सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

तू जिंदा है जिंदगी की जीत पर यकीन कर…

छह दिवसीय प्रथम दिव्यांश प्रतिष्ठापना वार्षिकोत्सव

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी समाचार। श्रीअरविंद सोसाइटी की ओर से पाली रोड स्थित अरविंद आश्रम परिसर में महर्षि अरविंद के देहांश प्रतिष्ठापना के एक साल पूरे होने पर आयोजित किया गया छह दिवसीय प्रथम दिव्यांश वार्षिकोत्सव 7 अप्रैल को समाप्त होगा। वार्षिकोत्सव के अंतर्गत अपने-अपने व्याख्यान में डा. केएन वर्मा, धुर्वेन्द्रजी, अनुभा दीदी आदि विद्वानों अपने-अपने नजरिये से महर्षि अरविंद के दर्शन के बारे में विस्तार से जानकारी दी और यह बताया कि महर्षि अरविंद का दर्शन-ज्ञान भारत और विश्व के पूर्ववर्ती दार्शनिकों के मुकाबले ज्यादा व्यावहारिक व समय-समाज सापेक्ष है।

तू जिंदा है जिंदगी की जीत पर यकीन कर…

रीअरविंद सोसाइटी (डेहरी-आन-सोन) अध्यक्ष सरोज चौबे और सचिव नरेन्द्र कुमार के अनुसार, इस समारोह में भारतीय दर्शन, योग, अध्यात्म पर श्रीअरविंद सोसायटी के पांडिचेर, दिल्ली, रीवा, झुंझनू आदि से आए विभिन्न विद्वानों के व्याख्यान के साथ स्वास्थ्य जांच और भजन व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी संयोजन किया गया है। संस्था के पूर्व सचिव उपेन्द्र मिश्र (पत्रकार) ने बताया कि पिछले साल यहां (अरविंद आश्रम) में महर्षि अरविंद का देहांश (बाल) की प्रतिष्ठापना की गई थी, उसी उपलक्ष्य में इस साल छह दिवसीय समारोह का आयोजन किया गया है। श्रीअरविंद सोसायटी (डेहरी-आन-सोन) के पूर्व अध्यक्ष विनोद मारोडिया का कहना है कि अरविंद आश्रम का कार्य-संदेश इस पंक्ति में निहित है- तू जिंदा है जिंदगी की जीत पर यकीन कर, अगर कहीं है स्वर्ग तो उतार ला जमीन पर।

 

 

 

 

 

 

इस अवसर पर प्रस्तुत आध्यात्मिक नाटकों में से दो में संगीत निर्देशन के लिए शहर के प्रसिद्ध संगीतकार संजय श्रीवास्तव को सम्मानित किया गया।

 

तीन दिवसीय शतरंज प्रतियोगिता

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी समााचार। डेहरी चेस क्लब की ओर से रामनगीना प्रसाद मेमोरियल वार्षिक शतरंज प्रतियोगिता-2018 का आयोजन पाली रोड स्थित रामकृष्ण आश्रम (मोहिनी गैस एजेंसी के सामने) में किया गया है। यह जानकारी देते हुए डेहरी चेस क्लब के संरक्षक विनय चंचल (कार्यपालक अभियंता), संस्थापक संयोजक दयानिधि श्रीवास्तव (उर्फ भरत लाल) और स्वयंप्रकाश मिश्र सुमंत ने बताया कि हर साल आयोजित होने वाली यह तीन दिवसीय शतरंज प्रतियोगिता 13 अप्रैल से 15 अप्रैल तक होगी, जिसमें शतरंज खिलाडिय़ों के प्रवेश के लिए 150 रुपये प्रवेश-शुल्क रखा गया है। प्रतियोगिता-2018 में खेल की सभी श्रेणियों में विजेता खिलाडिय़ों को कुल 7500 रुपये के नगद पुरस्कार दिए जाएंगे और प्रमाणपत्र के साथ ट्राफियां दी जाएंगी।

 

लायन्स क्लब ने नेहरू पार्क को दिए डस्टबीन

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी समाचार। नेहरू पार्क को स्वच्छ रखने के लिए लायन्स क्लब की ओर से चार डस्टबीन दान में दिया गया। लायन्स क्लब के पूर्व डिस्ट्रिक्ट गवर्नर एसपी वर्मा के नेहरू पार्क के संयोजक दशरथ दुबे को डस्टबीन सौंपे। एसपी वर्मा ने कहा कि हर व्यक्ति यह सामाजिक जिम्मेदारी है कि वह जहां रहे, अपने आसपास के वातावरण को साफ-सुथरा रखे। साफ-सफाई और दूसरो का ख्याल बेहतर पर्यावरण के लिए आरंभिक जरूरत है।

इस अवसर पर लायन्स क्लब सासाराम के अध्यक्ष रोहित वर्मा, डा. दिनेश शर्मा, कोषाध्यक्ष उमेश सर्राफ, विवेक जायसवाल, दीपक वर्मा, गौतम कुमार आदि सासाराम लायन्स क्लब के सदस्य और नेहरू पार्क से जुड़े लोग मौजूद थे।

 

04.04. 2018   मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक पहाड़ी गांव रेहल में

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी समााचार।  रोहतास जिले के पहाड़ी गांव रेहल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वनवासियों से रू-ब-रू होकर विकास कार्यों की प्रगति का समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की संभावित यात्रा को देखते हुए प्रखंड स्तर से लेकर जिलास्तर तक के अधिकारी रेहल में है। रोहतास जिले के सीमांत पर्वतीय गावं रेहल में तारीख-दर-तारीख बदलने के बाद एक बार फिर मुख्यमंत्री के आने का कार्यक्रम बना है। जिलाधिकारी अनिमेष कुमार पराशर ने भी मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक होने की पुष्टि की है।  अब देखना है कि इस बार क्या होता है?

सीएम के विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के दौरान रेहल में 13 जनवरी 2018 का दिन निर्धारित था, 10 जनवरी को सीएम के कार्यक्रम स्थल में परिवर्तन हो गया। संझौली प्रखंड के सुसाडी गांव में सीएम नीतीश कुमार ने संबोधन कहा था कि मैं वनवासियों को भूला नहीं हूं, 22 जनवरी को रेहल जाऊंगा।  जिला प्रशासन के अधिकारी रेहल विजिट की तैयारी में लग गये। लेकिन, सीएम का फिर रेहल का कार्यक्रम टला गया। 22 से 25 जनवरी तिथि निर्धारित हो गयी, लेकिन 25 भी टल गया। 27 जनवरी को तिथि निर्धारित हुई। इस दिन सीएम सासाराम आये,  लेकिन पायलट बाबा आश्रम व डीआरडीए सभागार में चार जिले के अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा बैठक कर पटना के लिए निकल गये।

विधायक  ने पहाड़ी गांवों के ग्रामीणों से मिलकर समस्या जानी

उधर, स्थानीय विधायक ललन पासवान ने ग्रामीणों से मिलकर उनकी समस्या जानी और कहा कि सभी गांवों में बुनियादी सुविधाएं पेयजल, बिजली (सौर ऊर्जा चालित), चिकित्सा, शिक्षा की व्यवस्था होगी। रोहतास की कैमूर पहाड़ी पर बसे 83 गांवों के लोगों में अब विकास को लेकर आस जग गई है। रेहल ने पहाड़ी गांवों में एक अलग पहचान बना लिया है। वह अब आधुनिक संसाधनों से लैस हो चुका है। रेहल में नल जल योजना मरम्मत, 132 घरों में सौर उर्जा, जला आपूर्ति की व्यवस्था, 20 केवीए का संयंत्र पूर्ण, 15 केवीए का एक संयंत्र निर्माणाधीन, 20 केवीए का एक संयंत्र निर्माणाधीन है। बुधुआ, धंसा, नयकाडीह, हुरमेटा समेत अन्य गांवों के लोग विकास कार्य अपने गांव में चाह रहे हैं। इन गांवों में आज भी पेयजल के लिए कोसों दूर जाना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!