सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

पेयजल संकट से जूझ रहा है यह गांव / मजदूरो को मिला मनरेगा से रोजगार

पेयजल संकट

नौहट्टा (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। प्रखंड क्षेत्र के तियरा खुर्द पंचायत के जरलकवा टोला इन दिनों गंभीर पेयजल संकट से जूझ रहा है। जाडे के इस मौसम में पानी की व्यवस्था करने में ग्रामीणों के पसीने निकल जा रहे है। पेयजल संकट को लेकर ग्रामीणों ने प्रखंड प्रमुख रानी देवी से समाधान करने की गुहार लगायी थी। प्रमुख के निर्देश पर पीएचइडी के सहायक अभियंता व कनीय अभियंता ईश्वर प्रसाद ने जरलका टोला का निरीक्षण किया तथा जलसंकट को देखा। विभाग ने तत्काल पेयजल व्यवस्था करने और नलजल के लिए कार्य प्रारंभ कर दिया है। समाजसेवी शशी भूषण सोनी ने बताया कि गर्मी शुरू होते ही पहाड़ी क्षेत्र के दर्जनों गांव मे गंभीर पेयजल संकट हो जाता है। यदि अभी समस्या समाधान कर दी जाएगी तो गर्मी मे समस्या उत्पन्न नहीं होगी।
कनीय अभियंता ईश्वर प्रसाद ने बताया कि जलसंकट को दूर करने के लिए जरलका टोला का निरीक्षण किया गया तथा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। मौके पर उपप्रमुख रविंद्र राम, समाजसेवी शशीभूषण कुमार, दीपक चौबे, रमेंद्र राम, राजेश यादव, बबलू राम, उपेंद्र कुशवाहा, प्रमोद चन्द्रवँशी, नवनीत कुमार, ऊदल कुमार आदि थे।

मनरेगा योजना
मनरेगा रोजगार

दूसरी ओर, प्रखंड क्षेत्र के जयंतीपुर पंचायत में मनरेगा से आहर का जिर्णोद्धार मुखिया उमा चंद्रवंशी व उपमुखिया सोना देवी के देख रेख में प्रारंभ किया गया। करीब अस्सी मजदूरों को काम पर लगाया गया है। मजदूरों में आहर का कार्य शुरू होने पर खुशी है। वही किसानों को डंगरा आहर के जिर्णोद्धार होने से करीब चार सौ एकड़ भूमि सिंचित हो जाएगी। किसानों ने बताया कि पहले पहाड़ का पानी आहर में नहीं ठहरता था। सीधा सोन में चला जाता था। पानी का स्टाॅक नहीं रहने से धान भी बचाना मुश्किल हो जाता था, लेकिन अब गेंहू का फसल भी सिचिंत हो जाएगा। जलस्तर भी कम नहीं होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!