सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

भ्रष्टाचार चरम पर, राज हुआ कुशासन/ करगिल विजय के 21वर्ष

जदयूू में सब ठीक नहीं, चुनाव की तैयारी करें कार्यकर्ता : कुशवाहा

(सबसे बायें श्यामविहारी राम)

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। रोहतास जिला के चेनारी आरक्षित विधानसभा क्षेत्र के पूूर्व विधायक श्यामविहारी राम ने कहा कि 2010 में जदयू के टिकट पर विधायक के चुने जाने और पिछले एक दशक से इस शासक दल (जदयू) में सक्रिय रहने के बावजूद यह पार्टी इसलिए छोड़ रहे हैं कि अब बिहार में सुशासन नहीं, कुशासन की सरकार हो गई है। श्री राम ने यह बात रालोसपा के प्रमुख पूर्व केेंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के समक्ष जदयू छोड़कर रालोसपा में आने की घोषणा करने के बाद कही। इस मौके पर उपेन्द्र कुशवाहा ने उपस्थित रालोसपा के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं का आह्ववान किया कि पूूर्व विधायक, जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष श्यामविहारी राम का जदयू छोड़कर रालोसपा में आना यह बता रहा है कि जदयू में नीतीश कुमार की नीति से असंतोष है और सब कुछ ठीक नहीं है। श्री कुशवाहा ने डिहरी विधानसभा क्षेत्र सहित अन्य विधानसभा क्षेत्रों से भी चुनाव की तैयारी में जी-जान से जुट जाने और मतदाताओं से सघन संपर्क रखने का आह्वान किया।


रालोसपा कार्य-नीति के अनुुकूल : राम

(उपेंद्र कुशवाहा के साथ सीमा कुशवाहा)

अपने संबोधन मेंं पूर्व विधायक श्यामविहारी राम ने कहा कि हर छोटे-बड़े कार्यालयों, चाहे शहरी-ग्रामीण निकाय हों या अंचल-प्रखंड हों, में भ्रष्टाचार चरम पर है और सरकार आंख मुंदे हुए है। योजनाएं फेल हैं। सोन अंचल के जिलों रोहतास, औरंगाबाद में बालू-गिट्टी के कारोबार स्थानीय स्वरोजगार लोगों के हाथ से निकलकर माफियाओं के आगोश में चले जाने के कारण लाखों लोग बेरोजगार हो गए। चुनाभट्ठा कैनाल रोड स्थित होटल में मीडिया प्रतिनिधियों के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि रालोसपा की नीति को वह अपने कार्य-सिद्धांत के अनुकूल पाने की वजह से इस पार्टी में आए हैं। इस पार्र्टी ने देश में या कम-से-कम बिहार से इस बात की आवाज उठाने वाली पार्टी है कि शिक्षा, लोकसेवा, चुुनाव आयोग की तरह न्यायिक सेवा आयोग बनना चाहिए। जदयू नेतृत्व वाली सरकार राज्य में सिर्फ मीडिया की विज्ञापन ब्रांडिंग के आधार पर अपनी छवि बनाए हुए है, धीरे-धीरे अब इस बात की पोल भी खुल चुकी है। कोरोना आपदा में सरकार फेल रही है। सरकार ने प्रवासी बिहारियों को आरंभ में राज्य में आने से रोके रखा और जब जीते-मरते हुए प्रवासी बिहारी अपने वतन, अपने घर लौटने लगे तब अंत में सरकार ने बुलाने का फैसला लिया, जिससे सरकारी कु-प्रबंधन और अ-दूरदर्शिता उजागर हो गई। श्यामविहारी राम के रालोसपा में आने की घोषणा के समय उपेंद्र कुशवाहा के साथ पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष वीरेंद्र कुशवाहा, महासचिव मालती सिंह कुशवाहा, प्रदेश उपाध्यक्ष अखिलेश्वर सिंह, प्रदेश महासचिव कामेश्वर सिंह, प्रदेश सचिव सीमा कुशवाहा, संगठन सचिव बनारसी कुशवाहा, रोहतास जिला अध्यक्ष रवीन्द्र सिंह कुशवाहा, जिला सचिव संतोष चंद्रवंशी, डिहरी नगर अध्यक्ष मुन्ना कुशवाहा, रोहतास प्रखंड अध्यक्ष रघुनाथ सिंह आदि मौजूद थे।

रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज

कारगिल विजय के 21 वर्ष, वीरों के प्रति श्रद्धा-भाव

डालमियानगर/सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। कारगिल विजय के 21वें वर्ष दिवस पर विभिन्न संस्थाओं ने देश के जांबाज सैनिकों और सैन्य-शक्ति के प्रति भरोसा व्यक्त करते हुए अपने सैनिकों के अभूूूतपूूूर्व शौर्य का स्मरण किया। प्राइवेट स्कूल एंड चिलड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री डा. एसपी वर्मा, रोहतास उद्योग समूह के डालमियानगर परिसर के प्रभारी एआर वर्मा, मोहिनी समूूह के उदय शंकर, सनबीम स्कूल के प्रबंध निदेशक राजीव रंजन सिन्हा, लायन्स क्लब आफ सासाराम के अध्यक्ष रोहित वर्मा, सोन कला केेंद्र के अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव, चित्रगुप्त समाज कल्याण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष विकास कुमार सिन्हा, कामधेनु समूह के अरूण कुमार गुप्ता, पूूूर्व जिला परिषद अध्यक्ष सत्येन्द्र प्रसाद सिंह, सोना ज्वेलर्स के अमित कश्यप, अटैची सेंटर के गुुलजार फिरदौसी, रिजवान अली ने कारगिल विजय के 21 वर्ष पर भारतीय योद्धाओं की वीरता के प्रति श्रद्धा-भाव व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!