सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

नान-इंटरलाकिंग : रेल सुरक्षा आयुक्त ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए निर्देश

डालमियानगर (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। भारतीय रेल  के मुख्य रेलसुरक्षा आयुक्त राम कृपाल ने डेहरी-आन-सोन और सोननगर के रेल स्टेशनों के बीच चल रहे नान-इंटरलाकिंग कार्य का रेल यातायात सुरक्षा के निर्धारित मानक की दृष्टि से निरीक्षण किया और रेलवे के उच्च अधिकारियों को कार्य को निर्धारित सीमा के भीतर पूरा कर लेने का निर्देश दिया, ताकि रेलयात्रियों को लंबे समय तक परेशानी नहीं झेलनी पड़े। मुख्य सुरक्षा आयुक्त ने कहा कि सुरक्षा मानदंड की अनदेखी बर्दाश्त नहींकी जाएगी।

नान-इंटरलाकिंग कार्य के कारण गया-दीनदयालउपाध्याय रेल खंड के इस रेल-रूट पर डेहरी-आन-सोन से गुजरने वाली 68 यात्री रेलगाडिय़ां प्रभावित हुई हैं और एक सप्ताह (30 अक्टूबर तक) डेहरी-आन-सोन से गुजरने वाली करीब दो दर्जन ट्रेन तो रद्द कर दी गई हैं।
रेल जोन के दोनों मंडलों के अधिकारियों के साथ की बैठक

भारत सरकार के  मुख्य रेलसुरक्षा आयुक्त राम कृपाल ने रूट-रिले इंटरलाकिंग हाउस, स्टेशन परिसर, विद्युत अभियांत्रिकी और रेल ट्रैक सिस्टम का निरीक्षण किया। रेलसुरक्षा आयुक्त ने हाजीपुर रेल जोन कार्यालय और पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल कार्यालय से आए अधिकारियों के साथ बैठक कर मेंटेनेंस कार्य की प्रगति की समीक्षा कर जरूरी निर्देश भी दिए। बैठक में भारत सरकार के उप सुरक्षा आयुक्त (भारतीय रेल), पूर्व-मध्य रेल जोन (हाजीपुर) के मुख्य अभियंता (संकेत व दूरसंचार) यशपाल सिंह, हाजीपुर रेल जोन के मुख्य अभियंता (निर्माण) राजेश कुमार सिंह, पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेल मंडल (मुगलसराय) के मंडल प्रबंधक पंकज सक्सेना, वरिष्ठ अभियंता (संकेत व दूरसंचार) ब्रजेश यादव, जोनल मुख्य यातायात प्रबंधक, वरिष्ठ लेखा अधिकारी, रूट-रिले इंटरलाकिंग कार्य के नोडल अधिकारी,  धनबाद रेल मंडल के मंडल प्रबंधक और अन्य अधिकारी शामिल थे। नान-इंटरलाकिंग कार्य समय पर पूरा हो सके इसके लिए मुगलसराय के रेल मंडल प्रबंधक पंकज सक्सेना ने डेहरी-आन-सोन में शिविर डाल रखा है।

दूर के साथ नजदीक का सफर करने वाले हजारों यात्री परेशान
डेहरी-आन-सोन स्टेशन पर प्रतिदिन लगभग तीन लाख रुपये की टिकटों की होने वाली बिक्री पर विराम लगा हुआ है।

इस स्टेशन से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा है।

कार्यालयों, कचहरियों, दुकानों-प्रतिष्ठानों में करने वाले लोगों को रेलगाडिय़ां बंद रहने से परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

लंबी दूरी की रेलगाडिय़ों के अलावा पैसेंजर ट्र्रेन भी रद्द की गई हैं, जो डेहरी-आन-सोन रेलस्टेशन पर नहीं आएंगी।

फ्रेट रेल कारीडोर है डेहरी-आन-सोन से गुजरने वाली ग्रैंडकार्ड रेललाइन

डेहरी-आन-सोन में रेल ट्रैक का एन-आई (नान-इंटरलॉकिंग) और मेंटेनेंस कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है और रेलवे प्रशासन का प्रयास है कि इस घोषित अवधि तक यह कार्य हर हाल में पूरा कर लिया जाए। डेहरी-आन-सोन स्टेशन पर ऊपरगामी पैदल पुल को सील कर दिया गया है और पूर्वी व पश्चिमी केबिन भी बंद कर दिए गए हैं।  डेहरी-आन-सोन से गुजरने वाली ग्रैंडकार्ड रेललाइन दरअसल देश का एक फ्रेट रेल कारीडोर है, जहां से हर रोज दर्जनों ट्रेनें ही नहीं बल्कि सौ की संख्या तक भी मालगाडिय़ां गुजरती हैं। एन-ई (नान-इंटरलाकिंग) का कार्य पूरा हो जाने के बाद रूट-रिले इंटरलाकिंग केबिन के संचालन की उपयोगिता खत्म हो जाएगी। इससे ट्रैक स्लाटिंग में लगने वाले समय में बचत होगी और इस रेल-सेक्शन की क्षमता भी बढ़ जाएगी। इससे मानव संसाधन की भी जरूरत कम हो जाने से मानवीय भूल न्यूनतम हो जाएगी।

(रिपोर्ट : कुमार अरुण, तस्वीर : वीरेन्द्र पासवान)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!