मिसाल : ग्राम कचहरी के प्रयास से मिले दो परिवार, हुए सालों के कलह से मुक्त

गया (विशेष संवाददाता)। मानपुर प्रखंड के शादीपुर ग्रामपंचायत कचहरी में दो सालों से पारिवारिक कलह से गुजर रहे पति, पत्नी ने अक्टूबर में संबंध-विच्छेद करने का वाद (137/18) दायर किया था। इस ग्राम कचहरी ने छह महीनों में दोनों परिवारों से लगातार वार्ता कर समझौता कराने का कार्य कर परिवार न्यायालय की तरह न्याय के क्षेत्र में एक मिसाल कायम की। शादीपुर गांव के नीतेश कुमार की शादी कोरमा गांव की नीतू कुमारी के साथ हुई थी। दोनों और इनके परिवारों के बीच विवाद ने ऐसा रूप ले लिया था कि नीतू को ससुराल से बाहर कर दिया गया था और नीतेश ने संबंध-विच्छेद का वाद दायर किया था।
सरपंच डाली भारती ने बताया कि अगर यह मामला पुलिस थाना में गया होता तो दोनों परिवारों की ओर से लगाए गए झूठे आरोपों में दोनों परिवारों के कई लोगों को जेल जाना पड़ता या थाना-कचहरी से जमानत लेनी पड़ती। इसके अलावा सालों तक दोनों परिवारों का धन और वक्त बर्बाद होता। दोनों परिवार लगातार अशांति में रहते और दुश्मनी बढ़ती जाती। दोनों परिवारों को समझने, समझाने और मिलाने का अनुकरणीय कार्य में ग्रामकचहरी की उप सरपंच बेबी देवी, न्याय सचिव विजय शर्मा, पंचों व ग्रामीणों (रामदहिनयादव आदि) ने अग्रणी भूमिका का निर्वाह किया।

(रिपोर्ट, तस्वीर : डा. धर्मवीर भारती)

 

व्यावहारिक प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षु शिक्षकों के दल को किया रवाना

मेयारी बाजार नोखा (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। रोहतास जिला के नोखा प्रखंड के मेयारी बाजार स्थित सिद्धेश्वर कालेज आफ टीचर्स एजुकेशन के चेयरमैन डा. एसपी वर्मा ने बीएड के 50 प्रशिक्षुओं को पाठ योजना के अन्तर्गत विद्यालयी अनुभव के लिए हरी झंडी दिखाकर सिद्धेश्वर कालेज परिसर से रवाना किया। इस अवसर पर डा. वर्मा ने कहा कि सफल शिक्षक होने के लिए सैद्धांतिक ज्ञान के साथ प्रशिक्षण के तहत व्यावहारिक रूप से प्रशिक्षित होना जरूरी है। शिक्षक समाज के अग्रणी अभिकर्ता होते हैं, इस नाते प्रशिक्षुओं की बेहतर सफलता की कामना है।
बीएड कालेज के प्राचार्य डा. मृदुलराणा प्रताप सिंह ने विद्यालय कार्य अनुभव को साझा करते हुए कहा कि शिक्षकों को विद्यार्थियों के हित में कुछ न कुछ नया सृजन करते रहना पड़ता है। इस अवसर पर प्राइवेट स्कूल्स चिल्ड्रेन वेल्फेयर एसोसिएशन के रोहतास जिला अध्यक्ष रोहित वर्मा के साथ बीएड कालेज के अध्यापक गण उपस्थित थे।

(रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार, मीडिया प्रभारी)

 

यज्ञ के लिए जलभरी कलश यात्रा, धार्मिक प्रवचन के साथ रासलीला का मंचन

अमरातलाब (सासाराम)-सोनमाटी संवाददाता। दस दिवसीय श्रीशतचंडी आदित्य महायज्ञ की जलभरी कलश यात्रा में महिलाओं सहित सैकड़ों श्रद्धालुअ शामिल हुए। अमरा तलाब स्थित अमरेश्वरी माता के मंदिर से सासाराम प्रखंड की सीमा जमुहार नदी पर पहुंचकर वहां बक्सर से जल लेकर पहुंचे कांवरियों के जत्था के साथ मिलन हुआ और जमुहार नदी से जलभरी यात्रा करवंदिया, बांसा, अमरा तलाब बाजार होते हुए अमरातलाब स्थित सूर्य मंदिर यज्ञशाला परिसर में पहुंचा। जलभरी यात्रा का नेतृतव प्रखंड प्रमुख रामकुमारी देवी और यज्ञ समिति के अध्यक्ष संजीव उपाध्यक्ष राजू सिंह, सचिव कामेश्वर चंद्रवंशी, कोषाध्यक्ष विजयशंकर गुप्ता सहित समिति से सदस्यों ने किया। यज्ञ में वृंदावन के कलाकारों द्वारा रासलीला का मंचन और मैहर के धार्मिक विद्वानों का प्रवचन होगा।

 

अरविंद दिव्यांश स्थापनी की दूसरी वार्षिकी समारोहपूर्वक संपन्न

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता। पाली रोड में सोन नद तट स्थित श्रीअरविन्द सोसाइटी केेंद्र परिसर में महर्षि अरविंद के पवित्र दिव्यांश स्थापना का द्वितीय वार्षिक उत्सव समारोहपूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर सत्संग और सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी संयोजन किया गया।

संगीतकार संजय श्रीवास्तव ने अपनी टीम के साथ गायन-वादन का कार्यक्रम प्रस्तुत किया। रीवा (मध्य प्रदेश) के अरविंद दर्शन के व्याख्याता त्रियुगी नारायण सहित अन्य विद्वानों ने समाज के हित में अरविंद के दर्शन के योगदान पर प्रकाश डाला। पिछले पुड़ुचेरी से श्री अरविंद के दिव्यांश को लाकर यहां स्थापित किया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.