अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव की तैयारी अंतिम चरण में / संतपाल स्कूल में नामांकन प्रक्रिया शुरू

प्रतियोगिता में प्रदर्शित होंगी देश-विदेश की 35 फिल्में

दाउदनगर (औरंगाबाद)-कार्यालय प्रतिनिध। बिहार में पहली बार आयोजित अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव की तैयारी अब अंतिम चरण में है। विद्यानिकेतन विद्यालय समूह का नालेज सिटी परिसर के समारोह के लिए सजाया जा रहा है। इस फिल्मोत्सव के लिए आस्ट्रेलिया, अमेरिका, जर्मनी के साथ वालीवुड के फिल्म अभिनेता-अभिनेत्रियों और विभिन्न प्रदेशों के दर्जनों अभिनेता-अभिनेत्रियों, निर्देशकों, लेखकों-पत्रकारों ने विजुअल शुभकामनाएं दी हैं। पटना के प्रसिद्ध गणितज्ञ सुपर-30 के संचालक आनंद कुमार और वरिष्ठ फिल्म अभिनेता अखिलेंद्र मिश्र समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन और विद्या निकेतन विद्यालय समूह द्वारा तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्मोत्सव-2020 दाउदनगर में 7, 8, 9 फरवरी को बाल विषयों पर लघु फीचर, एनिमेशन और डाक्युमेंट्री फिल्में प्रदर्शित होंगी। फिल्मोत्सव-2020 के संयोजन अध्यक्ष धर्मवीर फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन के निर्देशक डा. धर्मवीर भारती और विद्या निकेतन विद्यालय समूह के मुख्य कार्याधिकारी आनंद प्रकाश ने बताया कि अमेरिका, इंग्लैंड और नेपाल में निर्मित तीन फिल्मों सहित 35 फिल्में प्रदर्शन के लिए सूचीकृत की गई हैं। इनमें 24 फिल्में प्रतियोगिता का हिस्सा होंगी। प्रतियोगिता श्रेणी में प्रदर्शित फिल्मों के लिए लेखन, निर्देशन, अभिनय, निर्माण-प्रस्तुति, तकनीकी दक्षता आदि के लिए 12 पुरस्कार दिए जाएंगे।
(रिपोर्ट, तस्वीर : निशांत राज)

जुड़ा नया अध्याय, बना इतिहास

दाउदनगर (औरंगाबाद) स्थित संस्कार विद्या परिसर में अंतरराष्ट्रीय बाल फिल्म महोत्सव के आयोजन से उत्तर मुगलकालीन इस शहर में इतिहास का नया अध्याय जुड़ गया है। औरंगजेब के सिपहसालार, बिहार के गवर्नर दाउद खां कुरैशी द्वारा बसाए गए दाउदनगर में बच्चों की वैश्विक स्थिति और सरोकार के विभिन्न पहलुओं पर फिल्म कला-तकनीक के जरिये मंथन-मनन के लिए तैयार नालेज सिटी परिसर में प्रतियोगिता और प्रतियोगिता से अलग बाल फिल्में प्रदर्शित होने जा रही हैं। एक अप्रैल : अल्कोहल फ्रीडम डे आफ बिहार (डा. धर्मवीर भारती) से समारोह का आरंभ और मुंबई में बनी विकास बहल निर्देशित, ऋतिक रोशन अभिनीत चर्चित फिल्म ‘सुपर थटीÓ के विशेष प्रदर्शन से समापन होगा। तीन दिनों के समारोह में विदेश में बनी तीन फिल्में लेडीज मोस्ट डिजेक्ट (मार्क सल्येर, ब्रिटेन), जर्नी आफ सोल (आयुष आनंद, जर्मनी) और पाराडोक्स (अरुण शर्मा, नेपाल) विशेष तौर पर प्रदर्शित की जाएंगी, जो प्रतियोगिता से अलग होंगी। इनके अलावा प्रतियोगिता से अलग प्रदर्शित होने वाली फिल्मों में डिग्री (एमके पप्पू, महाराष्ट्र), बहुरूपिया (इमरान अली, बिहार), प्रोजेक्ट योरसेल्फ (पप्पू रायल, बिहार), पेपर (अंकित बागडे, मध्य प्रदेश), गो-हु (ऋत्विक ऋषभ, महाराष्ट्र) और डा. धर्मवीर भारती की फिल्में बूढ़ा-बूढ़ी चेक डैम, जिउतिया : द सोल आफ कल्चरल सिटी, कफन : द लास्ट वेइल शामिल हैं। अंतिम दिन 9 फरवरी को पुरस्कार वितरण होगा।
प्रतियोगिता की फिल्में : सात फरवरी

  1. हाफ ट्रूथ बिहार मजोर खान 21 मिनट
  2. ए सोल दैट बीट्स पश्चिम बंगाल आनंददास गुप्ता 07.53 मिनट
  3. ललक बिहार राहुल वर्मा 17 मिनट
  4. मुटरी झारखंड हंसराज हंस 05.44 मिनट
  5. कसादरू तमिलनाडु टी. रविचंद्रन 16 मिनट
  6. नजरिया दिल्ली भावना मेहरा 09 मिनट
  7. प्रेरणा महाराष्ट्र मुकेश कुमार 19 मिनट
  8. स्माल हैण्ड बिहार अक्षत प्रियेश 06.58 मिनट
  9. मुझे पापा जैसा नहीं बनना झारखंड अमरेन्द्र विद्याथी 24.32 मिनट
  10. स्कूल चलें हम बिहार अंश पल्लव 30 मिनट
    प्रतियोगिता की फिल्में : आठ फरवरी
  11. इंजोर दिल्ली राज मंगल 18 मिनट
  12. शौचालय एक सोच झारखंड सैकत चटर्जी 2.10 मिनट
  13. आखिर कब तक झारखंड एन. कृष्णा 19.33 मिनट
  14. ए डक टेल मध्य प्रदेश महेश सिंह मंगल 3.21 मिनट
  15. जागो बिहार इमरान अली 42.37 मिनट
  16. टारगेट प्वाइंट उत्तर प्रदेश सूरजपाल 9.26 मिनट
  17. दृष्टि उत्तर प्रदेश रविंद्र चौहान 10.15 मिनट
  18. बचाओ मध्य प्रदेश विजय तिवारी 16 मिनट
  19. तृप्ति महाराष्ट्र अनिल दुबे 11 मिनट
  20. जल :आज और कल बिहार राहुल वर्मा 10.13 मिनट
  21. छोटी सी चाहत दिल्ली अनीता पंडित 10.11 मिनट
  22. इट्स हाउस नाट माय होम मध्य प्रदेश निर्भय चौधरी 11 मिनट
    0- प्रस्तुति : उपेन्द्र कश्यप, विशेष संवाददाता

मेधावी बच्चों को दी जाएगी छात्रवृति : डा. एसपी वर्मा

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। दक्षिण बिहार के सबसे बड़े निजी विद्यालय संतपाल सीनियर सेकेेंड्री स्कूल में नए सत्र 2020-21 में नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, जिसके लिए आगत छात्र-छात्राओं की प्रवेश परीक्षा ली जा रही है। विद्यालय समूह के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा ने हर वर्ग में मेधावी बच्चों को स्कालरशीप देने की भी घोषणा की है और सीमित संख्या में ही नामांकन करने की बात कही है, ताकि कक्षाओं में हर विद्यार्थी पर ध्यान देना संभव हो सके। इस विद्यालय में नामांकन के लिए सासाराम शहर और आसपास के क्षेत्रों से विद्यार्थी जांच परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। डा. वर्मा ने बताया कि विद्यालय में विद्यार्थियों को पठन-पाठन के अलावा खेल-कूद, शारीरिक शिक्षा और अन्य जरूरी गतिविधियों का भी इंतजाम किया गया है। बहुत जल्द इस विद्यालय में रोबोटिक लैबोरेट्री स्थापना की जाएगी। खेल के चार बड़े मैदान और आधुनिक उपकरणों से लैस भौतिकी, रसायन, कंप्यूटर की प्रयोगशालाओं के साथ यहां वातानुकूलित सभागार की भी सुविधा उपलब्ध है। शहरी क्षेत्र के साथ दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों से भी विद्यार्थियों को आने-जाने के लिए वाहन की सुविधा उपलब्ध है। विद्यालय में विद्यार्थियों को हाईटेक सुरक्षा (सिक्योरिटी) 24 घंटों सातों दिन मुहैया है। विद्यालय के प्रबंधक रोहित वर्मा और प्राचार्य अराधना वर्मा ने आगत अभिभावकों को बताया कि विद्यालय के वर्ग आठवीं के छात्र मयंक प्रकाश और अमन कुमार ने गुडग़ांव (हरियाणा) में आयोजित सीबीएसई साइंस एक्जीबिशन में बिहार-झारखंड राज्य (सीबीएसई) का प्रतिनिधित्व किया। बताया कि वर्ग बारहवीं के छात्र आदित्य राज ने रीजनल लेबल कंपटीशन में गोल्ड मेडल पाया और रायपुर (छत्तीसगढ़) में हाई जंप में बिहार-झारखंड का प्रतिनिधित्व किया। (अर्जुन कुमार, मीडिया प्रभारी, संतपाल स्कूल)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.