38 साल पहले : धरोहर है सोनमाटी का बहुचर्चित प्रेमचंद जन्मशती विशेषांक

38 साल पहले हिन्दी कथासम्राट के विशेषण से भूषित महान उपन्यासकार-कहानीकार-पत्रकार प्रेमचंद की जन्मशती वर्ष के अवसर पर भारत के

Read more

पानी इतना कि चलते थे पांच हजार जलपोत, आज बूंद-बूंद के लिए तरस रहीं सोन नहरें

डेहरी-आन-सोन (बिहार)-कृष्ण किसलय। भारत की प्रसिद्ध सोन नहर प्रणाली के होने के बावजूद जलसंकट के कारण बिहार और झारखंड के

Read more

कविता के कलमकार : कृष्ण किसलय, मनोज मित्र, कुमार बिंदु, चितरंजन भारती, मिथिलेश दीपक

उन्होंने लिखा था ———————- ….सोनमाटी में स्व. प्रेमचंद के व्यक्तित्व और साहित्य पर बहुत महत्वपूर्ण सामग्री संकलित हुई है। अभी

Read more

इप्टा प्लैटिनम जुबली : स्वतंत्र निर्भीक अभिव्यक्ति आज बेहद मुश्किल

इप्टा के प्लैटिनम जुबली कार्यक्रम के अंतर्गत लोकतंत्र का भारतीय माडल, संस्कृति और मीडिया विषय पर वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश का

Read more