सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

बिहार में जनता राज, एनएमसीएच में अमितशाह लाइव/ आनलाइन नृत्य प्रतियोगिता/ सुविधानुसार जमा करें स्कूल फीस

जंगल राज को जनता राज में बदला : अमित शाह

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-विशेष संवाददाता। गृहमंत्री अमित शाह ने वर्चुअल रैली के रूप में प्रचारित लाइव जनसंवाद कार्यक्रम के जरिये बिहार में चुनावी प्रचार का शंखनाद किया। अमित शाह ने कहा कि भाजपा ने अपने सहयोगी राजनीतिक दलों के साथ मिलकर बिहार में ला एंड आर्डर कायम किया, जनता राज की स्थापना की, जो पहले जंगल राज के लिए जाना जाता था। केेंद्र सरकार ने बिहार को सवा लाख करोड़ रुपये दिए, जिससे सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य क्षेत्र में हुए काम दिख रहे हैं। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत एक करोड़ परिवारों का इलाज हुआ और उज्जवला योजना से 08 करोड़ वंचित महिलाओं के परिवारों को सदियों की धुंए की सांसत से मुक्ति मिली। कोरोना काल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के नेतृत्व में राज्य सरकार ने 8530 करोड़ रुपये जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाया गया। बिहार के प्रवासी मजदूर देश की नींव हैं, जिनके पसीने की महक विकसित राज्यों के विकास में शामिल है। उन्होंने कहा कि लालबहादुर शास्त्री के बाद नरेंद्र मोदी दूसरे ऐसा नेता हैं, जिनके एक अपील पर जनता कप्र्यू के लिए पूरा देश एक हो गया। अमित शाह ने बताया कि भारत ने सरहद पर दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया गया। देश में धारा-370 को खत्म कर दशकों पुरानी समस्या का समाधान किया गया। ट्रिपल तलाक जैसी महिला अपमान की प्रथा को बिल पारित कर खत्म किया गया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राममंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ।

एनएमसीएच सभागार में गोपालनारायण सिंह ने सुना प्रसारण

(गोपालनारायण सिंह के साथ भाजपा के पदाधिकारी-कार्यकर्ता)

रविवार की शाम चार बजे आयोजित उनके डिजिटल प्रसारण को सुनने की व्यवस्था जमुहार स्थित नारायण चिकित्सा महाविद्यालय (एनएमसीएच) के सभागार में भी कोविड-19 के अनुशासन के अंतर्गत और सिनेमाघर की तरह बड़े स्क्रीन (पर्दा) के साथ की गई। अमित शाह के लाइव प्रसारण को सुनने के लिए एनएमसीएच सभागार में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता, राज्यसभा सांसद गोपालनारायण सिंह और भाजपा के वरिष्ठ युवा नेता त्रिविक्रमणनारायण सिंह के साथ रोहतास जिला भाजपा के उपाध्यक्ष विवेक कुमार, भाजपा युवा मोर्चा के नेता रोहित राज, अमरेश कुमार सिंह, अविनाश कुमार सिंह आदि दर्जनों पार्टी पदाधिकारी-कार्यकर्ता उपस्थित थे।

रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह, पीआरओ, एनएमसीएच,
इनपुट : निशांत राज, कार्यालय प्रतिनिधि, सोनमाटीडाटकाम

तीन समूह में आनलाइन नृत्य प्रतियोगिता 14 जून को

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। आनलाइन चित्रांकन प्रतियोगिता के बाद अब विद्यार्थियों के लिए सोन कला केेंद्र ने आनलाइन नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन 14 जून को किया है। यह फैसला सोन कला केेंद्र की सनबीम स्कूल परिसर में हुई बैठक में लिया गया। आनलाइन नृत्य प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों को व्हाट्सएप ग्रुप का लिंक दिया जाएगा, जिसके जरिये वे अपना वीडियो परफार्मेंस भेजेंगे। प्रतियोगिता तीन समूह-क (कक्षा पांच तक), समूह-ख (कक्षा छह से आठ) और समूह-ग (कक्षा नौ से दस) की होगी और हर समूह के लिए नृत्य का समय दो मिनट का होगा। तीन समूहों के लिए तीन-तीन गीत होंगे, जिन पर प्रतिभागियों को अपना नृत्य प्रस्तुत करना है। प्रस्तुत वीडियो के आधार पर निर्णायक-मंडल का फैसला होगा। बैठक में सोन कला केेंद्र के संरक्षक राजीव रंजन, अनुभा सिन्हा, अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव, कार्यकारी अध्यक्ष जीवन प्रकाश, उपाध्यक्ष उपेंद्र कश्यप, अरुण शर्मा, कोषाध्यक्ष राजीव कुमार, सह सचिव सत्येंद्र गुप्ता, सह कोषाध्यक्ष नंदकुमार सिंह, गोपा घोष, अनुभव आनंद, नीतीश पाठक आदि शामिल थे।

रिपोर्ट, तस्वीर : निशांत राज

स्कूल फीस के सुविधानुसार भुगतान का है आदेश : डा. एसपी वर्मा

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। मिडिया के एक हिस्से में उच्च न्यायालय पटना में दायर एक जनहित याचिका का हवाला देकर यह खबर प्रकाशित-प्रसारित की गई कि तीन महीने का शिक्षण शुल्क माफ कर दिया गया है, जो तथ्य से परे है। इस संबंध में प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश महामंत्री और संतपाल स्कूल के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा का कहना है कि जनहित याचिका की सुनवाई में उच्च न्यायालय ने जिलाधिकारी (पटना) द्वारा 10 अप्रैल को जारी पत्रादेश को निरस्त नहीं किया और याचिका-कर्ता को चार हफ्ते में समस्या को बिहार सरकार के पास रखने को कहा है। डा. वर्मा ने बताया कि पटना के जिलाधिकारी के 10 अप्रैल के पत्र में शिक्षण शुल्क न लेने का जिक्र नहीं है, बल्कि उसमें लाकडाउन की अवधिमें बकाई फीस का भुगतान एक साथ के बजाय किस्त में माह दर माह करने की बात है।

अभिभावक फीस भुगतान कर सहयोग करें : रोहित वर्मा

इस बीच, रोहतास के जिला शिक्षा पदाधिकारी प्रेमचंद द्वारा निजी विद्यालय में शुल्क भुगतान के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किया गया है। प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रोहित वर्मा ने जिलाधिकारी पंकज दीक्षित और जिला शिक्षा पदाधिकारी प्रेम चंद्र को पत्र-निर्देश जारी कर प्रचार-अफवाह पर विराम लगाने के लिए धन्यवाद दिया है। जिलाधिकारी के आदेश में कहा गया है कि लाकडाउन की अवधि में किसी माह का फीस उसी माह में ही जमा करने और फीस जमा नहींहोने पर नाम काटने का दबाव कोई विद्यालय नहींबना सकता। रोहित वर्मा ने निजी विद्यालयों के अभिभावकों से अपील की है कि वे विद्यार्थियों के शुल्क का भुगतान सुविधानुसार करते रहें, क्योंकि शुल्क से ही शिक्षकों और कर्मचारियों का वेतन दिया जाता है।

खुलने पर रद्द हों स्कूलों की छुट्टियां : शमायल अहमद

उधर, पटना में प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री को 13 सूत्री मांग-सुझाव पत्र सौंपकर विद्यालय बंद होने से विद्यार्थियों की पढ़ाई के नुकसान की ओर ध्यान आकृष्ट कराया है। एसोसिएशन का सुझाव है कि विद्यालयों के खुलने पर पर्व-त्योहार और अन्य छुट्टी रद्द की जाए और दसवीं-बारहवीं के लिए अतिरिक्त कक्षा की अनुमति दी जाए, ताकि पिछड़ी हुई पढ़ाई पूरी की जा सके। खुलने की तिथि की अग्रिम सूचना हो, ताकि विद्यालय परिसर सैनिटाइजेशन किए जा सकें। जिन विद्यालयों के वाहनों को सरकार द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिए उपयोग हुआ हैै, उसे सरकार सैनिटाइज कर वापस करे। छात्र-छात्रा, शिक्षक, कर्मचारी के लिए फेसमास्क, पेपरशोप, पाकेट हैंडवाश आदि अनिवार्य हो और एक बेंच पर दो विद्यार्थी के बैठने की अनुमति हो।

रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार, मीडिया प्रभारी, प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर
एसोसिएशन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!