चुनाव आयोग, बिहार सरकार को नोटिस/ सोन कला केेंद्र लगाएगा संस्थापिका की मूर्ति/ तीन दिवसीय कोरोना जागरूकता रथ

तबादले मामला में सुनवाई 25 को

पटना (कार्यालय प्रतिनिधि)। बिहार में स्वतंत्र निष्पक्ष चुनाव के मद्देनजर दिशा-निर्देश पालन नहीं करने के मुद्दे पर पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश संजय करोल की खंडपीठ 25 सितम्बर को सुनवाई करेगी। बिहार प्रदेश भ्रष्टाचार उन्मूलन समिति द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट नोटिस जारी कर बिहार सरकार के प्रधान सचिव (वित्त), मुख्य सचिव और चुनाव आयोग से जवाब देने का निर्देश दे चुका है। इस जनहित याचिका में कहा गया है कि 20 जून को बिहार चुनाव की गाइड लाइन जारी हुई थी, जिसमें सरकार के लिए यह निर्देश था कि चुनाव ड्यूटी पर तैनात होने वाले गृह जिले में पदस्थापित या एक ही जिले में चार साल से अधिक समय से कार्यरत अधिकारी और कर्मचारी तुरंत स्थानांतरित किए जाएं। याचिका में कहा गया है कि तबादलों के बावजूद 42 अधिकारी चार सालों से अधिक समय से एक ही जिले में पदस्थापित हैं।

नेशनल एंटी करप्शन ने की समस्या पर चर्चा

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। नेशनल एंटी करप्शन एंड आपरेशन कमेटी आफ इंडिया की बैठक इस संस्था के नगर संगठन प्रमुख जयप्रकाश कश्यप के आवास पर अमित श्रीवास्तव के अध्यक्षता में हुई, जिसमें कोरोना संक्रमण, अतिक्रमण, वेंडर जोन आदि पर चर्चा की गई। बैठक में तय किया गया कि कोविड-19 जागरूकता रथ 25 सितम्बर को रवाना किया जाएगा और तीन दिवसीय जागरूकता अभियान चलाकर मास्क वितरण किया जाएगा। संस्था की ओर से शहर के 10 जगहों पर पेयजल वितरण की व्यवस्था करने का फैसला किया गया। बैठक की चर्चा में रिंकू सोनी, जयप्रकाश कश्यप, विशाल सिंह, संजय प्रसाद गुप्ता, मनोज कुमार कश्यप, राकेश गोस्वामी, ध्रुव कुमार, नीतीश कुमार, राजीव विश्वकर्मा, मंटू सिंह, सिद्धार्थ सिंह, सुनील कुमार सिंह आदि शामिल हुए।

मूर्ति के लिए सौंपा ज्ञापन, प्राचार्य ने दिया आश्वासन

(अरुण शर्मा, जीवन प्रकाश, दयानिधि श्रीवास्तव, डा. सतीश नारायण लाल)

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। सांस्कृतिक सर्जना की संवाहक संस्था सोन कला केेंद्र महिला कालेज डालमियानगर की संस्थापिका स्वर्गीय सत्या शाही की मूर्ति स्थापित करेगा। सोन कला केेंद्र के प्रतिनिधि मंडल ने इस आशय का ज्ञापन प्राचार्य डा. सतीश नारायण लाल को सौंपते हुए मूर्ति महाविद्यालय परिसर में मूर्ति की स्थापना का अनुमति दिए जाने की मांग कालेज प्रशासन से की। ज्ञापन सौंपने वाले प्रतिनिधि मंडल में संस्था के अध्यक्ष दयानिधि श्रीवास्तव, कार्यकारी अध्यक्ष जीवन प्रकाश गुप्ता और उपाध्यक्ष अरुण शर्मा शामिल थे। प्राचार्य डा. सतीश नारायण लाल ने आश्वासन दिया कि वह विश्वविद्यालय से महाविद्यालय परिसर में मूर्ति स्थापना के लिए अनुमति जल्द प्राप्त हो जाने का प्रयास करेंगे। सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया है कि 55 साल पहले सत्या शाही ने डालमियानगर बालिका विद्यालय परिसर में नाइट ट्यूटोरियल गल्र्स कालेज के रूप में शहर में उच्च स्त्री-शिक्षा का अलख जगाने वाले महिला कालेज का बीजारोपण किया था। तब देश में कस्बाई शहरों में महिलाओं में उच्च शिक्षा के प्रसार के लिए नाइट ट्यूटोरियल कालेज का प्रयोग कई जगहों पर किया गया था। तब सत्या शाही ने घूम-घूम कर रोहतास उद्योगसमूह की आवासीय कालोनियों के श्रमिक परिवारों की और शहर के आम समाज की लड़कियों को नाइट कालेज में आने के लिए प्रेरित किया था, जिसका संचालन शाम 05 बजे से 09 बजे तक होता था।

रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज

  • Related Posts

    योग ही जीवन है : करें योग, रहें निरोग

    डेहरी-आन-सोन- (कार्यालय प्रतिनिधि) । महिला कालेज डालमियानगर के परिसर में पतंजलि योग समिति द्वारा 10वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। पतंजलि योग समिति के जिला प्रभारी उमाशंकर पासवान ने योग…

    10वे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सामूहिक योगाभ्यास

    पटना (सोनमाटी समाचार)। 10वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दुनियाभर में सामूहिक तौर पर योग का आयोजन किया गया। दुनिया भर में हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    You Missed

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद