लाकडाउन बढ़ा, रोहतास में 93 कोरोना पाजिटिव, 45 ठीक हुए/ ये जो हैं कोरोना योद्धा/ २४ को आनलाइन शतरंज/ पत्रकार महासंघ का विस्तार

स्वस्थ हुए मरीजों को घरेलू क्वारंटाइन मेें रहने की हिदायत

पटना/डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-विशेष संवाददाता। देश में लाकडाउन की अवधि 31 मई तक बढ़ा दी गई है। कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 90 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है, जिसमें मरने वालों की संख्या 2699 है। संक्रमितों के ठीक होने का भी सिलसिला जारी है। 34 हजार से अधिक लोग स्वस्थ होकर अस्पतालों से घर जा चुके हैं। राज्य में 1251 संक्रमितों में से 453 स्वस्थ हुए हैं। रोहतास जिला में 14 नए मरीजों के साथसंख्या 93 हो चुकी है, जिनमें 49 ठीक हुए और एक की मौत हुई। जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल (एनएमसीएच) के प्रबंध निदेशक त्रिविक्रमनारायण सिंह के नेतृत्व में माइक्रोबायोलाजी विभाग के कोविड-19 प्रभारी डा. मुकेश कुमार सिंह, नर्सिंग सेवा के प्रभारी शशांक कुमार सिंह आदि की टीम ने अस्पताल परिसर से स्वस्थ हुए तीन और कोरोना मरीजों को विदा किया। कोरोना से मुक्त पूरी तरह स्वस्थ होकर गए दो व्यक्ति सासाराम शहर और एक व्यक्ति सासाराम प्रखंड के लेरुआ गांव निवासी हैं। तीनों को दवाई, साबुन, मास्क और जागरुकता-पत्रक के साथ विदा किया गया। अब एनएमसीएच में भर्ती अधिसंख्य कोरोना मरीज स्वस्थ होने की दिशा की ओर अग्रसर हैं। मरीजों की अस्पताल से छुट्टी अंतिम रिपोर्ट निगेटिव आने पर दी जाती है। स्वस्थ हुए मरीजों को घर में भी न्यूनतम 14 दिन क्वारंटाइन में रहने के बारे में बताया जाता है।

रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह (पीआरओ, एनएमसीएच), साथ में पापिया मित्रा

कोरोना-योद्धा की भूमिका में संकटमोचन :

(डा. एसबी प्रसाद)

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। जहां छुआछूत वाली महामारी कोविड-19 के कारण लोग एक-दूसरे से भाग रहे हों, रिश्तेदारों के कार्यक्रम में भी शिरकत से परहेज कर रहे हों, वहीं अनेक लोग इस संकट की घड़ी में घर से बाहर रहकर व्यक्तिगत और संस्थागत जिम्मेदारी के साथ लगातार कोरोना-योद्धा की भूमिका में हैं। कोरोना संकटकाल में सोन कला केेंद्र द्वारा प्रायोजित संकटमोचन स्वास्थ्य सहायता केेंद्र हृदय रोग विशेषज्ञ डा. एसबी प्रसाद के नेतृत्व में उनके प्रसाद हर्ट सेंटर में समाज के वंचित तबके के लिए संचालित हो रहा है, जिसमें मरीजों का परीक्षण और इलाज के साथ संभव दवा भी निशुल्क उपलब्ध है। सोन कला केेंद्र के अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव के अनुसार, संकटमोचन स्वास्थ्य सहायता केेंद्र पर जाने से पहले मरीज का पंजीकरण सोन कला केेंद्र के शंकर लाज कार्यालय में कराकर अनुमति-पत्र प्राप्त करना अनिवार्य है। अनुमति-पत्र की अनुशंसा के लिए सोन कला केेंद्र के सभी सदस्य अधिकृत हैं। दयानिधि श्रीवास्तव ने सोनमाटीडाटकाम को जानकारी दी कि सोन कला केेंद्र के सदस्य जरूरतमंदों की यथासंभव सहायता कर रहे हैं। संस्था के संरक्षकों विधायक सत्यनारायण सिंह यादव, डा. रागिनी सिन्हा, डा. एसबी प्रसाद, उदय शंकर, अरुणकुमार गुप्ता और राजीवरंजन कुमार ने अपने-अपने स्तर पर कोरोना-योद्धा के रूप में उल्लेखनीय योगदान में संलग्न हैं।

सोन कला केन्द्र ने सार्वजनिक किया लेखा-जोखा :

(दयानिधि श्रीवास्तव)

सांस्कृतिक सर्जना की संवाहक संस्था सोन कला केन्द्र ने वित्तीय वर्ष 2019-20 के आय-व्यय का लेखा-जोखा अपनी संस्था के संरक्षकों, सलाहकारों और सदस्यों के समक्ष व्हाट्सएप ग्रुप पर प्रस्तुत कर दिया है। अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव, सचिव निशांत राज और कोषाध्यक्ष राजीवकुमार सिंह की ओर से पेश विवरण में बताया गया है कि एक लाख 56 हजार 77 रुपये की आय हुई है और एक लाख 24 हजार 28 रुपये खर्च हुए हैं। संस्था को सदस्यता शुल्क और संरक्षकों-सदस्यों के विशेष योगदान से आय हुई। अपनी स्थापना के बाद संस्था ने गायन-वादन प्रतियोगिता के दो भव्य कार्यक्रम के साथ गायन, वादन, कवि-सम्मेलन के कई स्थानीय कार्यक्रम भी वित्त वर्ष 2019-20 के नौ महीनों में किए। एक बड़े कार्यक्रम सोन महोत्सव की भी तैयारी फरवरी में थी। अनुमंडल प्रशासन से अनुमति मिलने के बावजूद कोरोना संक्रमण प्रसार के मद्देनजर एहतियात वश इसे टाल दिया गया और फिर लाकडाउन के कारण स्थगित कर दिया गया। अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव के अनुसार, शहीद रविरंजन अंतरजिला गायन प्रतियोगिता के लिए सूर्या वेंकट हाल डा. एसबी प्रसाद की पहल पर और अंतरजिला नृत्य प्रतियोगिता के लिए त्रिमूर्ति वाटिका कार्यकारी अध्यक्ष जीवन प्रकाश की पहल पर निशुल्क उपलब्ध हुआ। संस्था से जुड़े शहर के अग्रणी कलाकारों राजेश कुमार सिन्हा राजू, पूनम सिन्हा (प्रीति राज), अमिता पांडेय, वीरेंद्र कुमार, पिंटू दिलवाले, अविनाश सिन्हा अमूल्य ने सभी कार्यक्रमों में अपनी प्रस्तुतियां देकर विशेष योगदान किया।

लाकडाउन में आनलाइन शतरंज प्रतियोगिता

डेहरी चेस क्लब पहली बार राज्यस्तरीय आनलाइन शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन 24 मई को कर रहा है। बिहार ओपेन ब्लिट्ज चेस टुर्नामेन्ट नाम से इस प्रतियोगिता में राज्य के शतरंज खिलाड़ी ही हिस्सा लेंगे, जो किसी भी उम्र के हो सकते हैं। प्रतियोगिता का आयोजन आल बिहार चेस एसोसिएशन की ओर से हो रहा है, जिसके निष्पादन की जिम्मेदारी डेहरी चेस क्लब को दी गई है। डेहरी चेस क्लब के संस्थापक निदेशक दयानिधि श्रीवास्तव और सचिव नंदकुमार सिंह के साथ आल बिहार चेस क्लब के अभिनव आनंद इस आनलाइन शतरंज प्रतियोगिता के संयोजक हैं। यह जानकारी नंदकुमार सिंह ने सोनमाटीडाटकाम को दी। उन्होंने बताया कि सभी प्रतिभागियों को स्मृति-चिह्नï, प्रमाण-पत्र दिया जाएगा। कई नकद पुरस्कार भी हैं।

(रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज)

भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ की कार्यकारिणी का विस्तार

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश)-सोनमाटी प्रतिनिधि। भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुनेश्वर मिश्र ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी का विस्तार किया है। जयशंकर त्रिपाठी, गुन्नू राम शर्मा, विजय चितौरी, शिवशरण त्रिपाठी, अखिलेश पांडेय को उपाध्यक्ष, रामबाबू चौबे, अशोक प्रसाद कुणाल, विजय विद्रोही, शिव कुमार जालान, श्यामसुंदर पटेल को महासचिव, सुखदेव सिंह द्विवेदी को प्रवक्ता, अरुण कुमार सोनकर, शचीन्द्र श्रीवास्तव को संप्रेक्षक, प्रो. जगदीश प्रसाद यादव को प्रकाशन सचिव, शैलेन्द्र तिवारी, अनिल कुमार पांडेय, उमेश दुबे, डा. विमलेश कुमार, मणि कुमार पांडेय, सत्यप्रकाश गुप्ता को संयुक्त सचिव, पवनेश कुमार पवन को कार्यालय सचिव और शिवशंकर पांडेय को कोषाध्यक्ष मनोनीत किया गया है। भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ 15 जुलाई को अपना स्थापना दिवस समारोहपूर्वक मनाएगा।

(रिपोर्ट : डा. भगवान प्रसाद उपाध्याय)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.