सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

स्तनपान दिवस पर जागरुकता कार्यक्रम / नामांकन पर रोक से विद्यार्थी आशंकित / जीन्यूज24 का वार्षिकोत्सव

बच्चे के लिए दो साल तक बेहद जरूरी है मां का दूध

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। विश्व स्तनपान दिवस के मौके पर जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कालेज एंड हास्पिटल (एनएमसीएच) के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग की ओर से एनिकट स्थित महिला महाविद्यालय परिसर में स्तनपान के महत्व को बताने और इसके प्रति महिलाओं में जागरुकता के लिए व्याख्यान का आयोजन किया गया। एनएमसीएच की एमबीबीएस के छात्र-छात्राओं ने प्रभावकारी लघु नाटिका प्रस्तुत कर स्तनपान के महत्व का संदेश देने का प्रयास किया। अंत में महिला कालेज के प्राचार्य डा. अशोक सिंह ने व्याख्यान देने वाले चिकित्सकों और लघु नाटिका के प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान किया। प्रो. दिग्विजय सिंह, राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक प्रो. अभिषेक, डा. अजीत सिंह ने कार्यक्रम संयोजन में सहयोग किया।
एनएमसीएच के कम्युनिटी मेडिसिन के डा. नवीन कुमार और डा. अनिमेष गुप्ता ने जानकारी दी कि जन्म के एक घंटे के भीतर बच्चों को मां का गाढ़ा पीला दूध (कोलोस्ट्रम) को जरूर पिलाना चाहिए। यह दूध नवजात के लिए काफी फायदेमंद है, जो बच्चे को कई प्रकार की बीमारी से लडऩे में सक्षम बनाता है। बताया कि मां का दूध बच्चे के लिए प्रथम टीका का काम करता है। चिकित्सा विज्ञान के शोध से सिद्ध हो चुका है किमां का दूध बच्चे के दिमाग को विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण है। बच्चे को जन्म के 06 महीने बाद तक मां का ही दूध पिलाना चाहिए। इसमें पानी नहींमिलाना चाहिए। 06 महीने बाद बच्चे के आहार में अनाज शामिल होने पर भी दो वर्षों तक मां का दूध पिलाया जाना चाहिए। इससे मां के लिए भी गर्भ निरोधक की स्थिति बनी रहती है।
(रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह, पीआरओ, जेएनसयू)

नामांकन पर रोक से विद्यार्थी भविष्य के प्रति आशंकित

डालमियानगर (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता। विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक प्रतिष्ठा (कला, वाणिज्य, विज्ञान) में महाविद्यालयों में सामान्य वर्ग के नामांकन पर रोक लगाने से हजारों विद्यार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है और विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर चिंतित बने हुए हैं। जगजीवन महाविद्यालय के डा. वीरेंद्र शंकर सिंह के अनुसार, विश्वविद्यालय द्वारा अचानक सत्र 2019-22 के लिए स्नातक प्रथम वर्ष (प्रतिष्ठा) में नामांकन पर रोक लगा दी गई है। जबकि इसके लिए महाविद्यालय दोषी नहीं हैं। चूंकि राज्यपाल के आदेश से नामांकन रोका गया है, इसलिए उन्हें अनुमति का आदेश शीघ्र जारी करना चाहिए। ताकि विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर निश्चिंत हो सकें और नियमित पढ़ाई कर सकेें। उन्होंने बताया कि जिस महाविद्यालय को नामांकन के लिए अनुमति प्राप्त है, वही नामांकन ले सकता है।
(रिपोर्ट : वारिस अली)

डिजिटल प्लेटफार्म जीन्यूज24 का वार्षिकोत्सव

दाउदनगर (औरंगाबाद)-विशेष संवाददाता। स्थानीय स्तर के डिजिटल प्लेटफार्म (जीन्यूज24) के एक साल पूरा होने पर वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें कला संगम के कलाकारों सृष्टि गुप्ता, लवकुश मौर्य, वेद प्रकाश, अमित कुमार, कंचन आदि ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस मौक पर वक्ताओं समाजसेवी सुजीत कुमार सिंह, डा. अशोक कुमार, अनिल कुमार, छबीला राम, राजू पासवान ने कहा कि छोटी संसाधनहीन जगह से डिजिटल प्लेटफार्म का संचालन सघन श्रम वाला प्रयास है और उसकी विश्वसनीयता को बनाए रखना तो महत्वपूर्ण बात है। आरंभ में जीन्यूज24 के संस्थापक गणेश कुमार ने आगतों का स्वागत किया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : उपेन्द्र कश्यप)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!