सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

बिना परीक्षा पास होंगे विद्यार्थी/ गांव का बीएड कालेज टापर/ हर स्कूल में लगे सीसीटीवी/ मंत्री से उद्योग-धंधे की मांग/ पत्रकार महासंघ का क्षोभ

बिना परीक्षा पास होंगे आठवीं तक के विद्यार्थी

पटना (निशान्त राज)। बिहार में कोई एक साल बाद बंद रहे विद्यालयों की रौनक एक मार्च से लौट आई, क्योंकि प्राथमिक कक्षाएं शुरू होने के बाद नन्हें बच्चे स्कूल परिसरों में पहुंचने लगे हैं। सरकार ने फैसला लिया है कि पहली से आठवीं तक के छात्र-छात्राओं को बिना परीक्षा अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। कोरोना संकट काल में लाकडाउन के चलते लगातार स्कूल बंद रहने और बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। स्कूल बंद होने के कारण बच्चे घर पर ही पढ़ाई कर रहे थे। यह फैसला सभी निजी और सरकारी विद्यालयों के लिए लागू होगा। हालांकि अभिभावक छोटे बच्चों को स्कूल भेजना चाहते हैं या नहीं, इसका फैसला अभिभावक ही करेंगे। मुख्य सचिव ने स्कूलों को कोरोना गाइड लाइन का गंभीरता से पालन करने का निर्देश दिया है। अभिभावक के नहीं चाहने पर स्कूल प्रशासन दबाव नहीं बना सकता।
प्रदेश में सबसे पहले 9वींसे 12वीं तक की कक्षाएं 04 जनवरी से शुरू की गईं। फिर 08 फरवरी को छठवीं से आठवीं तक स्कूल खोलने का फैसला लिया गया। अब एक मार्च से पहली से पांचवीं तक के बच्चों को भी स्कूल भेजने की अनुमति दी जा चुकी है। राज्य सरकार के मुख्य सचिव दीपक कुमार के अनुसार, स्कूलों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए 50 फीसदी बच्चे ही एक दिन में उपस्थिति होंगे। शैक्षणिक नुकसान की भरपाई के लिए तीन महीने की विशेष कक्षाएं चलेंगी, ताकि अगली कक्षा में जाने पर विद्यार्थियों को ज्यादा परेशानी नहीं हो। इससे आनलाइन क्लास नहीं कर सकने वालों बच्चों को फायदा होगा। राज्य में सरकारी स्कूलों में कक्षा-एक से आठवीं कक्षा में पढऩे वाले करीब 1.6 करोड़ विद्यार्थी हैं। अप्रैल 2020 में भी शिक्षा विभाग ने कोरोना के कारण बिना परीक्षा कक्षा-एक से नौ और कक्षा 11 के विद्यार्थी प्रमोट किए गए थे। राज्य सरकार की ओर से जारी किए गए निर्देश के अनुसार, सभी सरकारी विद्यालयों में सभी शिक्षकों के लिए स्कूल आना अनिवार्य है और स्कूल कक्षाओं को पूरी तरह से सैनिटाइज कर विद्यार्थियों को मास्क दिए जाने के बाद ही कक्षा संचालन किया जाना है। स्कूल में विद्यार्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य है और 06 फीट की दूरी पर उनके बैठने की व्यवस्था की जानी है।

मेयारी बाजार का सिद्धेश्वर बीएड कालेज मेधा सूची में

(डा. एसपी वर्मा)

मेयारी बाजार (नोखा)-कार्यालय प्रतिनिधि। रोहतास जिला में गांव मेयारी बाजार में स्थापित सिद्धेश्वर कालेज आफ टीचर्स एजुकेशन के विद्यार्थियों ने बीएड (प्रथम वर्ष) की परीक्षा में सर्वोच्च अंक प्राप्त किया है। वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा द्वारा संचालित प्रथम वर्ष की परीक्षा में इस शिक्षण संस्थान के अनेक विद्यार्थियों के नाम मेधा सूची में दर्ज हुए हैं। अनुष्का श्रीवास्तव ने 537 अंक, आरती कुमारी ने 535 अंक और मुन्नी कुमारी, ट्विंकल रानी, विक्की कुमार ने 534 अंक प्राप्त कर क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त किया है। बीएड कालेज के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा ने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में स्थापित यह कालेज उत्कृष्ट मानक पर आरंभ से ही खरा उतरता रहा है। महानगरों के बीएड कालेजों की तुलना में इस संस्थान में ग्रामीण इलाका में होने के बावजूद पठन-पाठन, प्रयोगशाला की बेहतर सुविधा है। महाविद्यालय को भविष्य में ग्रामीण विश्वविद्यालय में उत्क्रमित करने का लक्ष्य है, जहां एक साथ विभिन्न पाठ्यक्रमों का संचालन होगा। कालेज के निदेशक राहुल वर्मा के अनुसार, शिक्षण प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों के लिए यहां संचालित होने वाला डाउट क्लास उनकी दक्षता वृद्धि का उपक्रम है। बीएड मेंंमहाविद्यालय में प्रवेश के लिए रैंकिंग माक्र्स भी रोहतास जिला में सबसे ऊंची रही है। प्रशिक्षु विद्यार्थियों के इस सफलता पर सचिव वीणा वर्मा और प्राचार्य मृदुल राणा ने भी हर्ष जताया है।

विद्यालयों के लिए सीसीटीवी जरूरी : एसडीएम

सासाराम (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। अनुमंडलाधिकारी मनोज कुमार ने निजी विद्यालय संचालकों को विद्यालयों में सीसीटीवी कैमरा लगाए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि इससे असामाजिक तत्वों पर निगाह रखने में विद्यालय प्रबंधक को और समुचित कार्रवाई में पुलिस को सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि पुलिस को अनुसंधान और विधि-व्यवस्था में नागरिक सहयोग की जरूरत होती है। नागरिकों का सहयोग प्राप्त हो तो पुलिस के पीडि़त के न्याय दिलाने में आसानी हो जाती है। मनोज कुमार सासाराम अनुमंडल अंतर्गत सभी निजी विद्यालयों के प्रबंधकों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बहुउद्देशीय सभागार में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक को सासाराम अनुमंडल के डीएसपी बिनोद राउत, प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की रोहतास जिला इकाई के अध्यक्ष रोहित वर्मा, उपाध्यक्ष सुभाष कुमार कुशवाहा, सचिव समरेंद्र कुमार, सह सचिव संग्राम कांत, महामंत्री अनिल कुमार शर्मा, कोषाध्यक्ष कुमार विकास प्रकाश, संयोजक धनेन्द्र कुमार, जनसम्पर्क पदाधिकारी दुर्गेश पटेल और विभिन्न प्रखंडों के पदाधिकारियों ने भाग लिया।

उद्योग मंत्री से मिला डेहरी-आन-सोन का शिष्टमंडल

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। भाजपा के वरीय नेता और जनकल्याण मोर्चा के अध्यक्ष अजय कुमार सिंह के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन से भेंटकर सरकार की जमीन पर कुटीर उद्योग, लघु उद्योग खोले जाने की मांग की है। गुजरी सदी में डेहरी-आन-सोन औद्योगिक क्षेत्र था, मगर आज बेरोजगारी बहुत अधिक है। छोटे उद्योग-धंधे वालों के लिए बैंकों का रवैया नकारात्मक ंहै। बैंक उद्योग के लिए ऋण देने में सरकार की नीतियों की अनदेखी करते हैं और छोटे उद्यमियों की उपेक्षा करते हैं। अजयकुमार सिंह के अनुसार, मंत्री शाहनवाज हुसैन ने डेहरी-आन-सोन का दौरा कर बिहार सरकार की जमीन का निरीक्षण करने और उद्योग-धंधे की संभावना को तलाशने का आश्वासन दिया।

पुलिस लीपापोती कर रही मामले की लीपापोती

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश)-सोनमाटी समाचार नेटवर्क। एक दैनिक अखबार के संपादक संतोष कुमार के घर में आधी रात कोबेखौफ बदमाशों ने घुसकर महिलाओं और पुरुषों को मारपीट कर घायल किया, घर का सामान तोड़-फोड़ दिया। जब घटना की जानकारी फोन द्वारा मुठीगंज पुलिस स्टेशन को दी गई, तब पुलिस ने शिकायतकर्ता पीडि़त परिवार (संपादक) के ही दो पुरुषों को थाना ले गई। भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ ने इस घटना कड़ी निंदा करते हुए क्षोभ व्यक्त किया है। महासंघ ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने और उच्चाधिकारियों से घटना की निष्पक्ष जांच करने की मांग की है। महासंघ का मानना है कि पुलिस किसी खुन्नस को लेकर घटना की नई कहानी गढ़ लीपापोती करना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!