शिक्षण गतिविधि में स्थानीय कला-संस्कृति और धरोहर भी महत्वपूर्ण

नई दिल्ली/डेहरी-आन-सोन (विशेष संवाददाता)। सांस्कृतिक एवं स्रोत शिक्षण केेंद्र की ओर से सीसीआरटी परिसर में आयोजित 20 दिवसीय सेवाकालीन शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला में बताया गया कि शिक्षण गतिविधि के लिए स्थानीय कला-संस्कृति और धरोहर भी महत्वपूर्ण हैंं। सेवाकालीन शिक्षकों को इस बात की जानकारी दी गयी और गुर बताया गया कि पाठ्यक्रम की मुख्य विषय वस्तु से स्थानीयता को जोड़कर पढ़ाने के तरीके को अधिक ग्राहय और उपयोगी भी बनाया जा सकता है।

इस कार्यशाला में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, बंगाल, तेलगाना, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश के शिक्षकों ने भाग लिया। इस कार्यशाला के आरंभ में सीसीआरटी के प्रभारी निदेशक ऋषि वसंत कुमार ने स्वागत संबोधन और सीसीआरटी के फील्ड आफिसर डा. बीबी वत्स ने कार्यक्रम के बारे में रिपोर्ट पेश की।

दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर में भी केेंद्रीय शिक्षा संस्थान की ओर से एनजीओ और विभिन्न सरकारी उपक्रमों के प्रतिनिधियों के लिए प्रोफेशनल दक्षता विकास कार्यशाला का आयोजन किया गया। दोनों ही कार्यक्रमों में भी बतौर विशेषज्ञ कौशलेन्द्र प्रपन्न ने यह बताया कि विभिन्न तरीकों से कैसे रणनीति बनाकर अच्छा शिक्षक बना जा सकता है।सीसीआरटी परिसर में आयोजित २० दिवसीय कार्यशाल के प्रथम सत्र को कौशलेन्द्र प्रपन्न ने बतौर मुख्य अतिथि संबोधित किया।
कौशलेन्द्र प्रपन्न दिल्ली में बतौर एनजीओ प्रतिनिधि विद्यालयों के शिक्षकों में शिक्षण कौशल विकास के लिए पिछले कई सालों से सक्रिय है और लेखक है, जिनकी शिक्षक प्रशिक्षण कौशल से संबंधित पुस्तक नेशनल बुक ट्रस्ट आफ इंडिया से पिछले महीने प्रकाशित हुई है। कौशलेन्द्र बिहार के डिहरी-आन-सोन के निवासी हैं और यहां उच्च विद्यालय मेंहिन्दी-अंग्रेजी के सेवानिवृत्त अध्यापक और लेखक अवधकिशोर मिश्र के पुत्र हैं। प्रसंगवश यह उल्लेखनीय है कि मिश्र जी नवभारत टाइम्स, पटना के संपादक रहे स्वर्गीय दीनानाथा मिश्र के और कौशलेन्द्र प्रपन्न शहर के प्रतिष्ठित व्यवसायी, समाजसेवी विनोद मारोदिया के रिश्तेदार हैं।
(वाह्टएप सूचना, रिपोर्ट, तस्वीर : निशान्त राज))

स्वास्थ्य शिविर का सिलसिला जारी, वरूणा में हुई ग्रामीण मरीजों की जांच

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-कार्यालय प्रतिनिधि। रोहतास जिले के अकोढ़ी गोला प्रखंड अंतर्गत वरुणा गांव में नारायण चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (एनएमसीएच) के तत्वावधान में एक दिवसीय निशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाया गया। शिविर में वरुणा और आसपास के गांवों के लगभग 500 पुरुष-महिला मरीजों का निशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। शिविर के दौरान मरीजों की पैथोलॉजिकल जांच भी की गई। मरीजों को निशुल्क दवा भी उपलब्ध कराई गई। शिविर में औषधि रोग, शिशु रोग, स्त्री रोग, नाक-कान-गला रोग, अस्थि रोग, सर्जरी तथा नेत्र रोग विभागों के चिकित्सकों द्वारा शिविर में आए मरीजों की जांच कर उन्हें यथाउचित परामर्श दिया गया। मोतियाबिंद पीडि़त मरीजों का ऑपरेशन के लिए चयन जांच के बाद किया गया, जिनका नारायण मेडिकल कॉलेज में नेत्ररोग विशेषज्ञ द्वारा लेंस लगाकर ऑपरेशन किया जाएगा। शिविर के संयोजन में वरुणा पंचायत के मुखिया किस्मत सिंह ने सहयोग किया। एनएमसीएच के महाप्रबंधक उपेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि एनएमसीएच द्वारा डेहरी और अकोढ़ी गोला प्रखंडों के पांच स्थानों पर पिछले दो सप्ताह में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाए गए।
(रिपोर्ट, तस्वीर : भूपेंद्रनारायण सिंह, पीआरओ, एनएमसीएच)

तैयारी शुरू, सीमा कुशवाहा कर रहीं गांव-गांव दौरा

काराकाट (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी की बिहार प्रदेश सचिव और रोहतास जिला परिषद की सदस्य सीमा कुशवाहा ने लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर काराकाट प्रखंड में गांव-गांव दौरा शुरू कर दिया है। इसी चुनावी तैयारी के क्रम में काराकाट विधानसभा क्षेत्र में विधानसभा क्षेत्र स्तरीय रालसपा का सम्मेलन 25 फरवरी को होगा। रालसपा के पक्ष में जनमत बनाने और पार्टी के कार्यकर्ताओं की एकजुटता के लिए यह सम्मेलन आयोजित है।
(वाह्टएप सूचना)

 

फिकरोनजर के मुशायरे में सासाराम की गतिविधियों पर केेंद्रित पुस्तक का विमोचन
सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। सामाजिक संस्था फिकरोनजर की ओर से आयोजित सभा में मलीह बद्र की किताब का लोकार्पण किया गया। सभा की अध्यक्षता गुफरान अशरफी और संचालन असर फरीदी ने किया। किताब संस्मरणात्मक शैली में लिखी गयी है, जिसमें आठवें दशक में सासाराम की गतिविधियों पर केेंद्रित है। इसमें सासाराम के मुहर्रम, चश्मेपहाड़, साहित्यिक गतिविधि, आपातकाल, 1989 का दंगा आदि के वर्णन हैं। सभा में किताब के लेखक मलीह बद्र ने किताब में संकलित रोचक संस्मरण सुनाया। पूर्व वार्ड आयुक्त लियाकत अली खान, जमशेद रिजवी, एडवोकेट तौहीद आजम, लेखक नर्मदेश्वर सिंह, डॉ एके अल्वी आदि ने सम्बोधित किया। इस मौके पर मुशायरे का भी आयोजन किया गया, जिसमें शगुफ्ता सहसारामी, सैफ सहसारामी, शाहिद जमील, गुफरान अशरफी, शकील अख्तर, कारी अनीस, इस्लाम जया सहसारामी, जावेद जावेदां, शकील हाशमी, आलम परवेज, शब्बीर सहसरामी, फहीम कादरी, समर सहसरामी, असर फरीदी ने अपने कलाम पेश किए। अन्त में फिकरोनजर के सेक्रेट्री डा. एके अल्वी ने धन्यवाद ज्ञापन किया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : वारिस अली)

राष्ट्रीयता का संकल्प, नए सदस्यों को शपथ और पत्रकारों को सम्मान

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। लायन्स क्लब आफ सासाराम की ओर से आयोजित सदस्यता ग्रहण समारोह में क्लब के जिलापाल (322ए) माधव लखोटिया, सासाराम के अनुमंडलाधिकारी राजकुमार गुप्ता, इसी क्लब के पूर्व जिलापाल डाक्टर एसपी वर्मा, जिलाध्यक्ष रोहित वर्मा, मल्टीपल चेयरमैन डा. दिनेश शर्मा, सचिव कृष्णा कुमार ने सासाराम के प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकारों जितेंद्र नारायण सिंह (हिंदुस्तान), ब्रजेश पाठक (दैनिक जागरण), अनुराग शरण (प्रभात ख़बर), नरेंद्र कुमार राय (दैनिक भास्कर), राजूकुमार दुबे (राष्ट्रीय सहारा), असलम परवेज (मीडिया दर्शन), अमरजीत कुमार यादव (जी न्यूज), अजीत कुमार (टीवी 18), मनोज कुमार सिंह (आज तक) को अंगवस्त्र (शाल) और स्मृतिचिह्नï (मेमेंटो) देकर सम्मानित किया।
जिन नए सदस्यों को लायन्स क्लब सासाराम की सदस्यता दी गई, उनमें अक्षय कुमार, धनंजय सिंह, सोनू आनंद, सत्येंद्र कुमार, सुनील कुमार, मिंटू कुमार, आनंद सिंह और अजय सिंह शामिल हैं। इन्हें पूर्व जिलापाल राहुल वर्मा ने शपथ दिलाने की औपचारिकता पूरी की। इस अवसर पर एसडीओ राज कुमार गुप्ता ने कहा कि जनकल्याण के कार्यों में सक्रिय भागीदारी समाज के प्रति जिम्मेदारी, जागरूक और मानवीयता भी है। समारोह में छोटी बच्ची ख्याति गुप्ता द्वारा बोले गए सामूहिक संकल्पघोष को उपस्थित सभी लोगों ने दुहराकर राष्ट्रीयता के प्रति अपनी सामूहिक भावना का इजहार किया। कार्यक्रम का संचालन ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने किया।
(रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार)

  • Related Posts

    योग ही जीवन है : करें योग, रहें निरोग

    डेहरी-आन-सोन- (कार्यालय प्रतिनिधि) । महिला कालेज डालमियानगर के परिसर में पतंजलि योग समिति द्वारा 10वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। पतंजलि योग समिति के जिला प्रभारी उमाशंकर पासवान ने योग…

    10वे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर सामूहिक योगाभ्यास

    पटना (सोनमाटी समाचार)। 10वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दुनियाभर में सामूहिक तौर पर योग का आयोजन किया गया। दुनिया भर में हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का…

    One thought on “शिक्षण गतिविधि में स्थानीय कला-संस्कृति और धरोहर भी महत्वपूर्ण

    1. पत्रिका के माध्यम से शहर मे होनेवाले कार्यक्रमों की जानकारी मिली… शानदार

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    You Missed

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद