सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) : रेणु को जन्मशती वर्ष पर नई पीढ़ी आखिर क्यों याद करे?

-0 प्रसंगवश 0–रेणु को जन्मशती वर्ष पर नई पीढ़ी आखिर क्यों याद करे?-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) फणीश्वरनाथ रेणु की जन्मशती

Read more

भारत की पहली पन-चक्की/ पूरा हुआ अंतरिक्ष यात्री प्रशिक्षण/ औरंगाबाद की सुगंधा इंटर टापर

भारत की पहली पन-चक्की : कल देश का अभिनव इतिहास, आज धरोहर डेहरी-आन-सोन (रोहतास)/ दाउदनगर (औरंगाबाद)-निशान्त राज। विश्वविश्रुत सोन नहर

Read more

डायनासोर की वंशज हैं चिडिय़ा/ कोरोना प्रसार : स्कूल बंद नहीं होंगे, एहतियात पर जोर

डायनासोर की ‘थेरापाड’ प्रजाति की वंशज हैं चिडिय़ा कृष्ण किसलय की विज्ञान के इतिहास की चर्चित पुस्तक ‘सुनो मैं समय

Read more

भारत यायावार की साहित्यग्राम यात्रा, ‘सुनो मैं समय हूं’ का विमोचन/ अर्थहीन होते आनलाइन आयोजन/ होलीमिलन रद्द

बिहार के सबसे समर्थवान कथाशिल्पियों में थे रेणु : यायावर डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-निशान्त राज। फणीश्वरनाथ रेणु संपूर्ण हिन्दी साहित्य में आंचलिकता

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) : अंधविश्वास से मुक्ति दिलाने में विज्ञान की सर्वोच्च भूमिका

-0 प्रसंगवश 0-अंधविश्वास से मुक्ति दिलाने में विज्ञान की सर्वोच्च भूमिका-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनघाटी) तीन साल पहले वर्ष 2019 में

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) : सघन साल वन के संकटग्रस्त वासी, पेड़-पूजक कोरवा आदिवासी

-0 प्रसंगवश 0-सघन साल वन के संकटग्रस्त वासी, पेड़-पूजक कोरवा आदिवासी-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) सोनघाटी में कैमूर पर्वत की उपत्यका

Read more

(सभ्यता-यात्रा/कृष्ण किसलय) : भारत के अति प्राचीन इतिहास का भूगोल सोनघाटी

-0 सभ्यता-यात्रा 0-भारत के अति प्राचीन इतिहास का भूगोल सोनघाटी-कृष्ण किसलय (संपादक : सोनमाटी) सोनमाटी (प्रिंट) में प्रकाशित और सोनमाटीडाटकाम

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) : गया विष्णुपद मंदिर का प्रबंध अब पंडा समाज के हाथ में नहीं !

-0 प्रसंगवश 0-गया विष्णुपद मंदिर का प्रबंध अब पंडा समाज के हाथ में नहीं !-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) बिहार के

Read more

मंत्रिमंडल विस्तार के मायने/ मिस्र की महारानी के मकबरे की तलाश

मंत्रिमंडल विस्तार में समीकरण साधने का सूत्र पटना (निशान्त राज)। अंतत: कोई तीन महीनों में बिहार मंत्रिमंडल का विस्तार कर

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) सभ्यता-यात्रा : अंडमान से सरस्वती-सिंधु भाया सोन-घाटी !

-0 प्रसंगवश 0-सभ्यता-यात्रा : अंडमान से सरस्वती-सिंधु भाया सोन-घाटी!-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) ईसा-पूर्व रोमन दार्शनिक-राजनीतिक मार्कस टुलियस सिसरो ने कहा

Read more
Click to listen highlighted text!