सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है   Click to listen highlighted text! सोनमाटी के न्यूज पोर्टल पर आपका स्वागत है

सियासत का दौलत से हुआ रिश्ता और तिजारत में बदल गई राजनीति/ 1064 में 328 उम्मीदवारों पर आपराधिक मामले/ फैसला तो हो चुका, बस मतदान की औपचारिकता बाकी/ नहीं जीतने वाले आजमा रहे वोट बांट देने की हर रणनीति

प्रसंगवश :सियासत का दौलत से हुआ रिश्ता और तिजारत में बदल गई राजनीति-कृष्ण किसलय (समूह संपादक, सोनमाटी) पांच साल के

Read more

बिहार विधानसभा चुनाव : अगड़े-पिछड़े के बाद अब दलित का सवाल/ मंडलवाद के बाद बंटा बिहारी समाज/ लोकतंत्र बनाम बाहुबल/ द्रोह-काल के पथिक

-0 प्रसंगवश 0-बिहार विधानसभा चुनाव : अगड़े-पिछड़े के बाद अब दलित का सवाल–कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) बिहार में हो रहे

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) : संभावना की सियासी जंग में चिराग की चुनौती

-0 प्रसंगवश 0-संभावना की सियासी जंग में चिराग की चुनौती– कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) बिहार की 16वीं विधानसभा के लिए

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) बिहार विधानसभा चुनाव : गठजोड़ ही सफलता का सूत्र

-0 प्रसंगवश 0-बिहार विधानसभा चुनाव : गठजोड़ ही सफलता का सूत्र– कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटी) बिहार में राजनीतिक दलों के

Read more

(प्रसंगवश : कृष्ण किसलय) पृथ्वी के दुर्लभतम आदिवासियों पर कोरोना के डैने/ संकट में अतिथि प्रवासी पक्षी

-0 प्रसंगवश 0-पृथ्वी के दुर्लभतम आदिवासियों पर कोरोना ने फैलाए डरावने डैने-कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटीडाटकाम) सभ्य दुनिया की महामारियों से

Read more

(कृष्ण किसलय) अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की मंगल पर आदमी उतारने, बस्ती बसाने की योजना

-० प्रसंगवश ०-अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की मंगल पर आदमी उतारने, बस्ती बसाने की योजना– कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटीडाटकाम) लाल ग्रह मंगल

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) सुप्रीम कोर्ट ने सुरक्षित रखा है फैसला/ पुलिस मुख्यालय का निर्देश वापस

-0 प्रसंगवश 0-दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की शीर्ष अदालत ने सुरक्षित रखा है फैसला– कृष्ण किसलय (संपादक, सोनमाटीडाटकाम) सुप्रीम

Read more

सोनमाटी (प्रिंट) का नया अंक (विशेष) बाजार में

भारत में विश्वविश्रुत सोन नद तट के सबसे बड़े शहर डेहरी-आन-सोन (जिला रोहतास, बिहार राज्य) से प्रकाशित समाचार-विचार पत्रसोनमाटी(वर्ष 1979

Read more

(प्रसंगवश/कृष्ण किसलय) -0- सियासत : जारी है दबाव और दलबदल का खेल

-0 प्रसंगवश 0-सियासत : जारी है दबाव और दलबदल का खेल-कृष्ण किसलय (समूह संपादक, सोनमाटी) पांच विधायकों के दल-बदल से

Read more

प्रेमचंद स्मृति : ओ, साहित्य देवता…!

तेरे विश्वास का एहसास धरती से गगन तक है,तेरे अलफाज की आवाज पानी से पवन तक है।कलम के ओ सिपाही

Read more
Click to listen highlighted text!