सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

आलेख : आखिर हिन्दी कब तक झेलेगी सियासत का दंश (ललित दुबे)/ कविता : अनुत्तरित प्रेम पत्र (ध्रुव गुप्त)

आखिर हिन्दी कब तक झेलेगी सियासत का दंश ललित दुबे मैं हिंदी हूं, राजनीतिज्ञों की उपेक्षा की शिकार। मजबूरी में

Read more

सोनमाटी (स्तंभ वातायन) : ऐतिहासिक-सांस्कृतिक धरोहर गांधी आश्रम जहां पधारे थे बापू/ लघुकथा / गजल / गीत / कविता

ऐतिहासिक-सांस्कृतिक धरोहर गांधी आश्रम जहां पधारे थे बापू बिहार के ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक धरोहरों में हाजीपुर के गांधी आश्रम में

Read more

वातायन (निशांत राज) : नए भारत के निर्माण में होगी नई शिक्षा नीति की भूमिका/ कविता (किशोर अग्रवाल) : ये जो जुड़वां बहनें हैं!

-0 कविता 0-ये जो जुड़वां बहनें हैं !-डा. किशोर अग्रवाल, आईपीएस भूख पर बनती हैं कविताएंभूख पर बनती हैं योजनाएंभूख

Read more

विचार : सिर्फ अंकों से ही तय नहीं होती जिंदगी में सफलता की उड़ान (चंडीदत्त शुक्ल)/ कविता : कहो चीन! (अभिषेक अभ्यागत)

इस बार भी 10वीं-12वीं के परीक्षा-परिणाम आने के बाद बेहतर अंक लाने वाले विद्यार्थियों के परिवारों में खुशी तो अंक-पैमाना

Read more

कोरोना-काल : तीन कवियों की क्षणिका-त्रयी / आनलाइन कवि-सम्मलेन

कृष्ण किसलय, कृपा शंकर और लता प्रासर की क्षणिकाएं इस बार सोनमाटी के साहित्य स्तंभ सोन-धारा में प्रस्तुत है लघु

Read more

कोरोना महाआपदा : कृष्ण किसलय की लघुकथा ‘पहला उपदेश’ / कुमार बिन्दु की कविता ‘बहुत याद आ रहा…’/ फेसबुक पर लघुकथा सम्मेलन का प्रयोग

कोरोना महाआपदा के मौजूदा दौर में पूरी दुनिया घरों में कैद है। इस अभूतपूर्व नजरबंदी की वैश्विक परिस्थिति में प्रदेश,

Read more

कोरोना संकट : पृथ्वी का ऐतिहासिक सर्वव्यापी भय / दो कविताएं : नदी और ध्वनि विलाप

यह अपूर्व संकट कि हर आदमी है दूसरे से डरा हुआ 0- कृष्ण किसलय -0 (समूह संपादक, सोनमाटी मीडिया समूह)

Read more

धरती का शैतान : कृष्ण किसलय की चर्चित विज्ञान कथा

पुस्तक : धरती का शैतान लेखक : कृष्ण किसलय 20वीं सदी के आठवें दशक के अंत में रचित चर्चित साइंस

Read more

कविताएं : कृष्ण किसलय और कुमार बिन्दु / पटना में कविता पोस्टर प्रदर्शनी

1. आओ सफर फिर शुरू करें / कृष्ण किसलय अहसास अब भी कितना ताजा हैकि बहुत खुशनसीब गुजरा था बीते

Read more

डोलन राय का दूसरा काव्यसंग्रह / कुमार बिन्दु की दो कविताएं

श्मशान वैराग्य : जीवन की संवेदना की गहन यात्रा पुस्तक समीक्षा/कुमार कृष्णन, मुंगेर समकालीन हिन्दी कविता जीवन-यर्थाथ के हर कठिन

Read more
Click to listen highlighted text!