लता प्रासर की चार कविताएं

हवा झोंके रोंगटे तक आ पहुंचे

उन्होंने कहा
दीप जलाओ
हमने जलाया
वो रौशनी में
नहाते रहे
हम अंधेरे को
टटोलते रहे
रुत बदल गई
अब एक लौ
भीतर सुलग रहा
वो ढूंढ रहे!

खुशी फूलों से होकर ही हम आप तक आती है सो उसे सलाम

जिनके पेट में भूख के गुब्बारे फूटते हैं
जिनकी आंखों में इमानदारी के अंबार लगे हैं
उनसे क्या पूछते हो भला त्योहार के किस्से
जिनके पिता लालच पीकर दुनिया छोड़ चले हैं!

खेसारी पसर-पसर खेतों में शबनम के गीत गाती

उत्सव सा हर शब्द लगे जब फूल कहीं दिख जाता है
हो बसंत का मौसम फिर धरती फूलों से पट जाती है
आरोग्य रहे जन जीवन सबका खग जलचर जलचर का
लालच न हो नर गर विपदा आपस में बंट जाती है!

स्पर्श रागिनी बाज रही जिस पर नाज़ रही

चलती फिरती कौन नगरिया बूझो ओ बाबू तो जानें
आसमान में उड़ती फिरती
नहीं पतंग पर बूझो तो जानें
हरदम सबक सिखाती सबको हर पल ही भरमाती सबको
कितना है नादान कहता हर कोई अक्लमंद बूझो तो जानें!

– लता प्रासर
निर्मला कुंज, अशोक नगर, कंकड़बाग, पटना-800020 फोन : 7277965160

  • Related Posts

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर एक दिन हमने प्रेम के प्रतीकएक गुलमोहर का बिरवा रोपाज्यों- ज्यों बढ़ा बिरवात्यों- त्यों परवान चढ़ा हमारा प्रेमज्यों- ज्यों खिला गुलमोहरत्यों- त्यों खिली हमारी…

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    डेहरी-आन-सोन (रोहतास) कार्यालय प्रतिनिधि। शहर के पाली रोड स्थित महाराणा गली में एडवांस्ड टेक्नोलॉजी पर आधारित तृप्ति पैथ लैब (पैथोलॉजी) का उद्घाटन डिहरी बीडीओ पुरुषोत्तम त्रिवेदी एवं प्रतिष्ठित दंत चिकित्सक डा. नवीन नटराज द्वारा संयुक्त…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    You Missed

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    स्मिता गुप्ता की कविता : गुलमोहर

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    आधुनिक मशीन से युक्त तृप्ति पैथ लैब का उद्घाटन, यहां हर तरह की होगी जांच

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    जीएनएसयू में पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में फेयरवेल समारोह का आयोजन

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    साहित्यकारों में भी दिख रहा है कला एवं संगीत के प्रति समर्पण : सिद्धेश्वर

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    बाडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में मिस्टर बिहार क्लासिक बाडी बिल्डिंग का खिताब एयात को मिला

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद

    प्रो0 पी. सी. महालनोविस को देश के सांख्यिकी के क्षेत्र में दिए गए योगदानों को लेकर किया गया याद