मिट्टी से मोहब्बत

निभाया वादा, पूरी की मातृभूमि पर दफन करने की ख्वाहिश,

शौहर की लाश को कनाडा से भारत (डेहरी-आन-सोन) ले आई विदेशी बीवी

प्रसिद्ध राष्ट्रवादी राजनेता व स्वतंत्रता सेनानी अब्दुल क्युम अंंसारी के भतीजे थे मुनु अंसारी

डेहरी-आन-सोन (बिहार)सोनमाटी समाचार। अपनी मिट्टी से मोहब्बत ऐसी कि सात समंदर से भी आगे करीब 12 हजार किलोमीटर दूर उत्तरी अमेरिका के देश कनाडा में जा बसे मुनु अंसारी की ख्वाहिश अपनी मातृभूमि पर ही दफनाए जाने की थी। उनकी जिंदगी के अंतिम दिनों की यह इच्छा कनाडियन पत्नी कैरेन अंसारी ने पूरी की।

मुनु अंसारी की मौैत 65 साल की उम्र में लंबी बीमारी के कारण कनाडा में 9 नवंबर को हो गई। शव को विदेश से लाए जाने की औपचारिकता पूरी करने के बाद कैरेन हवाई जहाज से मौत के 21 दिन बाद अपने शौहर के शव को लेकर डेहरी-आन-सोन (बिहार) पहुंची, जहां बस्तीपुर के कब्रिस्तान में मुनु अंसारी के शव को मुस्लिम विधान के साथ दफनाया गया।

मुनु अंसारी बिहार के प्रसिद्ध राष्ट्रवादी राजनेता व स्वतंत्रता सेनानी अब्दुल क्युम अंंसारी के भतीजे और उनके छोटे भाई कवि अंसारी के बेटे थे। मुनु अंसारी का जन्म डेहरी-आन-सोन के तारबंगला स्थित हाई स्कूल के सामने वाली अपने समय की सबसे खूबसूरत अंसारी बिल्ंिडग (साकिया भस्कन) में हुआ था।

साकिया भस्कन आज वीरान पड़ा हुआ है। अब्दुल क्युम अंसारी के छोटे भाई मेकेनिकल इंजीनियर रहे स्वर्गीय कवि अंसारी डेहरी-आन-सोन के न्यू डिलियां में रहते थे। अब न्यू डिलियां में मुनु अंसारी के भाई परकास अंसारी, बाबू अंसारी और बावली अंसारी रहते हैेंं।

दोस्ती हुई और पति-पत्नी बन गए दोनों
भारत में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद मुनु अंसारी कनाडा चले गए थे और आईसीटीएन के अध्यापक के रूप में करियर की शुरुआत की थी। मृत्यु के समय वह होटल डाइरेक्टर थे। अध्यापन कार्य के दौरान ही उनकी दोस्ती मेडिसिन साइंटिस्ट कैरेन अंसारी हुई और दोनों के संबंध पति-पत्नी के रिश्ते में बदल गया।

मुनु अंसारी ने पत्नी से कहा था, उनकी इच्छा मौत के बाद उन्हें अपनी मातृभूमि, अपनी माटी पर ही दफनाए जाने की है। विदेशी बीवी ने उनकी अंतिम समय की यह इच्छा पूरी की और लाश को कनाडा जैसे विकसित व साधनसंपन्न देश से भारत ले जाने का झंझट झेलकर भी वह छोटे व अपेक्षाकृत पिछड़े शहर डेहरी-आन-सोन पहुंची।
(वेब रिपोर्टिंग : वारिस अली)

  • Related Posts

    केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र पटना द्वारा वैशाली जिले में दो दिवसीय आईपीएम ओरियंटेशन प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

    पटना -कार्यालय प्रतिनिधि। भारत सरकार के अधीन कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र पटना द्वारा बुधवार को वैशाली जिले के भगवानपुर प्रखंड अंतर्गत पट्टीबंधु राय ग्राम…

    पत्रकारिता एवम जनसंचार विभाग द्वारा विश्व जनसंपर्क दिवस पर वेबिनार का आयोजन

    डेहरी-आन-सोन  (रोहतास) विशेष संवाददाता। विश्व जनसंपर्क दिवस के अवसर पर पत्रकारिता एवम जनसंचार विभाग, गोपाल नारायण सिंह विश्वविद्यालय, जमुहार द्वारा वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में जनसंपर्क क्षेत्र के…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You Missed

    केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र पटना द्वारा वैशाली जिले में दो दिवसीय आईपीएम ओरियंटेशन प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

    केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र पटना द्वारा वैशाली जिले में दो दिवसीय आईपीएम ओरियंटेशन प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

    पत्रकारिता एवम जनसंचार विभाग द्वारा विश्व जनसंपर्क दिवस पर वेबिनार का आयोजन

    मुकेश सहनी के पिता की हत्या से शोक की लहर

    मुकेश सहनी के पिता की हत्या से शोक की लहर

    सड़क दुर्घटना में दुकानदार की मौत, सड़क जाम

    शारदा कोचिंग संस्थान के विद्यार्थियों ने किया शैक्षणिक भ्रमण

    शारदा कोचिंग संस्थान के विद्यार्थियों ने किया शैक्षणिक भ्रमण

    नारायण कृषि विज्ञान संस्थान का पांचवां स्थापना दिवस संपन्न

    नारायण कृषि विज्ञान संस्थान का पांचवां स्थापना दिवस संपन्न