सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

विधायक ने कहा, विरासत संरक्षण जरूरी / क्रीड़ाभारती के प्रतियोगी सम्मानित / पर्यावरण सुरक्षा जागरूकता को बनी मानवश्रृंखला

विधानसभा में रखेंगे सोनघाटी धरोहर संरक्षण और पुरा-उत्खनन का मुद्दा : सत्यनारायण सिंह यादव

पुरा-सामग्री का अवलोकन करते विधायक सत्यनारायण सिंह यादव और उन्हें जानकारी देते सोनघाटी पुरातत्व परिषद के सचिव कृष्ण किसलय। साथ में परिषद के पदाधिकारी, सदस्य।

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। विधायक सत्यनारायण सिंह यादव ने यह आश्वासन दिया कि वह अपने विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सोन-घाटी के अर्जुन बिगहा, लेरुआ आदि गांवों में मौजूद धरोहरों के संरक्षित किए जाने और अर्जुन बिगहा में उत्खनन का मुद्दा विधानसभा में उठाएंगे। श्री सिंह ने सोनघाटी पुरातत्व परिषद की बिहार इकाई से परिषद द्वारा खोजे गए पुरा-स्थलों और पुरा-सामग्रियों की जानकारी परिषद के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद सरावगी की अध्यक्षता में जयहिंद परिसर में हुई बैठक में प्राप्त की। श्री सिंह को सोनघाटी पुरातत्व परिषद की ओर से सोनघाटी क्षेत्र के पुरा-अवलोकन का स्मार-पत्र सौंपाकर बताया गया कि संरक्षण और जागरूकता के अभाव में सोन नदी के अंचल में मौजूद धरोहरें नष्ट हो रही हैं। यह बताया गया कि यूनेस्को की रिपोर्ट है, तीन दशकों से 50 हजार पुरातात्विक महत्व की मूर्तियां आदि भारत से तस्करी की जा चुकी हैं और सिर्फ भारतीय पुरा-सामग्री तस्करी का अंतरराष्ट्रीय तस्करीभूमिगत कारोबार 40 हजार करोड़ रुपये सालाना है, जिसके पीछे सामाजिक जागरुकता का अभाव भी एक बड़ी वजह है।
सोनघाटी पुरातत्व परिषद के सचिव कृष्ण किसलय ने बताया कि बुद्धकाल से पहले के सोनघाटी के प्रागैतिहासिक काल और कैमूर पर्वत की तलहटी में आदमी के आरंभिक सभ्यता की तमीज सीखने की साक्ष्य आधारित जानकारी जुटाने की दिशा में परिषद प्रयासरत है। बताया कि सोन नदी के पाश्र्व में इतने महत्वपूर्ण धरहोर-स्थल है कि एक समृद्ध टुरिस्ट सर्किल बनाया जा सकता है। बेहतर सप्रमाण आधिकारिक टुरिस्ट गाइड की भूमिका निभाने में परिषद की टीम सक्षम है। संयुक्त सचिव अवधेश कुमार सिंह ने जानकारी दी कि सोनघाटी के इतिहास लेखन के साथ सोन अंचल की प्रागैतिहासिक मानवीय गतिविधियों के सापेक्ष लोकोक्तियों के संग्रह का कार्य भी परिषद कर रहा है। कोषाध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव की ओर से विधायक सत्यनारायण सिंह यादव को परिषद का स्मृति-चिह्न सौंपा गया। बैठक की चर्चा में परिषद के उप सचिव उपेन्द्र कश्यप, नंदकुमार सिंह, निशांत राज, रामनारायण सिंह के साथ विशेष आमंत्रितों में प्राचीन इतिहास के अध्येता वरिष्ठ अधिवक्ता प्रदीप कुमार सिंह और चित्रगुप्त समाज के ट्रस्टी आलोक कुमार श्रीवास्तव भी उपस्थित थे।

(रिपोर्ट : निशांत राज, तस्वीर : रामनारायण सिंह)

ग्रामीणों खेलों को संरक्षण की दरकार

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। क्रीड़ा भारती की दक्षिण बिहार इकाई द्वारा आनलाइन सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में अग्रणी स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के सम्मान में संतपाल स्कूल सभागार में स्कूल के छात्र-छात्राओं कृष्णा शर्मा, आदित्य सिन्हा, आयुष पटेल, अभिषेक कुमार, अविनीश कश्यप, सोनिया कुमारी, रीमा कुमारी, अभिषेक गौरव, उज्जवल कुमार, रीतिक कुमार, लोकेश उपाध्याय, शुभ कुमार, रजनीश कुमार, सुन्दरम ओझा, अर्चित, आकाश, सौरव, शुभम, पीयूष, अमन, अभिनव, संध्या, प्रिंस अमरेश, मनीष और अली का सम्मान समारोह में स्मृति-चिह्नï, प्रशस्ति-पत्र देकर किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक क्रीड़ा भारती के प्रांतीय अध्यक्ष राजेश्वर राज ने कहा कि खेल-कूद की सांस्कृतिक संस्था क्रीड़ा भारती की नींव हनुमान जयंती के दिन रखी गई थी, क्योंकि संपूर्ण प्राचीन भारतीय वाग्मय में महावीर हनुमान को ही सबसे बड़ा खिलाड़ी माना गया है। क्रीड़ा भारती की आधा घंटा की सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में देशभर से करीब 50 हजार विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया था। सूर्य नमस्कार को दैनिक जीवन में अपनाने को बल दिया, क्योंकि सूर्य-किरणें अनेक त्वचा रोगों से मुक्ति मिलती है और विटामिन-डी मिलता है।
समारोह के विशिष्ट अतिथि संतपाल विद्यालयसमूह के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा ने विद्यार्थियों से खेल-कूद में सक्रिय भागीदारी का आह्वान करते हुए कहा कि यह वैज्ञानिक तौर पर सिद्ध हो चुका है कि स्वस्थ शरीर में ही बुद्धि का ज्यादा विकास होता है और खेल-कूद से स्वास्थ्य को बढ़ाता है। क्रीड़ा भारती का उद्देश्य हाकी, कबड्डी, खो-खो, फुटबाल के साथ विलुप्त हो रहे ग्रामीण खेलों को भी बढ़ावा-संरक्षण देना है। कार्यक्रम का संचालन क्रीड़ा भारती के प्रांत सह मंत्री अभिषेक कुमार पाण्डेय ने किया। आरंभ में समारोह का उद्घाटन राजेश्वर राज, डा. एसपी वर्मा, भाजपा के पूर्व विधायक जवाहर प्रसाद, संघ चालक प्रो. मुद्रिका सिंह, विजय तुलस्यान, क्रीड़ा भारती के दक्षिण बिहार के सह मंत्री रोहित वर्मा, अवधेश कुमार और विवेकानंद ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया। अंत में क्रीड़ा भारती की दक्षिण बिहार इकाई के सह मंत्री एवं संतपाल स्कूल के प्रबंधक रोहित वर्मा ने धन्यवाद-ज्ञापन किया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार)

मानवश्रृंखला में स्कूलों के साथ सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों की भी भागीदारी

सासाराम/डेहरी-आन-सोन (रोहतास)/दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी टीम। पर्यावरण संरक्षण और सामाजिक कुरीतियों के विरुद्ध जागरूकता के राज्यव्यापी अभियान के अंतर्गत आधा घंटा की मानवश्रृंखला में सोन नद अंचल के रोहतास और औरंगबाद जिलों के स्कूलों के शिक्षकों-विद्यार्थियों, सरकारी दफ्तरों के कर्मियों, राजनीतिक संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ स्वयंसेवी सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने भी हिस्सा लिया। राष्ट्रीय और राज्यराजमार्ग पर मानवश्रृखंला का पर्यवेक्षण हेलीकाप्टर से किया गया। डेहरी-आन-सोन में सनबीम पब्लिक स्कूल, जनता बालिका विद्यालय सहित डेहरी-डालमियानगर के विद्यालयों के विद्यार्थियों-शिक्षकों द्वारा शहर के मुख्य सड़कों, राष्ट्रीय राजमार्ग पर मानवश्रृंखला बनाई गई। सनबीम स्कूल के प्रबंध निदेशक राजीव रंजन, जनता बालिका विद्यालय के प्राचार्य जगनारायण पांडेय, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों सोन कला केेंद्र, सोनघाटी पुरातत्व परिषद, डेहरी चेस क्लब, चित्रगुप्त समाज, डेहरी चैंबर्स आफ कामर्स, चैंबर्स आफ कामर्स, इंड़ियन बुलियन ज्वेलर्स के पदाधिकारियों दयानिधि श्रीवास्तव, जीवन प्रकाश, नंदकुमार सिंह, अरुण शर्मा, श्रवण कुमार अटल, प्रो. रणधीर सिन्हा, अमित कश्यप बबल, धीरज कश्यप टिंकू आदि ने मानवश्रृंखला के लिए स्थानीय निवासियों को प्रेरित करने का कार्य किया। जबकि सासाराम में संतपाल स्कूल परिसर में, नोखा प्रखंड अंतर्गत मेयारी बाजार में सिद्धेश्वर पब्लिक स्कूल, सिद्धेश्वर बीएड कालेज में संतपाल विद्यालय समूह के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा, प्रबंध निदेशक रोहित वर्मा, प्राचार्य अराधना वर्मा, वीणा वर्मा, शिक्षक-शिक्षिकाओं अर्जुन कुमार, सुमिता आईच, विनीता श्रीवास्तव, माधुरी सिंह आदि ने मानवश्रृंखला में भागीदारी के लिए विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए बताया कि मानवश्रृंखला से संबंधित मुद्दें मानव जीवन के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।
दाउदनगर, औरंगाबाद में विद्या निकेतन विद्यालय समूह, ज्ञान ज्योति शिक्षण केेंद्र, विवेकानंद विद्यालय समूह, भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रासद बीएड कालेज, ज्ञानज्योति शिक्षण संस्थान सहित अन्य निजी और सरकारी विद्यालयों के विद्यार्थियों-शिक्षकों ने मानवश्रृंखला में भाग लिया। विद्यालय निकेतन विद्यालयसमूह के अध्यक्ष सुरेश कुमार गुप्ता, सीईओ आनंद प्रकाश, डिप्टी सीईओ विद्या सागर, ज्ञान ज्योति के डा. चंचल कुमार आदि ने विद्यार्थियों को भागीदारी के लिए प्रेरित किया।
(रिपोर्ट : निशांत राज/अर्जुन कुमार, तस्वीर : अर्जुन कुमार/रामनारायण सिंह)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!