सकास नरकंकाल : अंडमान से सिंधु वाया सोनघाटी, सभ्यता-यात्रा की सबसे पुरानी कहानी

  पटना/डेहरी-आन-सोन (बिहार)-सोनमाटी टीम। बिंध्य पर्वतश्रृंखला की कड़ी कैमूर की तलहटी में स्थित बिहार के रोहतास जिला अंतर्गत सकास गांव

Read more

जिज्ञासा : पृथ्वी पर क्या सचमुच दस्तक दे चुके हैं दूसरे ग्रहवासी एलियन !

विज्ञान लेखक : कृष्ण किसलय (समूह संपादक सोनमाटी मीडिया ग्रुप) क्या सचमुच सुदूर अंतरिक्ष से अपनी आकाशगंगा या किसी दूसरी

Read more

उपचुनाव : कौन बनेगा डिहरी विधानसभा क्षेत्र का महारथी ?

डेहरी-आन-सोन (रोहतास, बिहार)-विशेष प्रतिनिधि। बिहार के पूर्व पथ निर्माण मंत्री, डिहरी के विधायक इलियास हुसैन के चुनाव लडऩे से अयोग्य

Read more

बिहार : गठबंधन के राजनीतिक परिदृश्य में निर्णायक कौन?

–समाचार विश्लेषण/कृष्ण किसलय– लोकसभा चुनाव में राजनीतिक दृष्टिकोण से 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश के बाद 40 सीटों वाले बिहार

Read more

सलेक्ट : देश के यंग मैनेजर बने मैनेजरियल एक्सीलेंस के विद्यार्थी, एनबीटी ने की कृष्ण किसलय की पुस्तक प्रकाशित

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। जमुहार स्थित गोपालनारायण सिंह विश्वविद्यालय (जीएनएसयू) के अंर्तगत संचालित नारायण एकेडमी आफ मैनेजरियल एक्सीलेंस केआठ छात्र-छात्राओं का

Read more

सुनो मैं समय हूं : विषय के बीजारोपण से पुस्तक प्रकाशन तक 15 सालों का सफर

नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया (दिल्ली) जैसे अन्तरराष्ट्रीय प्रसार वाले भारत के सबसे बड़े बहुभाषी (30 भाषाओं से अधिक) प्रकाशन संस्थान

Read more

क्यों जरूरी है किसी भी मातृभाषा, लोकभाषा का व्यवहार में बना रहना ?

हर भाषा अपने समाज, अपने समय के साथ गुजरे हुए समय की व्यवहार-परंपरा, संस्कृति का इतिहास-कोष, विरासत होती है। उसके

Read more

सोन घाटी में इतिहास का सफर : नागवंशियों के रोहतागढ़ से मुगलवंशियों के ताजमहल तक

वाट्सएप पर झारखंड के अध्यापक, लेखक और स्थानीय इतिहास के अन्वेषणकर्ता अंगद किशोर (जपला, हुसैनाबाद) ने टिप्पणी की है- बहुत

Read more

अफ्रीका से सोन-घाटी : स्याह गुफाओं में कोहबर के हजारों साल बाद दमकते ‘सात फेरेÓ तक !

डेहरी-आन-सोन (बिहार)-विशेष प्रतिनिधि। आप बिहार के सोन नद अंचल की 21वीं सदी के सबसे बड़े सामाजिक-सांस्कृतिक समाचार से रू-ब-रू हैं।

Read more

समाज ने क्या दिया : 20वींसदी के आठवें-नौवें दशक में आंचलिक रंगमंच का चर्चित नाटक

समर्पण : ‘समाज ने क्या दियाÓ के प्रथम संस्करण (1977) को इसके लेखक (कृष्ण किसलय) ने सोनमाटी-प्रेस (प्रिंटिंग मशीन) के

Read more