सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

रक्तदान बेहद महत्वपूर्ण, जिंदगी बचाता है यह महादान

दाउदनगर (औरंगाबाद)-सोनमाटी समाचार। रक्तदान दुनिया के महादानों में बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि यह दान जिंदगी बचाता है। इस भाव के साथ रक्तदान के प्रति जागरूकता का संदेश देते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राजद की राष्ट्रीय नेता डा. कांति सिंह ने विश्व स्वास्थ्य दिवस पर अनुमंडल अस्पताल में आयोजित रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया। रक्तदान शिविर के महत्व को रेखांकित करते हुए डा. कांति सिंह ने अधिक से अधिक लोगों से रक्तदान की अपील की। शिविर का उद्घाटन डाक्टर कांति सिंह के साथ बिहार के पूर्व मंत्री सुरेश पासवान और राजद आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. प्रकाश चंद्रा (भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के सचिव) ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

रक्तदान के बाद भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के सचिव डा. प्रकाश चंद्रा ने  कहा कि रक्तदान बड़ा दान है। प्रति वर्ष दुर्घटना में करीब 5 हजार गरीबों की मौत खून के अभाव के कारण होती है। सरकार जागरूकता अभियान चलाती है, पर रक्तदान के प्रति आज भी समाज में जागरूकता कम है। रक्तदान में कोई शारीरिक नुकसान नहीं होता है।

रक्तदान करने वालों में पूर्व मुखिया राधेश्याम सिंह, भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज के व्याख्याता अमित कुमार, एकाउंटेंट निशांत कुमार, अनुज कुमार, दाउदनगर कॉलेज छात्र संघ के अध्यक्ष लोकनाथ कुमार, पत्रकार ओमप्रकाश, संतोष अमन, रवि कुमार मिश्रा, समाजसेवी चिंटू मिश्रा, बसंत कुमार, दीपक राज, एरीना कुमारी, पूनम कुमारी, सुजीत कुमार, जितेंद्र कुमार, विकास कुमार, आशुतोष कुमार सहित दर्जनों लोग शामिल हुए। रक्तदान करने के बाद भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कालेज की छात्रा रचना कुमारी, पूनम कुमारी, अंकिता कुमारी आदि ने कहा कि स्वस्थ लोगों को आगे बढ़कर रक्तदान करना चाहिए। शरीर से निकला खून सप्ताह भर में तैयार हो जाता है।
अनुमंडल अस्पताल परिसर में अस्पताल के प्रभारी डीएस सह प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. मनोज कुमार कौशिक, अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक ठाकुर चंदन सिंह, पीएचसी के स्वास्थ्य प्रबंधक विकास शंकर, एकाउंटेंट सुनील कुमार, प्रभारी प्रधान सहायक रमावल्लभ कुमार और औरंगाबाद से पहुंची ब्लड बैंक की टीम के समन्वय से रक्तदान करने पहुंचे दर्जनों युवक-युवतियों से खून संग्रह किया गया। डीपीएम कुमार मनोज ने पहुंच कर शिविर का जायजा लिया। इस मौके पर छात्र राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष सुमित कुमार यादव, युवा राजद के प्रखंड अध्यक्ष बसंत बादल, छात्र राजद नेता लोकनाथ कुमार यादव, समाज सेवी चिंटू मिश्रा, सनोज यादव, राव मनीष यादव, प्रशांत इंद्रगुरु आदि बतौर रक्तदान प्रेरक मौजूद थे।

दक्ष युवाओं से ही होता है समाज का नवनिर्माण

दाउदनगर (औरंगबादा)-सोनमाटी समाचार। राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी सात निश्चय योजना अंतर्गत बागीशा एजुकेशनल ट्रस्ट द्वारा संचालित कुशल युवा केंद्र से प्रशिक्षण पा चुके 120 युवाओं को समारोह का आयोजन कर प्रमाणपत्र प्रदान किया गया। भगवान प्रसाद शिवनाथ प्रसाद बीएड कॉलेज में आयोजित इस समारोह के उद्घाटन भाषण में अनुमंडल पदाधिकारी अनीस अख्तर ने कहा कि बिहार सरकार के सात निश्चय के अंतर्गत जारी कुशल युवा कार्यक्रम का ध्वज संदेश (आर्थिक हल युवाओं के बल) अपने-आप में बिहार के नवनिर्माण की सबल भावना से लैस है। सरकार की इस योजना का लक्ष्य युवाओं में दक्षता विकास (स्किल डेवलपमेंट)है, ताकि प्रशिक्षित युवा सम्मानजनक पारिश्रमिक वाली नौकरी पा सकें।
बीएड कालेज के सचिव डा. प्रकाश चंद्रा ने कहा कि बेरोजगारी बड़ी समस्या है। बेरोजगार युवाओं का भटकाव अंतत: समाज का ही भटकाव है, क्योकि युवा ही समाज और देश की अगली पंक्ति के पतवार बनते हैं। बेहतर उद्यमी ही अपने और समाज के अन्य सदस्यों के लिए रोजगार का सृजन करता है। उन्होंने युवाओं से उद्यम और लक्ष्य प्राप्ति के लिए सघन श्रम करने का आह्वान किया।

प्रमाणपत्र वितरण समारोह का संचालन अजयकुमार पांडेय ने किया। इस मौके पर बीएड कालेज के स्किल डेवलपमेंट प्रशिक्षक प्रियंका कुमारी, अजय कुमार, राजन मिश्रा, बीएड कॉलेज के व्याख्याता पंकज कुमार, अमित कुमार, रामचंद्र यादव, अनूप कनौजिया, मो. सुहैल, एकाउंटेंट निशांत कुमार के अलावे पूर्व मुखिया राधेश्याम सिंह, दाउदनगर कालेज छात्र संघ अध्यक्ष लोकनाथ यादव आदि मौजूद रहे।

 

(वेब रिपोर्ट  : निशांत राज, तस्वीर : ओम प्रकाश)

 

मगध के प्रमुख धार्मिक-सांस्कृतिक केंद्र देवकुंड पर डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म
हसपुरा (औरन्गाबाद)-सोनमाटी समाचार। बौद्ध और मुगल काल में औरंगाबाद और अरवल जिले के सिवान पर बसा देवकुंड मगध में विशेष स्थान रखता था। इसी कारण विदेशी आक्रांताओं ने इस क्षेत्र को ज्यादा नुकसान पहुँचाया। आयुर्वेद व औषधीय जड़ी-बूटियों का प्रयोगशाला था देवकुंड। मठ परंपरा अभी तक मौजूद है। इस पर डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म देवकुंड अगस्त (सावन महीने) में रिलीज़ किया जाएगा।
यह डॉक्यूमेंट्री मगध क्षेत्र के प्रमुख स्थलों पर डॉक्यूमेंट्री बनाने वाले निर्देशक धर्मवीर भारती देवकुंड मठ के मठाधीस  कन्हैयानंदपुरी और क्षेत्र के जनता के सहयोग से बना तीन वर्षों में शूटिंग के 70 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है।

 देवकुंड के  इतिहास को जाने बिना मगध को जानना अधूरा होगा। देवकुंड प्राचीन काल में भी महत्वपूर्ण रहा है। बिखरे भग्नावशेष इसके मगध के महत्वपूर्ण स्थल होने का मज़बूत प्रमाण है। यहां मठ परंपरा का आज भी सक्रिय है।  फ़िल्म का निर्माण विदेशी यात्रियों के दस्तावेज और पत्रकार अभय कुमार के शोध के आधार पर किया जा रहा है।
(वेब रिपोर्ट, तस्वीर : शम्भूशरण सत्यार्थी)

 

 


Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!