सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

शीत-प्रकोप : फिल्मोत्सव की तिथि बढ़ी / रंगयात्रा के कलाकारों को सलाम / पटना-बनारस कार रैली / बालविद्या मंदिर की सांस्कृतिक प्रस्तुति

शीतलहर के मद्देनजर बढ़ी आईसीएफएफबी-2020 की तिथि

दाउदनगर (औरंगाबाद)-कार्यालय प्रतिनिधि। बिहार अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्म उत्सव-2020 (आईसीएफएफबी) की तिथि शीतलहर और सदी की ठंड के मद्देनजर एक माह आगे बढ़ा दी गई है। इसकी घोषणा फिल्मोत्सव के आयोजकों की ओर से दाउदनगर में की गई। आयोजन के मुख्य संरक्षक विद्या निकेतन विद्यालय समूह के अध्यक्ष सुरेश प्रसाद गुप्ता ने कहा कि आईसीएफएफबी-2020 में विद्यार्थियों की प्रतिभागिता और भयंकर सर्दी के प्रकोप का ख्याल रखकर आयोजक टीम ने विमर्श के बाद इसका समय एक माह आगे बढ़ाए जाने का फैसला लिया। संरक्षक एवं विद्या निकेतन विद्यालय समूह के सीईओ आनंद प्रकाश ने कहा कि हम फिल्मोत्सव की तैयारी को लगभग अंतिम रूप दे चुके थे, मगर अप्रत्याशित ठंड वृद्धि के कारण प्रायोजकों की सहमति से यह फैसला लेना पड़ा। आयोजक संस्था धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन के निदेशक एवं फिल्मोत्सव के संयोजन अध्यक्ष डा. धर्मवीर भारती ने बताया कि फिल्मोत्सव 4, 5. 6 जनवरी को होना निर्धारित था और सारी तैयारी इसी हिसाब से चल रही थी। मगर भीषण ठंड अवरोध बनकर खड़ा हो गया तो आईसीएफएफबी-2020 को अब 7, 8, 9 फरवरी को करने का निर्णय हुआ। इसकी सूचना फिल्म निर्माताओं को दे दी गई है। फिल्मोत्सव में फिल्मों को शामिल किए जाने की अंतिम तिथि अब 15 जनवरी कर दी गई है। आईसीएफएफबी-2020 बिहार में होने वाला अंतरराष्ट्रीय स्तर का प्रथम फिल्मोत्सव है, जिसमें बच्चों के लिए बनाई गई देश के साथ विदेशी फिल्में भी प्रदर्शित होंगी। तिथि बढ़ाने की घोषणा-बैठक में आईसीएफएफबी-2020 के संयोजन निदेशक एवं विद्या निकेतन विद्यालय समूह के उप मुख्य कार्याधिकारी इं. आनंद प्रकाश और विद्या निकेतन के प्रशासनिक अधिकारी संदीप कुमार भी थे।
(रिपोर्ट, तस्वीर : निशांत राज)

हाड़कंपाती ठंड में भी हुई कलाकारों की रंगयात्रा में शिरकत

डालमियानगर (रोहतास)-सोनमाटी समाचार नेटवर्क। सदी की सबसे भीषण सर्दी का प्रकोप लगातार जारी है। इसके अगले हफ्ते तक बने रहने की उम्मीद है। जीवन की गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हैं। इस भीषण ठंड की मार और असर वृद्धों-बच्चों के अलावा मजदूरी आधारित कार्य करने वालों पर, ट्रेन-बस में सफर करने वालों पर पड़ी। उत्पादकता घट गई, बाजार थम गया। इसके बावजूद अकस द्वारा डालमियानगर माडल स्कूल में आयोजित अखिल भारतीय नाट्य प्रतियोगिता के अंतर्गत शामिल हुए नाटक और नृत्य कला की संस्थाओं ने शहर परिक्रमा वाला कार्यक्रम रंगयात्रा में कला प्रतिबद्धता का परिचय देते हुए प्रदर्शन किया। शहरवासियों के लिए हाड़कंपाती ठंड में खुली सड़क पर इनका रंग-प्रदर्शन करते हुए गुजरने की जीवटता सलाम करने योग्य थी। रंगयात्रा में मां डांस एकेडमी (गुजरात), फ्रीडम आट्र्स एकेडमी (शाहजहांपुर), रघुनाथ कल्चरल क्लब (बालासोर), भगवतीनाथ संकीर्तन (कांगलूप), द रिद्म (धनबाद), जनारंग जत्था (आरा), समय एकेडमी (भिवंडी), एकलव्य थियेटर (देहरादून), कला निकेतन (धनबाद), जेडीआरएम (ब्लास्टर), नाट्य एकेडमी (शाहजहांपुर), नव सृजन (जमशेदपुर), मासूम आर्ट ग्रुप (डालटनगंज) और शारदा नाट्य मंच (धनबाद) के कलाकारों ने भाग लिया।

तीन दिवसीय कार रैली का जीएनएसयू में स्वागत

डेहरी-आन-सोन/पटना (विशेष संवाददाता)। पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने पटना से अटल पूर्वांचल कार रैली में भाग लेने वाली महिला चालक टीम सहित स्पोट्र्स कार दलों को हरी झंडी दिखाकर बनारस (उत्तर प्रदेश) के लिए विदा किया। पटना से इस कार रैली में बुद्धा आर्गेनाइजेशन आफ वुमेन एवायरनेस एंड रूरल डेवलपमेंट (बोवार्ड) की ओर से तीन महिला कार चालक दल भी शामिल हैं। भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटलविहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर आयोजित होने वाली यह नौंवी कार रैली है, जो पटना से वाराणसी तक जाएगी और वापस पटना लौटेगी। स्पोट्र्स कार रैली राष्ट्रीय राजमार्ग पर पटना से अरवल, डेहरी-आन-सोन, सासाराम और मोहनिया होते हुए बनारस पहुंचेगी और फिर वापस पटना के लिए लौटेगी। इस रैली की संयोजक भाजपा की वरिष्ठ नेत्री अमृता भूषण हैं और इसके यात्रा मार्ग की व्यवस्था अनंजय भूषण और प्रणव शाही ने की है। अमृता भूषण के अनुसार, तीन दिवसीय रैली कार्यक्रम का यात्रा मार्ग करीब 800 किलोमीटर है, जिसमें अग्रणी स्थान प्राप्त करने वाले चालक दल को पुस्रकार दिया जाएगा। कार रैली में तीन दर्जन से अधिक चालक दल भाग ले रहे हैं, जिनमें अधिसंख्य महिलाएं हैं। अमृता भूषण का उनके दल के साथ गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय परिसर (जीएनएसयू) में स्वागत किया गया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह, पीआरओ, जीएनएसयू)

गुजरे को विदाई और आगत के स्वागत में सांस्कृतिक कार्यक्रम

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। बालविद्या मंदिर परिवार और प्रगतिशील कायस्थ समाज की ओर से बीते वर्ष (2019) की विदाई और नववर्ष (2020) के आगमन पर मंगलम उत्सव सभागार में संयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारंभ बालविद्या मंदिर के अध्यक्ष इ. नवीन सिन्हा, मुख्य अतिथि प्रो. तारकेश्वर सिंह एवं बालविद्या मंदिर के प्रवक्ता अर्जुन कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आगाज सृष्टि कुमार की गणेश वंदना पर नृत्य प्रस्तुति से हुई। शाश्वत श्रीवास्तव, कुमार आदित्य और शिविका मल्होत्रा, प्रगति आनंद, सर्वेश्वरी, आर्या राज, अनुभा राज, अंशिका सोनी, कुमारी परी, हर्ष मल्होत्रा, वृद्धि कुमारी, अभिषेक अर्जुन, कुमार पीयूष, उज्जवल काश्यप, अभिजीत अर्जुन, अंशिका राज, आदित्य राज, कुमारी पलक ने नृत्य, गायन की प्रस्तुति की। सांस्कृतिक कार्यक्रम का संचालन अर्जुन कुमार और शंकर श्रीवास्तव ने किया। इसके संयोजन में प्रज्ञा सिंहा, शंकर श्रीवास्तव, संजय सिंह, मोहन बाबू, राकेश बघेल, डा. प्रवीण सि0ंहा, मीना सिन्हा, नीलम साहू, संजय गुप्ता, नरेंद्रदत्त मिश्रा, प्रत्युष बघेल, राज राजेश्वर, कुमारी अपूर्वा, सीमा कुमारी, कुमारी साक्षी, पूनम श्रीवास्तव, अग्नि सिन्हा ने सहयोग किया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!