान, सीमा और डा. आलोक सोनी ने अभिनय किया है। फिल्म के निर्माण समन्वय का कार्य डा. आलोक सोनी ने और डबिंग-मिक्सिंग का कार्य आदिल खान ने किया है। इस लघु फिल्म में घर में ही रहकर कोरोना से बचने का संदेश दिया गया है। हालांकि अब घर में बने रहने की बाध्यता के लाकडाउन के चारों चरण खत्म हो चुके हैं और अन-लाक का दूसरा चरण शुरू हो चुका है।

महिलाओं ने की वंचितों के लिए राहत-सेवा

(डालमियानगर बंगाली क्लब में राहत-सेवा के बाद महिला टीम)

डेहरी-डालमियानगर के नागिरकों के सहयोग से महिला नेतृत्व वाली संस्था ‘आरंभ एक पहल प्रगति की ओर’ द्वारा डालमियानगर बंगाली क्लब में रोहतास इंडस्ट्रीज कांप्लेक्स की पाश्र्ववर्ती गरीब बस्तियों के परिवारों के लिए राहत वितरण किया गया। कोरोना-काल के संकट में शहर में आखिरी दौर की राहत-सेवा में भोजन पैकेट के साथ अनाज, मास्क, सैनिटाइजर का भी वितरण किया गया। आंरभ एक पहल प्रगति की ओर की अध्यक्ष प्रीति श्रीवास्तव, सचिव नीता सिन्हा, अर्चना मिश्रा, सोनी सिंह, अरुणा दुबे, अनीता सिन्हा, आशा सिंह, पूजा सिन्हा, अनामिका सिन्हा आदि की टीम के इस कार्य में उपाध्यक्ष मुकेश कुमार सिन्हा, रोशन सिंह, संतोष सिंह, अनिकेत सिन्हा आदि ने सहयोग किया।

कारोबारियों ने कहा, अन-लाक से होगा बाजार का विस्तार

डेहरी-आन-सोन स्थित कामधेनु कंफेक्शनरीज एंड स्वीट्स प्रा.लि. के संचालक निदेशक अरविंद गुप्ता, अरुण कुमार गुप्ता, होटल उर्वशी के संचालक निदेशक संतोष कुमार गुप्ता, शंकर लाज के संचालक दयानिधि श्रीवास्तव (अध्यक्ष, सोन कला केेंद्र), विकास लाज के संचालक सुरेंद्र चौरसिया के अनुसार, होटल, रेस्तरां और कैैंटीन के खुल जाने से फलों-सब्जियों की मांग बढ़ेगी और समाज के निचले अल्प आय तबके के पास रकम का प्रवाह बढ़ेगा। जबकि कला निकेतन के संचालक प्रदीप सरावगी, लक्ष्मी सिन्थेटिक्स के संचालक ओमप्रकाश केजरीवाल (संरक्षक, मारवाड़ी युवा मंच), बचपन से पचपन (रेडीमेड कपड़ा प्रतिष्ठान) के संचालक राजकिशोर के अनुसार, माल और कपड़ा दुकानों के खुलने से बाजार में आवागमन ज्यादा बढ़ेगा, चहल-पहल बढ़ेगी तो मध्यम वर्ग के कारोबारियों के साथ ठेला, खोमचा, फुटपाथ के श्रमिक कारीगरों और छोटे स्तर के कारोबारियों के लिए बाजार का विस्तार होगा।

पांच हजार से अधिक हुए कोविड-19 संक्रमित

बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित कोविड-19 मरीजों की संख्या पांच हजार पार कर चुकी है। 08 जून तक पाए गए 5175 कोरोना पाजिटिव में 2405 ठीक होकर घर जा चुके हैं। राज्य में कोविड-19 मरीजों में 32 को मौत का शिकार होना पड़ा। रोहतास जिला में 08 जून तक कोविड-19 से 238 लोग संक्रमित हुए, जिनमें एक की मौत हुई और 171 को अस्पताल से घर जाने की छुट्टी मिल गई। 08 जून से शुरू अनलाक में सोन नद तट के सबसे बड़े शहर डेहरी-आन-सोन में एनिकट स्थित झारखंडी मंदिर और डालमियानगर स्थित हनुमान मंदिर परिसर भी भक्तों-श्रद्धालुओं के लिए खुल गया है। डालमियानगर हनुमान मंदिर परिसर का सैनिटाइजेशन रोहतास इंडस्ट्रीज कांप्लेक्स की आवासीय कालोनियों के सैनिटाइज्ड-वर्क के अंतर्गत 27 मई को प्रभारी प्रबंधक एआर वर्मा के नेतृत्व में किया गया था। राजधानी पटना के रेलवे जंक्शन स्थित प्रसिद्ध महावीर मंदिर की प्रबंध समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल के अनुसार, दर्शनार्थियों की भीड़ को कम रखने के लिए अल्फाबिट (एबीसीडी…) नाम-क्रम से भगवान के दर्शन करने का नियम बनाया गया है, जो सुबह छह से रात नौ बजे तक दर्शन के लिए खुला रहेगा। मंगलवार और शनिवार भीड़ अधिक होने से इस दो दिन आनलाइन दर्शन के लिए समय दिया जाएगा।

रिपोर्ट, तस्वीर : डेहरी-आन-सोन में निशांत राज, गया में मुकेश प्रसाद सिन्हा
(इनपुट : कृष्ण किसलय, पापिया मित्रा)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!