सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

सुखद : रोहतास के विदेशी प्रवासी कोरोना निगेटिव / अब दाउदनगर में भी पढ़ाई की आनलाइन व्यवस्था / एनएमसीएच पहुंचा विधिक सेवा प्राधिकार दल

दिल्ली के तबलीगी जमातियों पर है प्रशासन की निगाह

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)/दाउदनगर (औरंगाबाद)-कार्यालय प्रतिनिधि। यह सुखद समाचार है कि रोहतास जिला के विदेशी प्रवासी कोरोना निगेटिव पाए गए हैं। 10 मार्च से 23 मार्च के बीच जिला के विभिन्न हिस्सों में विदेश से 189 लोग अपने-अपने शहर-गांव-घर लौटे थे। इनमें से गंभीर लक्षण पाए गए 13 लोग के खून के नमूने जांच के लिए संबंधित प्रयोगशाला में भेजे गए थे। इन सभी के परीक्षण के बाद इनके खून में कोरोना वायरस नहीं पाए गए। कोरिया, इटली, ईरान, स्पेन, जर्मनी, फ्रांस आदि देशों से लौटे सभी 189 लोग अपने-अपने घरों में ही क्वारंटाइन में रखे गए हैं। इसी तरह तीन अन्य लोगों के खून जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजे गए थे, जिनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। इसकी पुष्टि रोहतास के जिलाधिकारी पंकज दीक्षित ने की है। उधर, जिला प्रशासन दिल्ली के तबलीगी जमात में शामिल होने वाले रोहतास के 21 जमातियों की तलाश में है और उन पर निगाह रखने के प्रयास में है। इन 21 में से किसी के रोहतास जिला में उनके संबंधित घरों में लौटने की जानकारी हासिल नहीं हो सकी है। ये या तो निजामुद्दीन में ही हैं या कहीं क्वारंटाइन में हैं या फिर अन्यत्र स्थलों में हैं। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मुस्लिमों के अंतरराष्ट्रीय संगठन तबलीगी जमात से बिहार से संबंधित 86 लोगों की पहली सूची बिहार सरकार को प्राप्त हुई थी, जिनमें 21 रोहतास जिला के हैं। प्रशासन और पुलिस द्वारा इनके मोबाइल फोन टावर लोकेशन और इनकी भौतिक उपस्थिति के जरिये इनका सत्यापन करने का प्रयास किया गया, जो रोहतास जिला में नहीं पाए गए।

लाकडाउन के पालन की अपील :
डेहरी-आन-सोन में नगर थाना परिसर में प्रशासन और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर लाकडाउन का पालन करने और कोरोना वायरस के प्रति सभी समाज के लोगों को घर के बाहर एक-दूसरे से एक मीटर की दूरी बनाए रखने की जागरूकता की अपील की गई। उधर, शहर मोहर्रम कमेटी (डेहरी-डालमियानगर) के सचिव वारिस अली ने मुस्लिम समुदाय से 09 मार्च को शब-ए-बारात का पर्व घर में ही रहकर मनाने और कब्रिस्तान, मस्जिद तक नहींजाने की अपील की है। वारिस अली ने कहा है, कोरोना संक्रमण की इस आपदा में घरों में बने रहना और लाकडाउन का पालन करना ही इबादत है। सांस्कृतिक संचेतना की संवाहक संस्था सोन कला केन्द्र के अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव और सचिव निशान्त राज के अनुसार, डेहरी-आन-सोन के वरिष्ठ चिकित्सक डा. श्यामबिहारी प्रसाद के नेतृत्व में विश्व स्वास्थ्य दिवस पर जनसेवार्थ निशुल्क जांच और चिकित्सकीय सलाह की व्यवस्था उनके प्रसाद हर्ट सेन्टर (पाली रोड) में संकटमोचन स्वास्थ्य सहायता केेंद्र के नाम से विधिवत शुरू की गई, जहां साधारण सर्दी-खांसी-बुखार की श्रेणी से अलग निर्धन मरीजों का इलाज होगा। इसके लिए मरीज पंजीकरण की जिम्मेदारी सोन कला केन्द्र के अध्यक्ष कार्यालय (शंकर लाज, स्टेशन रोड, डेहरी-आन-सोन) को भी सौंपी गई हैं। मरीज पंजीकरण के लिए सोन कला केन्द्र के संबंधित फोन नम्बरों 7762029999, 9955622367, 9931055118, 9931852301 पर संपर्क किया जा सकता है।

एनएमसीएच पहुंचा विधिक सेवा प्राधिकार दल :
डेहरी-आन-सोन से हमारे विशेष संवाददाता के अनुसार, रोहतास जिला विधिक सेवा प्राधिकार का दल कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव की तैयारी का जायजा लेने रोहतास जिला के जमुहार स्थित गोपालनारायण सिंह विश्वविद्यालय (जीएनएसयू) के अंतर्गत संचालित एनएमसीएच (नारायण मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल) पहुंचा और एनएमसीएच के अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड, सैनिटाइजेशन की स्थिति आदि का अवलोकन किया। जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेन्द्र प्रताप सिंह के नेतृत्व में निरीक्षण दल में रोहतास जिला के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी आलोक कुमार पांडेय, अवर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राघवेन्द्र प्रताप सिंह, जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव उमा शंकर भी शामिल थे। निरीक्षण के बाद विधिक सेवा प्राधिकर दल ने जीएनएसयू के संस्थापक कुलाधिपति और राज्यसभा सांसद गोपालनारायण सिंह के साथ एनएमसीएच के प्रबंध निदेशक त्रिविक्रमनारायण सिंह और एनएमसीएच के वरिष्ठ अधिकारियों-चिकित्सकों के साथ वार्ता कर एनएमसीएच में तैयारी के बारे में जानकारी प्राप्त की। अस्पताल प्रबंधन की ओर से बताया गया कि एनएमसीएच में 30 आइसोलेटेड कक्ष तैयार किए गए हैं, जिनमें सौ बिस्तरों की व्यवस्था है। जरूरत पडऩे पर बिस्तर संख्या बढ़ाई जा सकती है।

अब विद्या निकेतन समूह में भी आनलाइन पढ़ाई :
दाउदनगर (औरंगाबाद) से प्राप्त खबर के मुताबिक, कोराना वायरस के संक्रमण प्रसार से बचाव के लिए लाकडाउन के मद्देनजर विभिन्न विद्यालयों ने अपने-अपने विद्यार्थियों के लिए आनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की है। रोहतास जिला के अग्रणी विद्यालय संतपाल सीनियर सेकेेंड्री स्कूल के बाद अब औरंगाबाद जिला के अग्रणी स्कूल संस्कार विद्या ने भी अपने विद्यार्थियों के लिए आनलाइन पठन-पाठन की व्यवस्था की है। विद्या निकेतन विद्यालय समूह द्वारा संचालित इस स्कूल में अध्यक्ष सुरेश प्रसाद गुप्ता, सीईओ आनंद प्रकाश, डिप्टी सीईओ विद्या सागर, प्राचार्य सूरजमोहन लाल दास, प्रशासक संदीप कुमार, तकनीकी सलाहकार अभिनव प्रकाश और अन्य वरिष्ठ अध्यापकों को अलग-अलग संबंधित जिम्मेदारी सौंपी गई है। विद्या निकेतन विद्यालय समूह के प्रबंध का पूरा प्रयास है कि विद्यार्थियों को सफल तरीके से आनलाइन पढ़ाई से जोड़ा जा सके और वे सभी विषयों की समुचित पढ़ाई आनलाइन कर सकेें। सीईओ आनंद प्रकाश के अनुसार, लाकडाउन के कारण स्कूल बंद होने और ट्यूशन की सुविधा भी नहींरह जाने के कारण अब सभी छात्र-छात्राओं के सामने यही रास्ता है। विद्यालय की आनलाइन पढ़ाई की तैयारी पूरी कर ली गई है। अब इसमें अभिभावकों की भूमिका महत्वपूर्ण है कि वे अपने छात्र-छात्राओं को घर पर आनलाइन पढ़ाई के लिए जरूरी संसाधन मुहैया कराएं। उनके अनुसार, विद्या निकेतन विद्यालय समूह की ओर से भी लाकडाउन प्रभावित निर्धन परिवारों को भोजन, खाद्य सामग्री आदि की व्यवस्था लगातार की जा रही है।
(रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज, भूपेन्द्रनारायण सिंह)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!