सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

आईआईटी : मुख्य परीक्षा में संतपाल के दो छात्रों को 99 फीसदी अंक

सासाराम (रोहतास)-सोनमाटी संवाददाता। संतपाल सीनियर सेकेेंडरी स्कूल के दो छात्रों ने राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगी परीक्षा आईआईटी (मेन) में 99 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त कर विद्यालय और पूरे जिले के लिए एक उपलब्धि हासिल की है।

आईआईटी मेन में सफलता हासिल करने वाले इन दोनों विद्यार्थियों को संतपाल स्कूल के अध्यक्ष डा. एसपी वर्मा, प्रबंधक रोहित वर्मा, प्राचार्या आराधना वर्मा सहित शिक्षक-शिक्षिकाओं ने हर्ष जताया है और अगली सफलता की कामना की है।

अमेहता बढ़ारी गांव के निवासी गौरव कुमार ने आईआईटी (मेन) राष्ट्रीय स्तर पर 5805 वां और ओबीसी के तहत 1029 वां रैंक प्राप्त किया है। शिक्षक पिता उमाशकर सिंह और गृहणी मां मंजू देवी के पुत्र गौरव का लक्ष्य आरंभ से ही इंजीनियर बनकर देशहित में कार्य करने का रहा है।

संतपाल स्कूल के दूसरे छात्र सुबोध कुमार ने आईआईटी मेन में राष्ट्रीय स्तर पर 7360 वां और ओबीसी के अंतर्गत 1354 वां रैंक प्राप्त किया है। सासाराम निवासी सुबोध के पिता आर्मी में नायक सूबेदार हैं और मां इंदू देवी गृहणी हैं।  (चश्मा पहने सुबोध कुमार और गौरव कुमार)

रिपोर्ट, तस्वीर : अर्जुन कुमार, मीडिया प्रभारी)

 

कोचिंग के 18 विद्यार्थियों को प्रथम श्रेणी, सरकारी स्कूलों के शिक्षक करते हैं शिक्षादान

डेहरी-आन-सोन (रोहतास)-वरिष्ठ संवाददाता। बिहार एजुकेशनल डेवलपमेंट कमिटी द्वारा संचालित रिमेडियल क्लासेस एंड कोचिंग सेंटर के दसर्वी कक्षा के विद्यार्थियों में 18 को प्रथम श्रेणी प्राप्त करने पर उनका अभिनंदन किया गया, जिनमें शराफत अली, मोहम्द दानीश, मोहम्मद मारूफ, अशरफ खान, तौफीक अन्सारी ने सर्वाधिक अंक प्राप्त किया है। बिहार एजुकेशनल डेवलपमेंट कमिटी, डेहरी-आन-सोन द्वारा एक सामाजिक मिशनरी भावना के तहत निशुल्क शिक्षा दी जाती है। शिक्षा-कार्य का प्रबंध स्थानीय नागरिकों द्वारा प्राप्त आर्थिक सहायत से किया जाता है। कोचिंग (शिक्षा) का कार्य कोई आधा दर्जन स्कूलों के शिक्षक अपने-अपने स्कूलों के बाद उपलब्ध समय के अनुसार करते हैं। अभिनंदन समारोह की अध्यक्षता हाजी मोहम्मद नयाज ने की। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक गुलाम सरवर ने किया। आरंभ में आगतों का स्वागत शिक्षक जावेद अंसारी ने और अंत में धन्यवाद-ज्ञापन हाजी मोहम्मद सत्तार ने किया।
(सूचना, तस्वीर : वारिस अली)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!