सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

मुख्य सचिव दीपक कुमार 21 साल पहले थे रोहतास के जिलाधिकारी

फरवरी 2020 तक के लिए बिहार के मुख्य सचिव
पटना/डेहरी-आन-सोन (विशेष प्रतिनिधि)। पूर्व मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह को तीन महीनों का अवधि विस्तार देकर किए गए मंथन के बाद नए मुख्य सचिव बनाए गए 1984 बैच के आईएएस अधिकारी दीपक कुमार ने बिहार के नए मुख्य सचिव के रूप में एक मई से कार्यभार ग्रहण कर लिया। इनका कार्यकाल 2020 (फरवरी) में समाप्त होगा।
अंजनी सिंह मुख्यमंत्री के सलाहकार
मुख्य सचिव बनने से पहले दीपक कुमार नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन का दायित्व संभाल रहे थे। वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधान सचिव और बिहार सरकार में कार्मिक जैसे महत्वपूर्ण विभागों का दायित्व भी संभाल चुके हैं। 31 मई को सेवानिवृत्त होने के बाद अंजनी कुमार सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सलाहकार बनाए गए हैं।

21 साल पहले रोहतास के जिलाधिकारी
21 साल पहले दीपक कुमार ने मई 19997 में बिहार के रोहतास जिला के जिलाधिकारी के रूप में कार्य किया था। हालांकि वह छह महीने ही रोहतास के जिलाधिकारी रहे थे। तब उन्होंने सासाराम, डेहरी-आन-सोन में की नगरपालिका सभाकक्षों में अलग-अलग बैठक कर दोनों शहरों के प्रतिनिधियों-बुद्धिजीवियों को आमंत्रित करने का निर्देश दिया था और कहा था कि शहर के विकास में उसके नागरिकों की राय व निगरानी को महत्व दिया जाएगा।

 

डेक्सटेरिटी स्कूल का दीक्षांत समारोह 12 जून को

पटना (सोनमाटी समाचार)। डेक्सटेरिटी स्कूल आफ लीडरशिप एंड एंट्रपेन्योरशिप का दीक्षांत समारोह 12 जून के पटना में आयोजित किया गया है, जिसकी अध्यक्षता बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशीलकुमार मोदी करेंगे। इस दीक्षांत समारोह का आयोजन उप मुख्यमंत्री के एक पोलो स्थित सरकारी आवास परिसर में होगा, जिसमें देश के 16 राज्यों से 40 शहरों के 50 छात्र-छात्राएं हिस्सा लेंगे। विद्यार्थियों में लीडरशिप की योग्यता पैदा करने के लिए डेक्सटेरिटी स्कूल की स्थापना 2013 में की गई है, जिसके संस्थापक शरद सागर हैं। शरद सागर ने खुले दीक्षांत समारोह को लेकर उप मुख्यमंत्री से बातचीत की और उनकी स्वीकृति प्राप्त की है।

 

संत पॉल पब्लिक स्कूल के टाप-टेन विद्यार्थी में तीन रोहतास जिला टापर भी

सासाराम (बिहार)-सोनमाटी समाचार। दसवीं परीक्षा (सीबीएसई) में संत पॉल सीनियर सेकेेंडरी स्कूल की अंजलि ने 97.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर स्कूल टॉपर रहीं और रोहतास जिला में भी टाप स्थान प्राप्त किया। अंजलि को 500 में 488 अंक मिले हैं। इसके बाद 97.2 प्रतिशत अंक प्राप्त कर साक्षी आलोक और गौरव राज ने संयुक्त रूप से द्वितीय स्थान प्राप्त किया। 96.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर आदित्य ने तीसरा स्थान प्राप्त किया।

टाप स्थान पाने वालों ने किया अपना और

स्कूल का नाम रौशन : एसपी वर्मा

विद्यार्थियों की सफलता पर विद्यालय के चेयरमैन एसपी वर्मा ने कहा है कि विद्यार्थियों की सफलता के लिए नियमित कड़ी मेहनत की है और कक्षाओं में इनकी नियमित उपस्थिति और शिक्षकों के उचित योगदान की सफलता में अहम भूमिका रही है। स्कूल के तीन विद्यार्थियों ने जिले में उच्च स्थान प्राप्त कर सूबे में नाम रौशन किया है। विद्यालय के प्रबंधक रोहित वर्मा. प्राचार्या आराधना वर्मा के साथ स्कूल शिक्षक-शिक्षिकाओं ने भी विद्यार्थियों को उनकी मेहनत और सफलता पर बधाई दी है।

असफल भी रहे दो विद्यार्थी
इस विद्यालय से 355 विद्यार्थी दसवीं (सीबीएसई) की परीक्षा में शामिल हुए थे, जिनमें से 257 छात्र और 98 छात्राएं थीं। विषयवार उच्च अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों (सोशल साइंस) में अभिमन्यु तिवारी, आयुष कमल, साक्षी आलोक, कीर्ति कुमारी, गौरव सिंह, राहुलकुमार राय, सृष्टि शिखा, गौरव सिंह, आदित्य ने और आईटी में शुभम वर्मा, साक्षी आलोक और उम्मीद पांडेय ने 100 में 100 अंक प्राप्त किया है। साइंस में शुभम वर्मा ने 100 अंक प्राप्त कर सफलता पाई है। गणित में 99 अंक गौरव राज ने और संस्कृत में 99 अंक साक्षी आलोक ने प्राप्त किया है। इस विद्यालय के 27 विद्यार्थियों ने 90 से 100 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। हालांकि इस बार की दसवीं परीक्षा में दो छात्र असफल भी हुए हैं।

(अर्जुन कुमार, शिक्षक सह मीडिया प्रभारी, संत पॉल स्कूल)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Click to listen highlighted text!