सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

संतपाल स्कूल राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी के लिए चयनित / धर्मवीर भारती को नीलकंठ सम्मान / कृषि विद्यार्थियों को प्रोत्साहन प्रमाणपत्र

भारतीय संविधान विश्व में श्रेष्ठ : डा. एसपी वर्मा

पटना /सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। ट्रिनिटी ग्लोबल स्कूल (पटना) में आयोजित दो दिवसीय सीबीएसई स्टेट रीजन (बिहार-झारखंड) की विज्ञान प्रदर्शनी में संतपाल सीनियर सेकेेंड्री स्कूल के वर्ग-आठ के चार विद्यार्थियों के श्रेष्ठ माडल राष्ट्रीय स्तर की प्रदर्शनी के लिए चुने गए हैं। मयंक प्रकाश, अमन कुमार के महामारी निषेध से संबंधित गणितीय प्रदर्श (माडल) ने और कृतिका सुहानी, ध्रुव राज के धरती के भीतर ऊर्जा संचार पर नवाचार प्रदर्श (इनोवेटिव माडल) ने अपने-अपने विषय वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त किया। अब प्रथम स्थान प्राप्त विद्यार्थी सीबीएसई स्कूलों की राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में अपने माडल प्रदर्शित करेंगे। सीबीएसई के स्टेट रीजन एक्जीबिशन में बिहार और झारखंड के 140 विद्यालयों के विद्यार्थियों ने भाग लिया था। संतपाल विद्यालय समूह के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा, प्रबंधक रोहित वर्मा, सचिव वीणा वर्मा और प्राचार्य आराधना वर्मा ने स्कूल का गौरव बढ़ाने के लिए विद्यार्थियों को उनकी सफलता की बधाई दी। विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षकों धीरज तिवारी, माधुरी सिंह सहित सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भी इस सफलता पर खुशी जाहिर की है।
एक अन्य समाचार के अनुसार, संतपाल स्कूल के विद्यार्थियों ने भारत के संविधान में भरोसा रखने और राष्ट्रीय एकता-अखंडता को लोकतंत्रात्मक तरीके से अक्षुण्ण बनाए रखने की शपथ ली। विद्यालय के शिक्षक एवं मीडिया प्रभारी अर्जुन कुमार ने विद्यार्थियों के साथ शिक्षक-शिक्षिकाओं को भी देश को आत्मार्पित, अंगीकृत, अधिनियमित संविधान के सारांश-पाठ की शपथ दिलाने का कार्य किया। विद्यालय के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा ने इस अवसर पर भारतीय संविधान के महत्व की चर्चा करते हुए बताया कि यह लोकतांत्रिक गणराज्य का दुनिया का श्रेष्ठ लिखित संविधान है।
(रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार, शिक्षक सह मीडिया प्रभारी)

धर्मवीर भारती को नीलकंठ सम्मान

नई दिल्ली/औरंगाबाद (सोनमाटी प्रतिनिधि)। कांस्टिट्यूशन क्लब आफ इंडिया में कबीर के लोग संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में युवा वृत्तचित्र (डाक्युमेंट्री फिल्म) निर्देशक-निर्माता डा. धर्मवीर भारती को नीलकंठ सम्मान दिया गया। इस आशय का प्रमाणपत्र भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पूर्व अधीक्षक (बिहार सर्किल) मोहम्मद केके ने प्रदान किया। धर्मवीर भारती ने समाज के वंचित लोगों के जीवन एवं संस्कृति से संबंधित विषयों पर बूढ़ा-बूढ़ी चेक डैम, कफन द लास्ट वील, जिऊतिया : द सोल आफ कल्चरल सिटी दाउदनगर, देव : द सन टेम्पल, एक अप्रैल : अल्कोहल फ्रीडम डे आफ बिहार आदि वृतचित्रों का निर्माण किया है। औरंगाबाद के समाजसेवी इरफान अहमद रिजवी के अनुसार, वृत्तचित्र निर्माण के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के मद्देनजर संस्था (कबीर के लोग) को नीलकंठ सम्मान के लिए अनुशंसा की गई थी। इस संस्था (कबीर के लोग) के संयोजक डा. संजय पासवान (पूर्व एमएलसी) हैं।
(रिपोर्ट : निशांत राज, तस्वीर : डाली भारती)

बीस चुनिंदा विद्याथियों को दिया गया प्रोत्साहन प्रमाणपत्र

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। गोपालनारायण सिंह विश्वविद्यालय (जीएनएसयू) के अंतर्गत संचालित नारायण इंस्टीट्यूट आफ एग्रीकल्चर साइंस के स्नातक प्रथम वर्ष के बीस चुनिंदा विद्याथियों को उनके बेहतर कार्य-प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहन प्रमाणपत्र प्रदान किया गया। जीएनएसयू के कुलपति डा. एमएल वर्मा और प्रबंध निदेशक त्रिविक्रम नारायण सिंह ने प्रमाणपत्र देते हुए उनके लगन की सराहना की। प्रो. यूपी सिंह ने डिजिटल प्रस्तुति के जरिये बताया कि कृषि संस्थान (नारायण इंस्टीट्यूट आफ एग्रीकल्चर साइंस) के विद्यार्थी कार्य किस तरह अपना बेहतर शैक्षणिक प्रदर्शन कर रहे हैं? आरंभ में कृषि संस्थान के निदेशक डा. आरपी सिंह ने कार्यक्रम के औचित्य पर प्रकाश डाला।
(रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह, पीआरओ)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!