शतंरज : गुलशन ने बिसात पर चली सफल चाल, पाया पूर्ण अंक

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। पाली रोड स्थित रामकृष्ण आश्रम परिसर में उन्नीस वर्ष से कम उम्र वर्ग के शतरंज खिलाडिय़ों की तीन दिवसीय जगदीशप्रसाद चौरसिया-फूलकुमारी देवी मेमोरियल शतरंज प्रतियोगिता का समापन 25 नवम्बर की शाम में होगा, जिसका आयोजन हर साल की तरह इस साल भी डेहरी चेस क्लब कर रहा है।

23 नवम्बर से शुरू छह चक्र की इस प्रतियोगिता में डेहरी-आन-सोन, सासाराम और आस-पास के विद्यालयों के  खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। इस चेस कंपटीशन का समापन 25 नवंबर को शाम 5 बजे होगा। कुल छ: चक्र के खेल में प्रति दिन दो चक्र खेल होंगे।

23 नवम्बर : तीन दिवसीय शतरंज प्रतियोगिता का आरंभ

डेहरी-आन-सोन। पहले चक्र के शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी गुलशन कुुमार (डीएवी, कटार) ने विश्वजीत सिंह (माडल स्कूल, डालमियानगर) को हराया और प्रतियोगिता में निर्धारित पूर्ण अंक प्राप्त किया। अन्य खिलाडिय़ों में सचिन कुमार ने परवेज आलम को, शिवम जोशी ने आदित्य कुमार को, ऋतिक रौशन ने अभिराज को, आदर्श कुमार राय ने कमल कुमार को, राहुल कुमार ने आशु चौरसिया को, आयुषी चौहान ने अस्मिता को, पीयूष कुमार ने आयुष पटेल को, रवि कृष्णन ने आर्यन कुमार को हराकर पूर्ण अंक प्राप्त किया।
आरंभ में मुख्य अतिथि अग्रणी कारोबारी अरुण गुप्ता और डेहरी चेस क्लब के अध्यक्ष सत्यनारायण सिंह ने शतंरज खेलकर प्रतियोगिता की शुरुआत की। इस प्रतियोगिता के आयोजन में डेहरी चेस क्लब के संरक्षक कार्यपालक अभियंता विनय चंचल, संयोजक दयानिधि श्रीवास्तव भरतलाल, स्वयंप्रकाश मिश्र सुमंत, सचिव नंदकुमार सिंह और अन्य पदाधिकारियों-सदस्यों सुरेंद्र प्रसाद यादव, अरविंद पटेल, धनंजय कुमार सिंह, शंकर कुमार, आनंदकुमार पांडेय, आलोक कुमार के साथ व्यवसायी सुरेंद्रकुमार चौरसिया, कुंजबिहारी सिन्हा मन्ना, डीएवी सासाराम के शिक्षक कृष्णकुमार सिंह और शिवानंद शर्मा ने अपना-अपना सहयोग प्रदान किया।

(रिपोर्ट : नंदकुमार सिंह)

24 नवम्बर : दूसरे दिन चार खिलाडिय़ों ने बढ़त बनाई, 15 होंगे पुरस्कृत

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। प्रतियोगिता के दूसरे दिन खेल के तीन चक्र समाप्त हुए, जिसमें चार खिलाडिय़ों ने बढ़त बनाई। इस प्रतियोगिता में अग्रणी पांच खिलाडिय़ों को नगद पुरस्कार राशि के साथ ट्राफी और दस खिलाडिय़ों को सांत्वना पुरस्कार के रूप में ट्राफी प्रदान किया जाएगा।
दूसरे दिन तीसरे चक्र के खेल में सासाराम डीएवी के सचिन कुमार (3 अंक) ने शुभम पटेल (2 अंक) को, कटार डीएवी के आकश कुमार (3 अंक) ने जवाहरलाल नेहरू कालेज के राहुलु कुमार (2 अंक) को, सासाराम डीएवी के अंकित वर्मा (3 अंक) ने कटार डीएवी के ऋतिक रौशन (2 अंक), सासाराम डीएवी के रवि किशन (3 अंक) ने डालमियानगर माडल स्कूल के सनी राज (2 अंक) को हराकर शीर्ष स्थान पर रहे।
तीसरे चक्र के शंतरज खेल के अन्य खिलाडिय़ों में बिट्टू कुमार (2 अंक) ने अनिकेत कुमार (1.5 अंक) को, विश्वजीत सिंह (2 अंक) ने सौरभ कुमार (01 अंक) को, अभिराज सिंह (2 अंक) ने आदित्य कुमार (01 अंक) को, मनीष कुमार सिंह (02 अंक) ने आयुष पटेल (01 अंक) को, गुलशन कुमार 2 अंक) ने किशन कुमार (01 अंक), शिवम जोशी (2 अंक) ने श्रेष्ठ प्रसाद (01 अंक) को, प्रियेश कुमार (2 अंक) ने आदर्श कुमार (01 अंक) और विवेक कुमार (2 अंक) ने आयुषी चौहान (01 अंक) को पराजित किया।

(रिपोर्ट : नंदकुमार सिंह)

 

बक्सर में आंचलिक इतिहास सम्मलेन 30 नवम्बर को

बक्सर (बिहार)-सोनमाटी समाचार। रंगश्री और क्रिएटिव हिस्ट्री ट्रस्ट द्वारा आयोजित आंचलिक इतिहास सम्मेलन का आयोजन 30 नवम्बर को किया गया है, जिसमें स्थानीय इतिहास में रुचि रखने वाले, स्थानीय इतिहास लेखन में सक्रिय लेखक भाग लेंगे। बक्सर ग्रामीण लेखक इतिहासकार सम्मेलन का आयोजन प्रति वर्ष पंचकोशी मेला के अवसर पर दौरान किया जाता है। इस बार रामायण चौबे स्मृति लोक व्याख्यान का भी आयोजन किया गया है, जिसमें युवा इतिहासकार लक्ष्मीकांत मुकुल अपना व्याख्यान प्रस्तुत करेंगे और प्रसिद्ध लेखक हरिनंदन कुमार अध्यक्षता करेंगे। देवेन्द्र चौबे की ओर से सोनमाटीडाटकाम को प्राप्त सूचना के अनुसार, इस कार्यक्रम के संयोजक कुमार नयन, विमल कुमार (बक्सर), कृष्णानन्द चौबे (अहिरौली) के साथ रश्मि चौधरी, महेन्द्र प्रसाद सिंह, देवेंद्र चौबे, दीपक राय, आखिलेश पांडेय, शशांक शेखर, वैदेहीशरण श्रीवस्ताव, श्याम जी, गणपत तेली, उज्जवल आलोक सहयोगी हैं।

 

मोहम्मद साहब का जन्मदिन परंपरा के साथ संपन्न, जगह-जगह बांटा गया तबर्रुक

  • डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता। पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब का जन्मदिन मस्जिदों में सुबह के नमाज के बाद कुरानखानी और मिलाद-उन-नबी के साथ संपन्न हुआ। शहर के कई घरों में कुरान पाठ के साथ सब-रुक बांटने का काम किया गया। इन आयोजनों में हिन्दुओं ने भी हिस्सा लिया, जिन्हें तबर्रुक (प्रसाद) खिलाया गया और गुलाब का फूल से इस्तकबाल (भेंट, स्वागत, सम्मान) किया गया। मुबारकबाद देने का काम दिन भर चला। बारह पत्थर मस्जिद से राष्ट्रीय एकता व सद्भावना के लिए जुलूस मुख्य बाजार से होकर अंबेडकर चौक, जक्की बीघा, स्टेशन रोड, पाली रोड होते हुए थाना चौक पर खत्म हुआ। विभिन्न कमेटियों द्वारा तबर्रुक का वितरण किया गया। इस क्रम में स्टेशन रोड मस्जिद के सामने इंडियन मुस्लिम यूथ कमिटी की ओर से गरीबों में कंबल भी बांटे गए। स्टेशन रोड के रमजान मंजिल के सामने नौजवान मिलत कमिटी ने भी तबर्रुक बांटने का इंतजाम किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *